महानगर से गांवों तक मानवीय आपदा

कोरोना वायरस एक बीमारी है पर भारत में यह एक विशाल मानवीय आपदा में बदल गई…

गुजरातियों ने क्या पाप किया?

पता नहीं गुजरातियों को किन पापों का नतीजा भुगतना पड़ रहा है? भला गुजरातियों ने ऐसा…

वायरस और भूख का कुंआ

भारतीय रेलवे, रेलवे बोर्ड जब किराया लेकर लोगों को दो वक्त खाने के पैकेट नहीं बांट…

वायरस+मानवीय संकट= मौत का कुंआ

हां, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के लीगल ब्रेन तुषार मेहता व उन जैसी सोच…

ट्रेन से यात्रा भी मानवीय आपदा है

मजदूरों का पलायन या विस्थापन शुरू होने के दो महीने बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस बारे…

वायरस का असली रूप जून से

जून का अर्थ है मॉनसून। और मॉनसून पर यदि मुंबई-पुणे की पट्टी के दायरे में सोचें…

क्या हर्ड इम्युनिटी पर काम हो रहा?

भारत सरकार कोरोना वायरस से निपटने के लिए क्या हर्ड इम्युनिटी यानी सामूहिक रोगप्रतिरोधक क्षमता के…

केरल के मॉडल, पढ़े-लिखों को सलाम!

छह साल पहले देश में लोकसभा का चुनाव गुजरात मॉडल पर लड़ा गया था। लोग चाह…

पूरे देश में है कोरोना का फुटप्रिंट

भारत में अप्रैल के आखिरी हफ्ते तक माना जाने लगा था कि हमने वायरस पर काबू…

सुनो डब्ल्यूएचओ को

ऐसा फरवरी -मार्च में भी समझ आना था और अब भी संभलने का वक्त है। तब…

कोरोना के बाद क्या-क्या बदलेगा?

कोरोना वायरस की महामारी को लेकर गंभीर सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक विमर्श के साथ साथ कुछ…

वायरस से पहले घायल भारत!

25 मार्च से 15 मई के 52 दिनों में भारत में लोग इतना पैदल चले हैं,…