कपिल सिब्बल ने कहा – नहीं है चुना हुआ अध्यक्ष, फिर कौन ले रहा है फैसले CWC की होनी चाहिए बैठक…

कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने इस संबंध में प्रेस वार्ता का आयोजन किया. कपिल सिब्बल ने एक बार फिर से कांग्रेस अध्यक्ष पद को…

विपक्ष की नहीं सिब्बल की सर्वदलीय बैठक

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने सोमवार को अपने घर पर रात्रि भोज का आयोजन किया था। मंगलवार को पूरे दिन संसद में और संसद से बाहर भी इस भोज की चर्चा होती रही।

कहां से राज्यसभा में जाएंगे सिब्बल?

कपिल सिब्बल की सक्रियता और विपक्षी नेताओं से मेलजोल का एक तात्कालिक कारण यह है कि अगले साल राज्यसभा का उनका कार्यकाल पूरा हो रहा है। वे अगले साल पांच जुलाई को रिटायर होंगे।

जी-23 के नेता अब आलाकमान के साथ

राज्यसभा सांसद और सुप्रीम कोर्ट के वकील कपिल सिब्बल के रात्रिभोज में कांग्रेस के कई बड़े नेता शामिल हुए, जिसकी व्याख्या इस अंदाज में की जा रही है कि कांग्रेस अध्यक्ष को पिछले साल चिट्ठी भेजने वाले कांग्रेस के जी-23 समूह के नेताओं की यह बैठक थी

सिब्बल ने जल्दी चुनाव की मांग की

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी में चल रही सियासी उथलपुथल थमने का नाम ले रही है। उत्तर प्रदेश के पार्टी नेता जितिन प्रसाद के भाजपा में जाने के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कई सुझाव दिए हैं। जितिन प्रसाद के पार्टी छोड़ने के बाद सिब्बल ने कहा था कि उनके साथ ऐसा मरने के बाद ही होगा। उसके बाद उन्होंने रविवार को कांग्रेस के मौजूदा संकट से उबारने के लिए कुछ सुझाव दिए हैं। सिब्बल ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को दिए इंटरव्यू में कहा कि कांग्रेस में दोबारा उभार देश की जरूरत है। इसके लिए पार्टी को भी यह दिखाने की जरूरत है कि वह सक्रिय है और सार्थक रूप से जुड़ना चाहती है। सिब्बल ने रविवार को पार्टी को सुझाव देते हुए कहा कि पार्टी संगठन के चुनाव जल्दी कराए जाने चाहिए। केंद्र और राज्यों के स्तर पर बड़े सुधारों की जरूरत है, ताकि हम यह दिखा सकें कि पार्टी अब जड़ता की स्थिति में नहीं है। उन्होंने कहा- देश में राजनीतिक विकल्प का अभाव है। इसलिए इस समय एक मजबूत और भरोसेमंद विपक्ष जरूरी है। कांग्रेस में अनुभव और युवाओं के बीच संतुलन बनाने की तुरंत जरूरत है। गौरतलब है कि सिब्बल कांग्रेस नेताओं के जी-23… Continue reading सिब्बल ने जल्दी चुनाव की मांग की

