भारत और इंग्लैंड के बीच 4 टेस्ट मैच खेले जा चुके है और Test में नंबर 2 बॉलर R Ashwin को अभी तक खेलने का मौका नहीं मिला हैं।

क्रिस ट्रेमलेट ने ट्वीट किया- बुमराह होने पर अश्विन की जरूरत किसे है. क्या गेंदबाज और अच्छा खेला भारत. इस बात से बवाल मचा हुआ है.

पोस्ट मैच प्रजेंटेशन के दौरान जब कोहली से कहा गया कि अश्विन को बेंच पर बैठाए रखने का उनका फैसला सही साबित हुआ. 

इस पर कोहली ने अपना रुख साफ किया. उन्होंने कहा, ‘हम कभी भी एनालिसिस, आंकड़ों या नंबर्स की तरफ नहीं जाते.

हम जानते हैं कि कहां ध्यान देना है और हम एक टीम के रूप में सामूहिक फैसला लेते हैं. इस पर जो भी शोरशराबा होता है उससे हमें फर्क नहीं पड़ता.

ओवल टेस्ट शुरू होने से पहले कहा जा रहा था कि यहां की धीमी पिच के हिसाब से अश्विन को मौका मिलना चाहिए. 

लेकिन टॉस के समय कोहली ने साफ कर दिया था कि वे चार तेज गेंदबाजों और एक स्पिनर के साथ उतरेंगे. उन्होंने बताया था कि बाएं हाथ के बल्लेबाजों के सामने जडेजा भी कारगर रहेंगे 

ओवल टेस्ट शुरू होने से पहले कहा जा रहा था कि यहां की धीमी पिच के हिसाब से अश्विन को मौका मिलना चाहिए. उन्होंने हसीब हमीद और मोईन अली के विकेट लिए.

लेकिन लगातार रफ में गेंदबाजी करने से गेंद जल्दी पुरानी हुई. इससे भारतीय गेंदबाजों को रिवर्स स्विंग हासिल करने में मदद मिली.

 कोहली ने जडेजा पर उनकी बैटिंग काबिलियत के चलते भी भरोसा जताया. हालांकि ओवल में बैटिंग में जडेजा कुछ खास नहीं कर सके लेकिन नॉटिंघम और लॉर्ड्स में उन्होंने अच्छा योगदान दिया था.

Stories

More

Click www.nayaindia.com