• दक्षिण के मुख्यमंत्रियों का दिल्ली में प्रदर्शन

    सात फरवरी को दिल्ली में कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमया का धरना-प्रदर्शन था और अगले दिन केरल के मुख्यमंत्री विजयन प्रदर्शन करते हुए थे। दोनों का तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन नेसमर्थन किया। दक्षिण के राज्यों का यह आरोप है कि केंद्र कीमोदी सरकार उनको उनके हक का पैसा नहीं दे रही है। केंद्रीय राजस्व से उनको नियमानुसार हिस्सा नहीं मिल रहा है। लेखक: के वी प्रसाद दिल्ली में पिछले सप्ताह एक अलग ही नजारा तब देखने के मिला जब लगातार दो दिनों तक राजधानी के जंतर मंतर पर, दक्षिण राज्यों के दो मु्यमंत्रियों ने अपने साथियों के संग प्रदर्शन...

  • Long sitting hours: चौंकाने वाली है WHO की ये रिपोर्ट, जल्दी मौत की वजह बन सकती है आपकी ये आदत

    Long sitting hours : जॉब करने वाले लोगों का अधिकतर समय ऑफिस में कुर्सी पर बैठे निकलता है. अधिकतर हम ऑफिस में 8 से 9 घंटे चेयर पर बैठकर बिताते हैं। इस पर ताइवाइन की एक कंपनी Jama Network Open ने एक Research पब्लिश किया है. (can you die from sitting too long) जिसमें समाने आया कि पूरे दिन या जो लोग अपना अधिकतर समय कुर्सी पर बैठकर बिताते हैं उनका 16 प्रतिशत मौत का खतरा अधिक है। और ये खतरा पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में अधिक है।  Jama Network Open ने यह Research ताइवान के करीब 4,81,688 लोगों पर...

  • Bihar Floor Test: बिहार में तेजी से बदल रहा नंबरगेम, शक्ति परीक्षण की घड़ी, क्या नीतीश कुमार के पक्ष में होगा नतीजा?

    Bihar Floor Test : पिछले कुछ समय से बिहार की राजनीति (Bihar politics) में एक नया शब्द ‘खेला’ ट्रेंड में हैं. बिहार की राजनीति में आज का दिन किसी भूकंप से कम साबित नहीं दिख रहा. आज बिहार विधानसभा में फ्लोर टेस्ट (Bihar Floor Test) होना है ऐसे में खबर है कि जदयू (JDU) के तीन विधायक मीटिंग में नहीं पहुंचे हैं. जबसे नीतिश कुमार (Nitish Kumar) ने महागठबंधन का साथ छोड़कर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) का दामन थामा है. तभी से बिहार में नंबरगेम की राजनीति शुरु हो गई है और ‘खेला’ शब्द...

  • Current affairs: भारत रत्न अवॉर्ड पाने वालों में दो पूर्व प्रधानमंत्री भी, हिंद महासागर संस्करण सम्मेलन में शामिल होगा भारत

    Current affairs of 10 February 2024।  भारत के इतिहास में 10 फरवरी का दिन खास है क्योंकि इस दिन कई ऐसी घटनाएं हुई थी जिन्होंने भारतीय इतिहास के पन्नों में एक अमिट छाप छोड़ दी। [caption id="attachment_446276" align="aligncenter" width="500"] History of the Day 10th February[/caption] 1-10 फरवरी 1952 (10 February History) का दिन भारतीय लोकतंत्र का एक ऐतिहासिक दिन था इस दिन आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू के नेतृत्व में कांग्रेस ने लोकसभा (Lok Sabha Elections) की 489 में से 249 सीटें जीतकर बहुमत हासिल किया। इन चुनावों को भारत में लोकतंत्र (Democracy) की स्थापना की...

  • Tauqeer Raza Khan protest: IMC चीफ तौकीर रजा का मुस्लिमों से आवाहन, Gyanvapi पर जेल भरो आंदोलन

    ज्ञानवापी (Gyanvapi Mosque Dispute) पर जिला अदालत का फैसला हिंदु पक्ष में आने से मुस्लिम समुदाय में नाराजगी थी। इसके बाद अब उत्तराखंड के हल्द्वानी (Haldwani) में नगर निगम द्वारा 8 फरवरी को एक अवैध मदरसा को ढहा दिया गया। इस घटना के बाद मामले ने तूल पकड़ लिया और अब इसके देशव्यापी होने का अंदेशा है। जैसा कि 5 दिन पहले इत्तेहाद-ए-मिल्लत काउंसिल (IMC) प्रमुख तौकीर रजा ने बयान दिया था कि इस देश में मस्जिदों को निशाना बनाया जा रहा है। "तौकीर रजा (Tauqeer Raza Khan) ने कहा ज्ञानवापी को हम नहीं छोड़ सकते। ज्ञानवापी मस्जिद है। बाबरी...

