घर में सुख समृद्धि के लिए तुलसी-शालिग्राम विवाह में को चढ़ाए ये चीजें

Tulsi-Shaligram Vivah

PIC Credit- Pintrest

हिंदू धर्म में कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि को शालीग्राम और तुलसी माता के विवाह का आयोजन किया जाता है।

इस दिन विधि-विधान से भगवान विष्णु के शालीग्राम अवतार का माता तुलसी से विवाह कराने से सुख, सौभाग्य और समृद्धि का वरदान मिलता है।

हिंदू पंचांग के अनुसार, इस साल 5 नवंबर 2022 को शाम 5:35 बजे से लेकर शाम 7:12 बजे तक तुलसी विवाह का सबसे शुभ मुहूर्त है।

इस साल तुलसी विवाह के दिन रवि और हर्षण दो शुभ योग बन रहे हैं। इस योग में मांगलिक कार्य करना बेहद शुभ माना जाता है।

तुलसी विवाह के दिन विष्णु जी को गन्ना, मूली, कलश, नारियल, आंवला, बेर, शकरकंद, सिघाड़ा और अमरूद अर्पित करने से भगवान प्रसन्न होते हैं।

तुलसी माता को बिंदी, सिंदूर, साड़ी, लाल चुनरी, बिछिया जैसे सुहाग का सामान चढ़ाएं। इससे सुख-समृद्धि का आशीर्वाद मिलता है।

इस साल 4 नवंबर 2022 को देवउठनी एकादशी है। मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु 4 महीने की निद्रा के बाद उठते हैं।

देवउठनी एकादशी के अगले दिन तुलसी विवाह मनाया जाता है। मान्यता है कि तुलसी विवाह करने से भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी धन और ऐश्वर्य का वरदान देते हैं।

Open Hands

Thanks For  Watching

इसी तरह की नई वेब स्टोरी के लिए यहाँ क्लिक करें और जुड़े रहे नया इंडिया के साथ.