कांग्रेस की सीटें बढ़ सकती

अगले साल राज्य के दोवार्षिक चुनावों में कांग्रेस को तीन या चार सीटों का फायदा हो सकता है। अभी उच्च सदन में कांग्रेस की सीटें घट कर 34 रह गई हैं। अगले साल के दोवार्षिक चुनाव में कांग्रेस को फायदा इसलिए होगा क्योंकि तीन साल पहले तीन राज्यों में उसका चुनावी प्रदर्शन सुधरा था। राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ तीनों राज्यों में उसे सीटों का फायदा होगा। अकेले राजस्थान में उसे तीन सीटों का फायदा हो रहा है। मध्य प्रदेश में स्थिति जस की तस रहेगी और छत्तीसगढ़ में उसे एक सीट का फायदा होगा। महाराष्ट्र में नफा-नुकसान कुछ नहीं होगा। हो सकता है कि सहयोगी पार्टियां राजी हों तो झारखंड और बिहार में उसे एक-एक सीट का फायदा हो सकता है। यह भी पढ़ें: राज्यसभा में घटेगी भाजपा की सीट! हरियाणा में दो सीटें खाली हो रही हैं, जिनमें से एक सीट भाजपा की और दूसरी भाजपा समर्थित सुभाष चंद्रा की हैं। इनमें से एक सीट कांग्रेस पार्टी को मिलेगी। पंजाब में अगले साल सभी सात सीटों के चुनाव होंगे। पांच सीटें अप्रैल में खाली हो रही हैं और दो जुलाई में। इन सात में से कांग्रेस के पास तीन सीटें हैं, जो बढ़ कर पांच हो सकती हैं।… Continue reading कांग्रेस की सीटें बढ़ सकती

Corona पर कांग्रेस और भाजपा के बीच जुबानी जंग, Kapil Sibal बोले- आलोचना का नहीं, एक साथ खड़े होने का समय

नई दिल्ली | कोरोना महामारी से निपटने को लेकर कांग्रेस और भाजपा (Congress and BJP) के बीच जुबानी जंग छिड़ने के बाद, कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने आज कहा कि ये समय साथ खड़े होने का है,आलोचना करने का नहीं। सिब्बल ने एक ट्वीट में कहा, “स्टैंड टुगेदर इंडिया, यह साथ खड़े होने का समय है, ना कि आलोचना करने का जब हम इस लड़ाई को जीत लेंगे, उसके बाद पता लगा लेंगे की कौन सही है और कौन गलत। कोरोना महामारी (Corona epidemic) को लेकर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और विपक्षी दलों की सलाह ना मानने के लिए कांग्रेस पार्टी सरकार पर लगातार हमले कर रही है। कांग्रेस (Congress) ने मंगलवार को भाजपा (BJP पर घमंडी होने का आरोप लगाया। इसके तुरंत बाद भाजपा (BJP) अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने अंतरिम पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को पत्र लिखकर कहा कि मुद्दों को उठाना और महामारी पर सरकार को सुझाव देना विपक्षी दलों का कर्तव्य है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को अंतरिम रूप से भेजे पत्र में, नड्डा ने उनकी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि महामारी के खिलाफ लड़ाई में, कांग्रेस के पूर्व प्रमुख राहुल गांधी सहित कांग्रेस के शीर्ष नेताओं… Continue reading Corona पर कांग्रेस और भाजपा के बीच जुबानी जंग, Kapil Sibal बोले- आलोचना का नहीं, एक साथ खड़े होने का समय

कांग्रेस में सीडब्लुसी की तैयारी

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सांसदों के साथ शुक्रवार को वर्चुअल बैठक की, जिसमें उन्होंने कहा कि जल्दी ही कांग्रेस कार्य समिति की बैठक होगी, जिसमें पांच राज्यों के चुनाव नतीजों की समीक्षा की जाएगी। हालांकि इस समीक्षा से पहले ही उन्होंने बता दिया कि नतीजे कांग्रेस के लिए बहुत निराशाजनक और अप्रत्याशित थे। सो, जाहिर है कि कार्य समिति की बैठक में यही कहा जाएगा। इसके अलावा भी कुछ कारण हैं, जो कांग्रेस के नेताओं ने तलाश लिए हैं, जिनको हार के लिए जिम्मेदार ठहराया जाएगा। सोनिया गांधी की बुलाई कार्य समिति की बैठक 10 मई को होगी और उससे पहले दोनों तरफ तैयारियां शुरू हो गई हैं। कांग्रेस में परिवार के प्रति प्रतिबद्ध और राहुल गांधी के करीबी नेता चुनाव नतीजों की समीक्षा कर रहे हैं और वे हार के कारणों की सूची बना रहे हैं। दूसरी ओर कांग्रेस के बागी नेताओं के समूह में भी तैयारी चल रही है और उधर भी हार के कारणों की सूची बनाई जा रही है। सो, यह माना जा रहा है कि इस बार कार्य समिति की बैठक में गरमा गरम बहस होगी क्योंकि बागी नेताओं के समूह से जो भी इस बैठक में शामिल होगा वह नेतृत्व पर… Continue reading कांग्रेस में सीडब्लुसी की तैयारी

