उत्तराखंड में कैबिनेट की अहम बैठक

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) की अध्यक्षता में शुक्रवार शाम कैबिनेट (cabinet) की अहम बैठक होगी। इस बैठक में प्रदेश में चल रहे पेपर लीक विवाद मामले के बीच सरकार समूह ग की भर्ती परीक्षाओं को लेकर अहम फैसला ले सकती है। शाम साढ़े चार बजे सचिवालय में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक होगी। इसमें समूह ‘ग’ की भर्ती परीक्षाओं का प्रस्ताव आ सकता है। इस बारे में मुख्यमंत्री धामी पहले ही बता चुके हैं कि, सरकार अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की अटकी हुई करीब आठ भर्ती परीक्षाओं को उत्तराखंड लोक सेवा आयोग (Uttarakhand Public Service Commission) व अन्य भर्ती संस्थाओं से करा सकती है। इसके साथ ही कैबिनेट के समक्ष भू-कानून पर समिति की सिफारिशों को रखा जा सकता है। वहीं, निर्यात को बढ़ावा देने के लिए लॉजिस्टिक पॉलिसी और उत्पादों के जीआई टैग के लिए बोर्ड के गठन का प्रस्ताव भी कैबिनेट बैठक में रखे जाने की संभावना है। बैठक समाप्ति के तुरंत बाद सचिवालय मीडिया सेंटर में ब्रीफिंग होगी।  

निजीकरण की अंधी गली में भटक न जाए भारत!

बंदरगाहों, हवाईअड्डों, कोयला खनन, सीमेंट, हरित ऊर्जा, भंडारण आदि क्षेत्रों में अडानी समूह ने देश-विदेश में विस्तार किया है, जिस पर 2.2 लाख करोड़ से अधिक का कर्ज है।

टैक्स के मकड़जाल में छटपटाता आमजन

सरकार वेतन पर तो अच्छा खासा आयकर लेती ही है, मकान किराया भत्ता (एचआरए), परिवहन भत्ता आदि जो कर्मी को भुगतान करने होते हैं, उन पर भी आयकर लेती है।

ताइवान चीन के लिए एक चुनौती

विश्व राजनीति- अमेरिका का रूख बदला है। मई में अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन रुख को सख्त करते नजर आए।

निर्वस्त्र होने की आज़ादी

रणवीर सिंह ने पेपर मैगजीन के लिए न्यूड फोटो शूट क्या किया कि मुंबई में उन पर केस ही दर्ज हो गया।

अब अखिल भारतीय फ़िल्में

अगर कल को बॉलीवुड की पारंपरिक सोच वाली दो-तीन फिल्में हिट हो गईं तो क्या यह कॉम्बीनेशन फिर बिखरने लगेगा और ये निर्माता फिर उसी ढर्रे पर लौट आएंगे?

शम्मा जलाए रखना, जब तक कि मैं ना आऊं

भूपिंदर के पार्थिव शरीर के गिर्द खड़े लोगों ने इस मौके पर उनके और भी गीत गाए होंगे। उनमें शायद ‘एक अकेला इस शहर में’ भी रहा होगा जो भूपिंदर को अपने गाए गीतों में सबसे ज्यादा प्रिय था।

फ़िल्मों के बायकॉट की राजनीति

कहा जा रहा है कि इसकी लेखिका कनिका ढिल्लों ने हिंदू संस्कृति को लेकर कुछ ऐसा कहा है जो लोगों को नागवार गुजरा।

रणवीर पीछे, कार्तिक आगे

निर्माता साजिद नडियाडवाला की एक आने वाली फिल्म में कार्तिक आर्यन को मौका मिलने जा रहा है जिसे कबीर खान निर्देशन देंगे।

सत्ता परिवर्तन तो हुए पर व्यवस्था नहीं बदली

भारत आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा है। इस दौर में पं. जवाहर लाल नेहरु से नरेंद्र मोदी तक देश ने 15 प्रधानमंत्रियों का कार्यकाल देखा है।

आदिवासी राष्ट्रपति से क्या आदिवासियों का कल्याण होगा?

कुछ दिन पूर्व संसद भवन में एनडीए सांसदों से बातचीत करते हुए द्रौपदी मुर्मु ने कहा था कि मुझे राष्ट्रपति पद के लिए निर्वाचित करने से देश के करोड़ों आदिवासियों को प्रसन्नता हुई है।

“हम बाल ठाकरे के सैनिक हैं”:

शिंदे साहब ने कभी नहीं कहा कि वह पार्टी छोड़ रहे हैं। पहले दिन सब लोग थोड़ा चौंक गए थे। लेकिन अब हम जानते हैं, वह पार्टी के साथ ही रहेंगे… हम उनका साथ देंगे।”

विरोध करें पर हिंसा नहीं

केंद्र सरकार की सैन्य बलों में भर्ती की नयी योजना ‘अग्निपथ’ के खिलाफ देश भर में विरोध-प्रदर्शन हुआ है।  युवाओं में इस योजना को लेकर काफ़ी आक्रोश है।

पर उपदेश कुशल बहुतेरे। जे आचरहिं ते नर न घनेरे।।

जग्गी वासुदेव जैसे उपदेश देने वाले धर्मगुरु स्वयं आदर्शों का पालन करने लग जाए तो उन्हें उपदेश देने की ज़रूरत नहीं होगी लोग उनके आचरण का पालन स्वयं ही करने लग जाएँगे।

साथी संस्मरण होते जा रहे हैं…!

सचमुच विघ्न-विपदाओं में एक के बाद एक साथी संस्मरण होते जा रहे हैं।अनन्त के खोल में समाते जा रहे हैं। अब हम जनसत्ताई में से एक और कम हो गया।

और लोड करें