  • सबको शिक्षा, अच्छी शिक्षा

    जापान और अमेरिका जैसे विकसित देश शिक्षा पर अपने सकल घरेलू उत्पाद के छह प्रतिशत से ज्यादा खर्च कर रहे हैंI केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 31 जनवरी 2023 को संसद में आर्थिक समीक्षा 2022-23 को प्रस्तुत करते हुए बताया था कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का उद्देश्य 2030 तक समावेशी और समान गुणवत्ता वाली शिक्षा सुनिश्चित करना है और सभी के लिए आजीवन सीखते रहने के अवसरों को बढ़ावा देना हैI शिक्षा समाज का आधार होती हैI किसी भी राष्ट्र के विकास की संकल्पना को शिक्षा के बगैर पूरा नहीं किया जा सकता हैI राष्ट्र के सामाजिक, आर्थिक विकास में...

  • IND vs ENG: हैदराबाद टेस्ट के पहले दिन भारतीय स्पिनर्स ने तोड़ी इंग्लैंड की कमर

    India vs England: भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज़ का पहला मुकाबला हैदराबाद के राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेला जा रहा है। पिछले दो साल से टेस्ट में अटैकिंग क्रिकेट खेलने वाली इंग्लैंड टीम की टीम इंडिया (Team India) के स्पिनर्स ने कमर तोड़ दी। भारतीय गेंदबाज़ों ने पहले टेस्ट मैच के पहले ही दिन इंग्लैंड टीम (England Team) को 246 रनों पर ढेर कर दिया। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी इंग्लैंड टीम (England Team) की शुरुआत बेहद शानदार रही थी। जैक क्रॉली और बेन डकेट ने टीम को एक अच्छी शुरुआत दी थीं।...

  • वैदिकजी के संग का हर समय, हर प्रंसग लाजवाब होता था!

    वे मतभिन्नता को स्वतंत्र अभिव्यक्ति का महत्‍वपूर्ण अंग मानते थे और वाणी से इतने उदार थे कि दूसरों की दिल खोलकर प्रशंसा करते थे। वे नए ढंग और कलेवर से अपने दिल की गहराइयों से सराबोर बात रखने की कला में अत्यंत माहिर थे।...वे हिंदीवादी नहीं, बल्कि  हिंदी के साथ-साथ भारतीय भाषाओं के जीती-जागती लौ थे। भारतीय भाषाओं के विकास के लिए निरंतर आंदोलित रहे। वे उन लोगों से अलग थे, जो पदों की पहचान से जाने-पहचाने जाते हैं, बल्कि वे खुद की शख्सियत के रूप में रौशन करते गए और अपने-आप में एक संस्था की तरह जिए।...हरदिल अजीज, हंसमुख...

  • लोकतंत्र और निष्पक्षता पर घात लगाती ईवीएम

    भोपाल। लोकतंत्र में सबसे बड़ा उत्सव चुनावी उत्सव होता है। जब व्यक्ति अपने मत के अधिकारों का उपयोग अपनी मर्जी और स्वेच्छा से करता है। आजादी के बाद से देश में प्रजातंत्र को चलाने के लिए चुनावी प्रक्रिया शुरू हुई और देश में विभिन्न तरह के चुनाव जैसे पार्षद, विधायक, लोकसभा के चुनाव प्रारंभ हुए। जब चुनाव होते थे तो लोग एक उत्सव की तरह इन चुनावों में भाग लेते थे और साइकिल, घोड़ा गाड़ी, ऑटो रिक्शा में लाउडस्पीकर लगाकर लगाकर दिन-दिन भर माइक लेकर प्रचार करते थे। हाथी, घोड़ा, मशाल, गिलास, बाल्टी तो दीवारों पर बनते ही थे, भाजपा...

  • नर्गिस मोहम्मदी को सलाम

    मोहम्मदी अब तक 13 बार गिरफ्तार की जा चुकी हैं और पांच बार सजा भुगत चुकी हैं। उन्हें कुल मिलाकर अब तक 31 साल की सजा सुनाई जा चुकी है। इसके अतिरिक्त उन्हें 154 कोड़ों की सजा भी दी गई है। जेल में रहते हुए भी वे ईरान और दुनिया की समस्याओं पर अपने क्रांतिकारी विचार व्यक्त करती रहती हैं। वे जेल से ही कई अभियान चलाती रहतीं हैं। नर्गिस मोहम्मदी को इस वर्ष के नोबल शांति पुरस्कार के लिए चुना गया है। उन्हें यह सम्मान ईरान में महिलाओं के शोषण के विरूद्ध और उनके मानवाधिकारों के लिए सतत संघर्ष के लिए दिया जा रहा है।...

