पूर्वाग्रह से उपजा ‘डर’ का माहौल

एक दिसंबर को मुंबई में उद्यमियों से संबंधित पुरस्कार समारोह का आयोजन हुआ। इस दौरान प्रसिद्ध…

उकता चुके देश का थका-हारा मुखिया

छह साल पहले नरेंद्र भाई मोदी ने भारतमाता की आंखों में एक ख़्वाब उंड़ेला था--अच्छे दिन…

कश्मीर पर बात से करें परहेज!

क्या‍ हम कश्मीर को कभी समझ सकते हैं? इससे भी बड़ी बात यह कि क्या हम…

नागरिकता रजिस्टर में हिन्दू, मुस्लिम पेंच

जब असम में नागरिकता पहचान की प्रक्रिया शुरू हुई तो देश भर में सवाल उठने लगा…

नागरिकता कानून बदलने की राजनीति

लगातार दूसरी बार चुनाव जीत कर ज्यादा बहुमत के साथ केंद्र सरकार में आने के बाद…

संकट में भारतीय रेल

भारतीय रेल की हालत खस्ता हो रही है। ऐसा हो रहा है या होने दिया जा…

जेल अब नियम क्यों है?

पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम को आखिरकार जमानत मिली। लेकिन उन्हें इतने लंबे समय तक…

हिन्दू और ईसाई ही क्यों शरणार्थी?

अगले हफ्ते का राजनीतिक विवाद नागरिकता बिल पर होगा। इस की शुरुआत लोकसभा में कांग्रेस के…

सख्त नहीं, जल्दी न्याय की जरूरत!

हैदराबाद की एक युवा पशु चिकित्सक की बलात्कार के बाद हत्या की नृशंस घटना पर पूरा…

गोटाबाया का चीन कार्ड

श्रीलंका के नए राष्ट्रपति भारत आए। यहां कई ऐसी बातें कहीं, जो हमें सुनने में अच्छी…

राजनीतिक नैतिकता की बेकद्री

नरेंद्र मोदी को आखिर किस तरह की राजनीतिक संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए याद रखा…

कोई कुछ भी कहे सरकार सुन नहीं रही!

समूचा उद्योग जगत, राजनीतिक बिरादरी, बौद्धिक वर्ग सब उद्वेलित हैं। कोई कह रहा है कि राहुल…