चुनाव उ.प्र में ’उमा’ की म. प्र में चुनौती

उमा भारती  ने लंबी चुप्पी तोड़ते हुए  प्रेस कॉन्फ्रेंस  बुलाकर संक्रांति के बाद मध्य प्रदेश में अपनी संभावित बढ़ती सक्रियता का स्पष्ट संदेश दिया गया है

सोनोवाल और मुरुगन को राज्यसभा की टिकट

भारतीय जनता पार्टी ने असम और मध्यप्रदेश की राज्यसभा की दो सीटों के उपचुनावों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। पार्टी ने सात जुलाई को सरकार में शामिल किए गए दो केंद्रीय मंत्रियों को उम्मीदवार बनाय

समीकरणों को साधने सक्रिय भाजपा

प्रदेश में पार्टी के पक्ष में सकारात्मक वातावरण बनाने के लिए भाजपा चौतरफा प्रयास कर रही है।

राम के नाम से मोक्ष और वोट दोनों

भारत राम केवल आस्था का ही नहीं बल्कि सियासत का केंद्र है भी है क्योंकि राम की आराधना से मोक्ष मिलता है और राम के नाम से नेताओ को वोट देश की सियासत में मध्य प्रदेश में एक बार फिर राम के नाम की चर्चा है

डरावना होता डेंगू का डंक और अनलाक होते स्कूल

प्रदेश में एक तरफ जहां कोरोना के मरीज दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे है तो दूसरी ओर महानगरों में डेंगू तेजी से पैर पसार रहा हैI

बलात्कारी को सजा से बचाने के लिए IAS दोस्त ने किया फोन ! जानें क्या है मामला

एक रेप में फंसे एक व्यक्ति के दोस्त ने उसे बचाने के लिए ऐसी खुराफत की. दोस्न ने खुद को एक IAS अफसर बताया. फोन पर उसने खुद को शख्स….

सास को लगता था की बहू ने काला जादू कर बेटे को कर लिया है वश में, फिर ढोंगी बाबा संग मिलकर ली ‘अग्नि परीक्षा’

यहां रहने वाली सास को लगातार शक था कि उसकी बहू टोना टोटका करती है. सास को शक था कि उसकी बहू ने टोना टोटका कर उसके बेटे को अपने वश में कर लिया है….

15 लाख के नोटों से हुआ महादेव का श्रृंगार, सोशल मीडिया में वायरल हो रही हैं तस्वीरें …

हिंदू धर्म में सावन का अपना ही महत्व है. इस महीने को सनातन धर्म में विश्वास रखने वाले लोग सबसे पवित्र महीने के रूप में मानते हैं. देश के विभिन्न राज्यों में अलग-अलग तरीके से भगवान शिव की पूजा की जाती

राजस्थान, मध्य प्रदेश में बारिश, बाढ़ का कहर

देश के दो राज्यों राजस्थान और मध्य प्रदेश में भारी बारिश और बाढ़ की वजह से बड़ी तबाही मची है। राजस्थान में कोटा और बारां को छोड़ कर तेज बारिश का सिलसिला थम गया है

मध्यप्रदेश का यह शिवलिंग हर साल करीब 1 इंच बड़ा हो रहा है, साथ ही पृथ्वी के अंत का समय भी बताता है..

यह शिवलिंग प्रत्येक साल करीब 1 इंच बड़ा हो जाता है। इसकी एक खास बात यह भी है कि यह शिवलिंग जितना धरती के ऊपर नजर आता है, यह उतना ही धरती के अंदर भी समाया हुआ है।  स्‍थानीय लोगों की मान्‍यता है कि जिस दिन धरती के अंदर का शिवलिंग पाताल लोक तक पहुंच जाएगा, उस दिन पृथ्वी का अंत हो जाएगा।

मध्यप्रदेश : विधानसभा का मॉनसून सत्र शुरू होने से पहले सचिवालय ने तैयार की असंसदीय शब्दों की सूची..पप्पू, फेंकू, बंटाधार, चोर, झूठा, मूर्ख पर लगाया बैन