  • विद्यामंदिर का नेशनल एडमिशन टेस्ट 30 जुलाई को

    VMC NAT :- देहरादून देश का लीडिंग इंस्टीट्यूट और जेईई व नीट एग्जाम की तैयारी का हब विद्यामंदिर क्लासेज (वीएमसी) अपना फ्लैगशिप टेस्ट कराने के लिए तैयार है। एडमिशन और स्कॉलरशिप के लिए वीएमसी का नेशनल एडमिशन टेस्ट (एनएटी) इसी महीने 30 जुलाई को कराया जाएगा। ये टेस्ट ऑफलाइन व ऑनलाइन दोनों मोड में होगा। इस टेस्ट का मकसद मेधावी छात्रों को स्कॉलरशिप देना और उन्हें बेहतर स्टडी के लिए तैयार करना है। ये टेस्ट उन बच्चों के लिए बूस्टर होता है जो जेईई और नीट जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते हैं या करना चाहते हैं। ऐसे बच्चों को...

  • राज्यसभा की 11 सीटों पर निर्विरोध चुनाव

    नई दिल्ली। तीन राज्यों की 11 राज्यसभा सीटों पर चुनाव की नौबत नहीं आई है। जितनी सीटें खाली थीं उतने ही लोगों ने नामांकन दाखिल किया। इसलिए नाम वापस लेने का समय समाप्त होते ही सभी को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया गया। विदेश मंत्री एस जयशंकर और तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन सहित गुजरात, पश्चिम बंगाल और गोवा की 11 राज्यसभा सीटों पर सभी उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिए गए। तीन राज्यों की 11 राज्‍यसभा सीटों के लिए 24 जुलाई को मतदान होना था। लेकिन 17 जुलाई को नाम वापसी के आखिरी दिन सभी उम्मीदवारों के...

  • एचडीएफसी बैंक को पहली तिमाही में 12,370 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ

    HDFC Bank net profit :- निजी क्षेत्र के सबसे बड़े ऋणदाता एचडीएफसी बैंक का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में 29.13 प्रतिशत बढ़कर 12,370.38 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। इससे पिछले वित्त वर्ष यानी 2022-23 की पहली तिमाही में बैंक ने 9,579.11 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। पिछली जनवरी-मार्च की तिमाही में बैंक का शुद्ध लाभ 12,594.47 करोड़ रुपये रहा था। हाल ही में आवासीय वित्त क्षेत्र की अपनी मूल कंपनी एचडीएफसी का खुद में विलय करने वाले एचडीएफसी बैंक ने सोमवार को शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि समीक्षाधीन तिमाही में...

  • महज कथा-कहानियाँ नहीं हैं वैदिक आख्यान

    आवश्यक नहीं कि कोई कथा सत्य हो तभी महत्वपूर्ण होगी। काल्पनिक या प्रतीकात्मक कथा भी यदि‍जीवन मूल्यों व सत्य का बोध कराती है तो वह कालजयी व शाश्वत हो जाती है। वैदिक आख्‍यान इसी श्रेणी में आते हैं। यह आख्यान, मनुष्य और ईश्वर, प्रकृति, पशु-पक्षी, पहाड़-जंगल, देवी-देवताओं के बीच के सम्बन्धों की व्याख्या करते हैं और अंत में इस निष्कर्ष पर ले जाते हैं कि सभी में एक ही ब्रह्म की चेतना व्याप्त है। इसीलिए यह कालजयी हैं और सामान्य कथा-कहानियों से भिन्न हैं। बौद्धिक रूप से इन आख्यानों के गहरे अर्थ निकाले जा सकते हैं परंतु इनकी विशेषता यह...

  • नए संसद भवन उद्घाटन पर राजनीति तेजः राकांपा ने भी बनाई दूरी

    मुंबई। पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद पवार के नेतृत्व वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) 28 मई को राष्ट्रीय राजधानी में नए संसद भवन के उद्घाटन समारोह में शामिल नहीं होगी। पार्टी के एक प्रवक्ता ने बुधवार को यह जानकारी दी। प्रवक्ता ने कहा कि राकांपा ने अन्य विपक्षी दलों के साथ मिलकर यह फैसला लिया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) रविवार को नए संसद भवन (Parliament House) का उद्घाटन करेंगे। तृणमूल कांग्रेस, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) और आम आदमी पार्टी (आप) ने मंगलवार को घोषणा की थी कि वे 28 मई को नए संसद भवन के उद्घाटन समारोह में हिस्सा...

