• डाउनलोड ऐप
Friday, May 14, 2021
No menu items!
spot_img

अजीत द्विवेदी

सत्य बोलो गत है!

‘राम नाम सत्य है’ के बाद वाली लाइन है ‘सत्य बोलो गत है’! भारत में राम से ज्यादा राम के नाम की महत्ता बताई जाती है फिर भी राम का नाम सत्य तभी माना जाता है, जब हिंदू लोग...

झूठे आंकड़ों से बढ़ेगा संकट

केंद्र और कई राज्यों की सरकारें समझ रही हैं कि वे बहुत होशियारी कर रही हैं, जो कोरोना संक्रमण और संक्रमण से होने वाली मौतों के आंकड़े कम दिखा रही हैं। अपनी इस होशियारी से सरकारें देश के करोड़ों...

वैक्सीनबंदी कर दी सरकार ने

यह नोटबंदी का ही एक अपेक्षाकृत छोटा और थोड़ा बदला हुआ रूप है। जिस तरह प्रधानमंत्री ने नोटबंदी की थी वैसे ही वैक्सीनबंदी कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस समय नोटबंदी की थी उस समय देश की...

जो कुछ नहीं करते कमाल करते हैं!

भारत सरकार इन दिनों सिर्फ कमाल ही कर रही है। चाहे देश की वैक्सीनेशन नीति बनाने वाले हों या सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार हों, देश की वित्त मंत्री हों या देश के कानूनी अधिकारी हों, सब अपने अपने...

शर्म और संवेदना दोनों खत्म!

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के दिवंगत नेता डीपी त्रिपाठी ने एक बार कहा था कि नेता होने के लिए दो अनिवार्य गुणों की जरूरत है- अकल्पनीय चापलूसी और असीमित बेशर्मी! पहला गुण नेता होने की निजी जरूरत है, लेकिन दूसरा...

अस्मिता की राजनीति कैसे करेगी भाजपा?

पश्चिम बंगाल के चुनाव नतीजों ने भारतीय जनता पार्टी की राजनीति की एक बड़ी फॉल्टलाइन जाहिर की है। यह फॉल्टलाइन भाजपा के साथ साथ राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ द्वारा पिछले कई दशकों से किए जा रहे प्रयासों की विफलता भी...

इलाज का प्रोटोकॉल बनाए सरकार

भारत में कोरोना वायरस की महामारी के खिलाफ जिस अंदाज में जंग लड़ी जा रही है वह दुनिया में सबसे अनोखी है। इस जंग की सबसे अनोखी बात यह है कि किसी को पता नहीं है इससे कैसे लड़ा...

धारणा के प्रबंधन की चिंता

कोरोना वायरस के संक्रमण और उससे भारत की लड़ाई की क्या हकीकत है? हकीकत यह है कि देश भर में हाहाकार मचा है। लोग सड़कों पर, गाड़ियों में, ऑटोरिक्शा में मर रहे हैं। ऑक्सीजन का सिलेंडर भरवाने के लिए...

कहां गलत हुई भाजपा की रणनीति?

पश्चिम बंगाल के चुनाव नतीजों के बाद सोशल मीडिया में एक मजाक की खूब चर्चा है कि तृणमूल कांग्रेस राज्य की सभी 292 सीटों पर चुनाव जीत गई, 214 सीटों पर उसके उम्मीदवार दो पत्तियों के निशान पर जीते...

कांग्रेस का घटता राजनीतिक स्पेस

शायद ही किसी को याद होगा कि 2014 के बाद से पिछले सात साल में राहुल गांधी कितनी बार मीडिया के सामने आकर अपनी हार कबूल कर चुके हैं। यह उनकी भलमनसाहत है और साहस भी है कि पार्टी...

Latest News

सत्य बोलो गत है!

‘राम नाम सत्य है’ के बाद वाली लाइन है ‘सत्य बोलो गत है’! भारत में राम से ज्यादा राम...