'सीक्रेट प्लान' हुआ आउट फिर आग उगलेगा विराट का बल्ला

टीम इंडिया ने विराट कोहली की कप्तानी में इतिहास रचते हुए साउथ अफ्रीका को सेंचुरियन में खेले गए पहले टेस्ट मैच में 113 रनों से मात दे दी. 

कप्तान के तौर पर भले ही विराट कोहली इस मैच में हिट साबित हुए हैं, लेकिन बल्लेबाज के तौर पर वह फ्लॉप रहे हैं. सेंचुरियन टेस्ट मैच की पहली पारी में विराट कोहली 35 रन और दूसरी पारी में 18 रन बनाए थे. 

सलमान बट ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि यह भारतीय टेस्ट कप्तान पर निर्भर है कि वह फिर से फॉर्म में आने के लिए कौन से तरीके का उपयोग करना चाहते हैं. 

कोहली के इस खराब दौर से बाहर निकलने के दो ही तरीके हैं. या तो वह कुछ समय के लिए ड्राइव को पूरी तरह से छोड़ दें और अन्य शॉट्स पर निर्भरता दिखाएं या वह अपने आक्रामक अंदाज से परेशानी को दूर करें.

अगर वह लंबी पारी खेलना चाहता है, तो उसे ऑफ स्टंप के बाहर गेंदों को ड्राइव न करने के लिए अतिरिक्त मेहनत करनी होगी. अगर वह ऐसा करने में कामयाब हो जाता है, तो चीजें फिर से फ्लो में हो सकती हैं.

इस जीत के साथ ही विराट कोहली भारत के इकलौते ऐसे कप्तान बन गए हैं, जिन्होंने साउथ अफ्रीका की जमीन पर दो टेस्ट मैच जीते हैं. इससे पहले किसी भी भारतीय कप्तान ने साउथ अफ्रीका की धरती पर 1 से ज्यादा टेस्ट मैच नहीं जीते थे. 

कोहली से पहले महेंद्र सिंह धोनी और राहुल द्रविड़ की कप्तानी में भारत ने साउथ अफ्रीका में 1-1 टेस्ट मैच जीते थे. यह सेंचुरियन में भारत की पहली टेस्ट जीत भी थी, अफ्रीका के लिए एक किला माना जाता है. 

इस साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गाबा और इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में यादगार जीत के बाद, टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका के गढ़ सेंचुरियन में जीत दर्ज कर इतिहास रच दिया. 

नई वेब स्टोरी के लिए यहाँ क्लिक करें

Open Hands

Thanks For  Watching