पांचवां टेस्ट टीम इंडिया के पहले दिन मैदान पर नहीं उतरने की वजह से रद्द कर दिया गया। इस सीरीज में भारत के पास 2-1 की बढ़त हासिल है।

इस सीरीज के शुरू होने से पहले ही इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि एंडरसन मैनचेस्टर टेस्ट के बाद संन्यास ले सकते हैं.

लेकिन अब इस अनुभवी पेसर ने इस सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है। उन्होंने कहा मुझे उम्मीद है कि मैं इंग्लैड के लिए एक और समर खेल सकता हूं।

इसका मतलब यह है कि मैं दिसंबर में एशेज सीरीज भी खेलूंगा। मैंने अपनी योजनाओं में वेस्टइंडीज के दौरे को भी शामिल कर रखा है।

इंग्लैंड ने अगले समर के लिए जो कार्यक्रम जारी किया है, उसमें उसे सबसे पहले न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है।

इसको लेकर एंडरसन ने कहा कि, 'न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में आराम करने और रिकवर करने के लिए काफी गैप है।

यह मेरे लिए मैनेज करना काफी आसान लगता है। बता दें कि भारत के खिलाफ इस टेस्ट सीरीज में एंडरसन ने शानदार गेंदबाजी की और 15 विकेट चटकाए।

उनको देखकर ऐसा लग ही नहीं रहा था कि वे 39 साल के हो चुके हैं। अभी भी वो पूरी सीरीज के दौरान शानदार कर रहें थे। 

कमाल की बात यह है कि इतनी उम्र होने के बावजूद भी एंडरसन की स्पीड में कोई कमी नहीं आई और अधिकतर मौकों पर भारतीय बल्लेबाजों को उनकी गेंदें खेलने में मशक्कत ही करनी पड़ी।

एंडरसन इस सीरीज में इंग्लैंड की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में सिर्फ ओली रोबिन्सन से ही पीछे रहे, जिन्होंने सीरीज में सर्वाधिक 21 विकेट चटकाए।  

Stories

More

Click www.nayaindia.com