• डाउनलोड ऐप
Friday, May 14, 2021
No menu items!
spot_img

अजय सेतिया

अवैध तबलीगी इमारत का क्या हो?

क़ानून अपना काम करता दिखे तो उस की तारीफ़ की जानी चाहिए , लेकिन जहां दिखावा तो काम का हो और वास्तव में किया कुछ न जाए तो आक्रोश पनपना स्वाभाविक भी है | दिल्ली की इनेक बस्तियों...

कोरोना के बीच शर्मसार करती खबरें

यह खबर शर्मसार करने वाली है कि 22 मार्च को जिन डाक्टरों, नर्सों, पुलिसकर्मियों के सेवाभाव के लिए सारा देश तालियाँ बजा रहा था , उन्हीं के साथ कुछ लोग दुर्व्यवहार कर रहे हैं। आप अंदाज लगाईए कि...

पर्यटन वीजा दे कर सरकार का सोया रहना

जब से भारत के ग्यारह राज्यों में तबलीगी जमात के कारण बड़े पैमाने पर कोरोना वायरस फैलने की खबर आई है तब से तबलीगी जमात कौतुहल का विषय बन गई है। कांग्रेस के नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने...

तबलीगी मरकज की जांच जरूरी

केजरीवाल सरकार ने नरेंद्र मोदी के लाकआउट का बंटाधार कर दिया। पहले शाहीन बाग़ , फिर मजदूरों , कर्मचारियों का सामूहिक पलायन और अब निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के मरकज में 441 लोगों में कोरोना वायरस के लक्ष्ण...

लाकडाउन बाद की भगदड़ के लिए कौन जिम्मेदार?

देश भर में 21 दिन का लाकडाउन लागू होने के तीसरे दिन ही दिल्ली में अफरा तफरी मच गई। एक तरफ ऐसी अफवाहों का बाज़ार गर्म था कि लाकडाउन अवधि आगे भी बढ़ेगी तो दूसरी तरफ दिल्ली के...

कांग्रेस हो सकेगी कोरोना मुक्त?

नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च का जनता कर्फ्यू का जब आह्वान किया था तो सारा देश शाम 5 बजे इस संकट की घड़ी ने जनता की सेवा करने वालों का आभार करने के लिए तालियाँ, थालियाँ और घंटियां...

सांसदी-विधायकी से इस्तीफे की राजनीति

अप्रैल में रिटायर होने वाले 55 राज्यसभा सदस्यों में से15 भाजपा के और 13 कांग्रेस के हैं| दोनों को तीन-चार सीटों का नुक्सान होगा ,जबकि तृणमूल कांग्रेस और वाईआरएस कांग्रेस की सीटें बढ़ेंगी। कांग्रेस को असम, आंध्र ,तेलंगाना ,...

दादी की पार्टी में शामिल पोता

सिंधिया परिवार का राजनीतिक सफर 1957 में कांग्रेस से ही शुरू हुआ था, जब जवाहर लाल नेहरू ने ज्योतिरादित्य सिंधिया की दादी विजयाराजे सिंधिया को गुना-शिवपुरी से लोकसभा टिकट दिया था। नेहरू के जमाने में राजमाता 1957 और 1962...

दादागिरी वाली भाषा और सदन की गरिमा

लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने जो कहा, वह किया। उन्होंने सदन में कहा था कि अगर कोई भी सदस्य अपने बेंचों की सीमा लांघ कर सामने वाले पक्ष के बेंचों की ओर जाएगा तो वह उसे सत्र की शेष अवधि के लिए निलम्बित करेंगे।

खुद का भंडा फोड़ रही यूएनएचआरसी

यूएनएचआरसी यानी संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद या तो भारत के अपने वामपंथी मित्रों और उनके झोलाछाप गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) के बहुत ज्यादा प्रभाव में है या फिर पाकिस्तान के इशारे पर काम कर रही है। उसने भारत की...

Latest News

सत्य बोलो गत है!

‘राम नाम सत्य है’ के बाद वाली लाइन है ‘सत्य बोलो गत है’! भारत में राम से ज्यादा राम...