दिशा पटानी खुद को इस तरह रखती हैं मीठे से दूर

फिटनेस फ्रीक दिशा पटानी ने खुलासा किया है कि उन्हें चीनी बहुत पसंद है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि एक स्नैक को लेने के बाद मीठे के प्रति उनकी तलब खत्म हो जाती है।

चीन विकसित देश नहीं है : वांग यी

बीजिंग। चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने हाल में ब्रसेल्स में आयोजित यूरोपीय थिंक टैंक की मीडिया की बैठक में कहा कि चीन विकसित देश नहीं है। चीन अभी भी विकासशील देश है। उन्होंने कहा कि हालांकि इधर के वर्षो में चीन का आर्थिक विकास तेज रहा, फिर भी चीन अब भी विकासशील देश है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 2018 के सितंबर में कहा कि चीन ने विकासशील देश के नकली कपड़े पहनकर भारी लाभ हासिल किया। ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मोरिसन ने भी चीन को नवोदित विकसित आर्थिक समुदाय बताया और विश्व से चीन के नये स्थान को मान्यता देने की मांग की। वांग यी ने कहा कि विश्व बैंक के आंकड़े बताते हैं कि 2018 में चीन में औसत व्यक्ति की जीडीपी करीब 9700 यूएस डॉलर रही, जो अमेरिका के लगभग 16.7 प्रतिशत और यूरोपीय संघ के 25 प्रतिशत है और विश्व के औसत स्तर से नीची रही है। इसे भी पढ़ें : इजराइल ने खुद पर हुए रॉकेट हमले के बाद गाजा पर बम बरसाए यूएन विकास कार्यक्रम द्वारा पेश की गयी एचडीआई से भी जाहिर है कि 2017 में चीन में मानव जाति का विकास सूचकांक सिर्फ 0.752 है, जो दुनिया के 86वें स्थान पर रहा।… Continue reading चीन विकसित देश नहीं है : वांग यी

चीनी में आई तेजी से भारत के लिए खुले निर्यात के दरवाजे

नई दिल्ली। चीनी का वैश्विक भंडार कम होने से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में बीते तीन महीने में सफेद चीनी के दाम में 15 फीसदी से ज्यादा की वृद्धि हुई है, जिसके बाद भारत के लिए चीनी निर्यात का द्वार खुल गया है और निर्यात के नए सौदे भी होने लगे हैं। भारत इस समय सफेद चीनी का निर्यात कर रहा है, लेकिन आने वाले दिनों में नए सीजन में गन्ने की पेराई शुरू होने पर कच्ची चीनी का भी निर्यात करेगा। उद्योग संगठनों से मिली जानकारी के अनुसार, एक अक्टूबर से शुरू हुए नए शुगर सीजन में अब तक तकरीबन दो लाख टन सफेद चीनी के निर्यात के सौदे हो चुके हैं। ये सौदे करीब 320-330 डॉलर प्रति टन के भाव (एफओबी) पर हुए हैं। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सफेद चीनी का भाव बीते तीन महीने में करीब 45 डॉलर प्रति टन यानी 15.25 फीसदी बढ़ा है। इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज यानी आईस्ई पर 16 जुलाई को लंदन शुगर का वायदा भाव 295 डॉलर प्रति टन था, जबकि बीते सत्र में शुक्रवार को 339.90 डॉलर प्रति टन पर बंद हुआ।एक आकलन के तौर पर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भारतीय मिलों को 340 डॉलर प्रति टन का भाव अगर मिला और भारत की करेंसी का मूल्य… Continue reading चीनी में आई तेजी से भारत के लिए खुले निर्यात के दरवाजे

और लोड करें