देश का मूड क्या बदल रहा?

शशांक राय:  मनमोहन सिंह के दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के दो साल के बाद देश का…

धरना सेकुलर तो विरोध से ध्रुवीकरण कैसे?

शाहीन बाग़ के धरने से हिन्दू विरोधी सेकुलर जमात बहुत गदगद थी। इस जमात का वह…

मोदी के सब्र से नही बना जलियांवाला

पिछले दिनों कपिल सिब्बल ने बहुत पते की बात कही। उन्होंने कहा कि राज्य सरकारें नागरिकता…

संविधान और डॉ. अंबेदकर पर मिथ्याचार क्यों?

स्वामी विवेकानन्द ने हिन्दू की पहचान ही बताई थी: ‘सत्य का निष्कपट पुजारी’। यह महज सौ…

लव-जिहाद कितना सच और कितना फसाना?

गत दिनों कैथोलिक बिशप की सर्वोच्च संस्था ‘द सायनॉड ऑफ साइरो-मालाबार चर्च’ ने केरल में योजनाबद्ध…

सीएए के नरम प्रतिरोध की राजनीति

शशांक राय – संशोधित नागरिकता कानून, सीएए पर देश बंटा हुआ है। इससे पहले संभवतः कभी…

फिल्मी कलाकारों कैसे ऐसे-ऐसे?

आपको अनुराग कश्यप, विशाल भारद्वाज, नंदिता दास, अपर्णा सेन, सिद्धार्थ मल्होत्रा, परिणिति चोपड़ा, स्वरा भास्कर, राकेश…

स्पीकर के बहाने बड़े सवाल पर विचार!

पिछले तीन महीने में विधानसभा अध्यक्ष की शक्तियों को लेकर सुप्रीम कोर्ट के दो फैसले आए…

बगावत है या नीतीश का खेल?

लखनऊ में हुए अमित शाह के भाषण ने बहुतेरों की नींद उड़ा दी है। उन्होंने दो…

भाजपा को मिला कुशल संगठनकर्ता

जगत प्रकाश नड्डा भाजपा के अध्यक्ष हो गए , पिछले छह महीने से उनके पद के…

अमेजन के मॉडल पर नजर रखना जरूरी

तन्मय कुमार-  दुनिया की सबसे बड़ी ई–कॉमर्स कंपनी अमेजन के मालिक जेफ बेजोस का इस बार…

यह किसका देश है?

हिन्दूवादियों को गुमान है कि अब हिन्दू जग गए हैं। किन्तु ‘जग जाने’ का मतलब क्या…