आलिया ने शुरू की फिल्म ‘आरआरआर’ की शूटिंग

एस.एस. राजामौली की बहुचर्चित पैन इंडिया फिल्म ‘आरआरआर’ से अभिनेत्री आलिया भट्ट तेलुगू के साथ दक्षिण भारत की फिल्मी दुनिया में पदार्पण करने जा रही हैं।

खुशबू का भाजपा में शामिल होना

आज कल फिल्म अभिनेताओं- निर्माताओं का राजनीति में आना बहुत आम बात हो गई है। मगर एक समय था जब गिने चुने ही अभिनेता राजनीति में आते थे या उन्हें राजनीतिक दल चुनाव लड़ने का मौका दिया करते थे। फिर तो अमिताभ बच्चन से लेकर धर्मेद्र और हेमामालिनी व वैजयंती माला तक राजनीति में आई और फिर राजनीति में हमारे फिल्म अभिनेता हावी होने लगे।

कांग्रेस की महिला नेताओं की राजनीति

कांग्रेस पार्टी की नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता खुशबू सुंदर ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा देने के तुरंत बाद भाजपा ज्वाइन कर ली और कहा कि कांग्रेस में अनेक बड़े नेता हैं, जिनको जमीनी हकीकत नहीं पता है।

भाजपा में शामिल हुईं खुशबू सुंदर

तमिल, तेलुगू और मलयालम की 200 फिल्मों में काम करने वाली दक्षिण भारत की मशहूर अभिनेत्री खुशबू सुंदर ने आज भाजपा का दामन थाम लिया।

दक्षिण भारत की पहली किसान रेल का शुभारंभ

दक्षिण भारत की पहली किसान रेल का शुभारंभ आज आन्ध्र प्रदेश के अनंतपुर और दिल्ली के आदर्श नगर के बीच शुरु हो गया ।

कभी मुख्यमंत्री पद की ख्वाहिश नहीं रही: रजनीकांत

फिल्मों से राजनीति में आए दक्षिण भारत के सुपरस्टार रजनीकांत ने आज कहा कि उन्होंने कभी मुख्यमंत्री पद की ख्वाहिश नहीं रखी। उन्होंने कहा, वर्ष 1996 में जब मैं 45 साल का था,

बॉलीवुड में भी खास पहचान बनायी असिन ने

असिन को एक ऐसी अभिनेत्री के रूप में शुमार किया जाता है जिन्होंने न सिर्फ दक्षिण भारत बल्कि बॉलीवुड में भी अपने अभिनय से दर्शको को मंत्रमुग्ध किया। छब्बीस अक्टूबर 1985 को केरल के कोच्चि में जन्मी असिन ने अपने करियर की शुरूआत विज्ञापन फिल्मों से की। असिन ने बतौर अभिनेत्री अपने करियर की शुरूआत… Continue reading बॉलीवुड में भी खास पहचान बनायी असिन ने

दक्षिण भारत में भी अब फलेगी बिहार की ‘शाही लीची’

मुजफ्फरपुर। बिहार के लोग अगर दक्षिण भारत में रह रहे हैं और वे बिहार की शाही लीची को ‘मिस’ कर रहे हैं तो अब उन्हें चिंता करने की जरूरत नहीं है। वे वहां रहकर भी अब शाही लीची का स्वाद चख सकेंगे। मजेदार बात है कि बिहार में लीची का स्वाद लोग आमतौर पर गरमी… Continue reading दक्षिण भारत में भी अब फलेगी बिहार की ‘शाही लीची’