Congress leader कपिल सिब्बल ने कहा, पश्चिम बंगाल में अहंकार, धन बल और विभाजनकारी एजेंडे की हुई हार

नई दिल्ली | कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) में तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) की प्रचंड जीत की सराहना करते हुए आज को कहा कि अहंकार, धन बल और विभाजनकारी एजेंडे की हार हुई है। सिब्बल ने ट्वीट किया, ‘पश्चिम बंगाल (West Bengal) में अहंकार, ताकत, धन बल, राजनीति के लिए जय श्रीराम के इस्तेमाल, विभाजनकारी एजेंडे और निर्वाचन आयोग की हार हुई है। सिब्बल ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Chief Minister Mamata Banerjee) की तारीफ करते हुए कहा कि इनके सामने वह खड़ी हुईं और जीतीं। इसे भी पढ़ें – IPL 2021 में कोरोना की आहट… आज होने वाला KKR और RCB का मैच स्थगित! निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध ताजा आंकड़ों के अनुसार, पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) 210 सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी है और तीन पर आगे है, जबकि भाजपा ( BJP) ने 77 सीटें जीती हैं। राज्य में 292 सीटों पर चुनाव हुआ था। इसे भी पढ़ें – Whatsapp के ये नए फीचर लोगों को करेंगे रोमांचित, जानें क्या मिलेंगी सुविधाएं

कांग्रेस के असंतुष्टों की बड़ी तैयारी

असली परीक्षा केरल और असम में हैं। इसमें पुड्डुचेरी को भी शामिल किया जा सकता है क्योंकि वहां कांग्रेस की पांच साल तक सरकार चली है।

कांग्रेसी असंतुष्टों का जी-23 अब जी-7!

कांग्रेस पार्टी के 23 नेताओं ने पिछले साल अगस्त में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी थी और पार्टी के कामकाज पर सवाल उठाए थे। इन नेताओं ने पार्टी के हर पद के लिए चुनाव कराने की भी मांग की थी।

राहुल के इकबाल को बागियों की चुनौती

जम्मू कश्मीर के लोग उस समय हंस रहे थे जब कपिल सिब्बल वहां कह रहे थे कि गुलामनबी आजाद के अनुभव का उपयोग नहीं हो रहा! लोग कह रहे थे कि अभी दो हफ्ते भी पूरे नहीं हुए और इतनी जल्दी बेरोजगारी कसकने लगी।

भगवा पगड़ी पहने ये कांग्रेस नेता!

कांग्रेस पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व में वैसे तो ज्यादातर नेता अनुकंपा वाले ही हैं पर उनमें भी ग्रेड वन के अनुकंपा वाले कुछ नेता शनिवार को जम्मू में जमा हुए थे।

कांग्रेस सुधरे तो देश सुधरे

पांच राज्यों में चुनाव की घोषणा और कांग्रेस के बागी नेताओं के नए तेवर कांग्रेस पार्टी के लिए नई चुनौतियां पैदा कर रहे हैं।

कांग्रेस के असंतुष्टों ने दिखाएं तैंवर

कांग्रेस आलाकमान से नाराज नेताओं ने शनिवार को जम्मू में शक्ति प्रदर्शन किया। इन असंतुष्ट नेताओं ने अपने शक्ति प्रदर्शन को शांति सम्मेलन का नाम दिया।

और लोड करें