  • “तप और बल के पर्याय थे निष्काम कर्मयोगी भगवान परशुराम”

    भगवान परशुराम प्राक्ट्योत्सव अक्षय तृतीया पर विशेष: “भगवान परशुराम के संबंध में एक गलत भ्रांति फैलाई गईं कि वे एक वर्ग विशेष के विरोधी थे, लेकिन यह सत्य से परे हैं। उन्होंने भगवान विष्णु के अवतार के रूप में अहंकारी और अत्याचारियों का सर्वनाश किया।” डॉ. राकेश मिश्र तप, त्याग और सनातन संस्कृति की धरती भारत की भूमि पर ईश्वर ने कई बार मानव रूप में अवतरित होकर संसार को बहुत कुछ दिखा और सिखा दिया। जगत के पालनहार भगवान विष्णु भी दस बार मनुज रुप में अवतार लेकर अपने विविध रूपों से धरती को अवगत करा गये। जब-जब अधर्म...

  • क्षत्रपों के लिए शिखंडी राजनीति अब मुश्किल!

    देश में विचारधारा से कहीं अलग दो नैरेटिव बन चुका है- मोदी समर्थन और दूसरा मोदी विरोधी। जो मोदी विरोधी मतदाता है वे भी इस स्थिति में पहुंच चुके हैं कि जो पार्टियां इस मुद्दे पर चुप रहेंगी, खुल कर सामने नहीं आएगी, उन्हें वे मोदी का समर्थक ही मानेगी। मतलब या तो आप इस तरफ हो या फिर उस तरफ। इसलिए किसी ना किसी वजह से जो विपक्षी पार्टियां इस विरोध में कांग्रेस से अलग खड़ी थी उन्हें मजबूरन सबके साथ आना पड़ा। प्रदीप श्रीवास्तव पिछले सोमवार को ससंद परिसर में विपक्षी पार्टियों की जो एकता देखने को मिली...

  • लाडली बहना मुस्कुराए, कांग्रेस बनी रुदाली: राकेश शर्मा

    भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लाखों बहनों के जीवन में खुशहाली और चेहरे पर मुस्कुराहट ला दी है । लाडली बहना योजना लाकर कहीं ना कहीं लाखों बहनों को एक हजार रुपए महीना, साल में ₹12000 प्राप्त होंगे। बहनों का जीवन स्तर उठाने के लिए यह अनूठा प्रयास शिवराज सिंह चौहान ने किया, उसकी साक्षी बनी लाखों बहनें, जो भोपाल के जंबूरी मैदान में उपस्थित थीं।जो खुशी उमंग और उत्साह बहनों के चेहरे पर नजर आ रहा था वह देखते ही बनता था ।कहीं ना कहीं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की इस पहल...

  • पहले दुःखी इंसान की मदद हो: स्वामी विवेकानंद

    देखो, कैसे अचम्भे की बात उन्होंने बतलायी! कहा कि मनुष्य अपने कर्मफल से मरता है, उस पर दया करने से क्या होगा? हमारे देश के पतन का अनुमान इसी बात से किया जा सकता है। तुम्हारे हिन्दू धर्म का कर्मवाद कहां जाकर पहुंचा? जिस मनुष्य का मनुष्य के लिए जी नहीं दुखता वह अपने को मनुष्य कैसे कहता है?” स्वामी विवेकानंद जयंती (12 जनवरी) यहां हम गौरक्षा एवं इंसान की रक्षा के बारे में स्वामी विवेकानंद के विचार प्रकाशित कर रहे हैं। उनके विचारों को हमने रामकृष्ण मठ, नागपुर द्वारा प्रकाशित पुस्तक ‘विवेकानंदजी के संग में’’ से लिया है। इस...

  • तीर्थ और पर्यटन स्थल का फर्क समझे सरकार

    20 तीर्थंकरों ने सम्मेद शिखर में मोक्ष प्राप्त किया है। जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर भगवान पार्श्वनाथ ने भी इसी तीर्थ में कठोर तप और ध्यान द्वारा मोक्ष प्राप्त किया था। अत: भगवान पार्श्वनाथ की टोंक इस शिखर पर स्थित है। इसे पर्यटन स्थल बनाने की जिद सरकार क्यों कर रही है, यह समझ से परे है।सम्मेद शिखर जैन धर्म को मानने वालों का एक प्रमुख तीर्थ स्थान है। यह जैन तीर्थों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है।।।।झारखंड प्राकृतिक पर्यटन की संभावना से भरा हुआ प्रदेश है। उन्हें विकसित करने की बजाय जैन समाज के सबसे पवित्र तीर्थ को पर्यटक स्थल...

और लोड करें