रोहित को कप्तान बनाने पर हुई विराट कोहली की मौज, ये बड़े फायदे

रोहित टी-20 टीम के कप्तान पहले ही घोषित किए जा चुके थे, लेकिन वनडे टीम की कप्तानी उन्हें अभी सौंपी गई है। कोहली ने टी-20 वर्ल्ड कप से पहले टी-20 कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया था।

कोहली को वनडे कप्तानी से हटा दिया गया, जबकि वो कप्तानी छोड़ना नहीं चाहते थे। विराट अब सिर्फ टेस्ट फॉर्मेट में ही भारत की अगुवाई करते नजर आएंगे।

ऐसा नहीं है कि बोर्ड के इस फैसले से विराट को नुकसान ही होगा। कई जगहें अब ऐसी हैं, जिसकी वजह से विराट को फायदा होगा।

सिर्फ एक फॉर्मेट में कप्तान बने रहने से विराट पर अतिरिक्त दवाब हटेगा। क्रिकेट में तीनों फॉर्मेट में कप्तानी करना मुश्किल कामों में से एक होता है। 

अब चूंकि, विराट एक ही फॉर्मेट की कप्तानी करेंगे तो वह अपनी बल्लेबाजी पर भी फोकस कर सकते हैं, जहां वह पिछले कुछ सालों से संघर्ष कर रहे हैं।

विराट के इंटरनेशनल करियर में पहली बार ऐसा मौका आया है, जब यह बल्लेबाज दो सालों से भी ज्यादा समय में एक भी सेंचुरी नहीं जड़ सका है।

एक इंटरनेशनल क्रिकेटर की लाइफ वैसे ही चुनौतियों से भरी रहती है और अब कोरोना वायरस और बायो बबल की वजह से इसमें और बढ़ोतरी हो गई है।

यही वजह है कि अब क्रिकेटर जल्दी शारीरिक और मानसिक थकान महसूस करते हैं और परिवार के संग ज्यादा समय नहीं बिता पाते हैं। 

सिर्फ एक फॉर्मेट में कप्तानी करने से निश्चित तौर पर विराट पहले से ज्यादा अपने परिवार को समय दे पाएंगे और आराम कर पाएंगे।

नई वेब स्टोरी के लिए यहाँ क्लिक करें

Open Hands

Thanks For  Watching