कान्हा हमेशा हमारे दिलों में रहते हैं। कान्हा के प्रति हमारा प्रेम और भक्ति अंतहीन है। 

गहरी सांस लें, आंखें बंद करें, अपने लड्डू गोपाल, श्याम सलोना ललन, कान्हा को अपने दिल में देखें। 

आपको क्या लगता है कि आपका दिल हजारों सितारों की चमक से भर जाता है और कान्हा अपने होठों पर अपनी बांसुरी से मुस्कुराते हैं । 

इसमें शृंगार का सामान जैसे मुकुट, मालायें, बांसुरी, चौकी, सर्दियों में पहने जाने वाली कंबल जैसे अनेक अलग-अलग भगवान की शृंगार सामग्री। । 

महाशृंगार में आपको ऐसी सभी शृंगार सामग्री उपलब्ध हो सकती है। तो जल्द कीजिए और अपने अराध्य के लिए जन्माष्टमी पर शृंगार का सामान ले जाइए।

Stories

More

Click www.nayaindia.com