मध्यप्रदेश की विधानसभा में अब तहजीब वाले शब्दों का प्रयोग किया जाएगा अब माननीय विधायक कुछ भी नहीं बोल सकेंगे। मध्यप्रदेश की विधानसभा के सचिवालय ने एक बड़ा निर्णय लिया है। मध्यप्रदेश में विधानसभा का मॉनसून सत्र के शुरुआत से पहले ही सचिवालय ने माननीय सांसदों के मुंह पर ताला लगाने की सोच ली है। और इसकी पूरी तैयारी भी कर ली है। ( new dictionary of mp secretariat ) सचिवालय द्वारा माननीयों के लिए  एक डिक्शनरी  तैयार की गई है। इस डिक्शनरी में सम्मिलित शब्दों का उपयोग अब विधायकगण नहीं कर सकेंगे। पप्पू, फेंकू, बंटाधार, चोर, झूठा, मूर्ख जैसे शब्द अब माननीय विधायक सदन में नहीं बोल सकेंगे। संविधान के भी कुछ नियम कायदे है। विधानसभा में कोई भी असहज शब्दों का प्रयोग ना करें इसलिए सचिवालय ने नियम निकाला है। also  read: टोक्यो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने जा रहे दिल्ली के चार हीरो, मिशन एक्सीलेंस का हिस्सा रह चुके ये खिलाड़ी इन शब्दों के उपयोग पर लगाए लगाम ( new dictionary of mp secretariat ) नौ अगस्त से मध्यप्रदेश में विधानसभा का मानसून सत्र शुरू होने जा रहा है। इससे पहले असंसदीय शब्दों की सूची माननीय विधायकों को दे दी जाएगी। सचिवालय ने ऐसे कुछ शब्द तैयार… Continue reading मध्यप्रदेश : विधानसभा का मॉनसून सत्र शुरू होने से पहले सचिवालय ने तैयार की असंसदीय शब्दों की सूची..पप्पू, फेंकू, बंटाधार, चोर, झूठा, मूर्ख पर लगाया बैन

कई राज्यों में नेता बेलगाम

chief ministers bjp ruled states: ऐसा नहीं है कि भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री ही मनमानी कर रहे हैं या उन्हीं के आगे पार्टी नेतृत्व को दबना पड़ रहा है। जहां सरकार नहीं है वहां भी नेता बेलगाम हैं और जो मन में आ रहा है, कर रहे हैं। पश्चिम बंगाल में भाजपा नेतृत्व ने शुभेंदु अधिकारी को आगे किया है। तृणमूल कांग्रेस छोड़ कर छह-आठ महीने पहले भाजपा में शामिल हुए शुभेंदु अधिकारी को प्रदेश भाजपा के नेता स्वीकार करने को तैयार नहीं हैं। प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष भी उनको पसंद नहीं कर रहे हैं और यही कारण है कि दिलीप घोष से बंगाल से बाहर निकाल कर दिल्ली लाने की चर्चा चल रही है। भाजपा नेतृत्व के कथित आइरन ग्रिप की असली हकीकत बंगाल में दिख रही है, जहां उसके तमाम प्रयासों के बावजूद थोक के भाव पार्टी छोड़ कर नेता तृणमूल कांग्रेस की ओर भाग रहे हैं। यह भी पढ़ें: खरीद-फरोख्त दोनों में घोटाले के आरोप राजस्थान में प्रधानमंत्री का नाम ही काफी बताया जा रहा है चुनाव जीतने के लिए लेकिन असल में इस तरह की बयानबाजी का मतलब पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को हाशिए में डालना है। परंतु हकीकत यह है कि अब भी पार्टी… Continue reading कई राज्यों में नेता बेलगाम

मध्यप्रदेशः ग्रामीणों की कोरोना वैक्सीनेशन के लिए अनोखी पहल, लोगों को जागरूक करने के लिए बांटे जा रहे पीले चावल और निमंत्रण पत्र

भोपाल। कोरोना वैक्सीन को लेकर गांवों में अभी भ्रांतियां फैली है। गांवों में कोरोना वैक्सीन को लेकर अफवाहें फैलाई गई है। अगर कोई स्वास्थ्य विभाग की टीम गांवों में वैक्सीन लगवाने जाता है तो लोग भयभीत होकर या तो उन्हें भगा देते है या घर का दरवाजा बंद कर लेते है। लेकिन मध्यप्रदेश के इस गांव ने कोरोना वैक्सीन के लेकर जागरूकता की मिसाल कायम की है। लोगों को जागरूक करने का प्रयास भोपाल की 4 पंचायतों के 13 गांवों में शुरू हुआ है। यहां ग्रामीणों ने तय किया है कि जो भी गांव का व्यक्ति कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाएगा, उसके पूरे परिवार का बहिष्कार किया जाएगा। गांव वालों का कहना है कि यदि किसी गांव वाले ने वैक्सीनेशन नहीं करवाया तो उसका राशन बंद कर दिया जाएगा पूरे गांव में उस परिवार का बहिष्कार किया जाएगा। also read: Accident में गंभीर घायल हुए मशहूर एक्टर की मौत, परिवार ने लिया अंगदान का फैसला टीका लगवाने से बच्चे पैदा नहीं होते- ग्रामीण महिलाएं वैक्सीन के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर करने का जिम्मा गांव वालों उठाया है। रातीबड़, सरवर, सिकंदराबाद, मुंडला, पंचायतों के गांवों में ग्रामीणों ने कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर जागरूकता अभियान की पहल की है। सरवर ग्राम पंचायत के… Continue reading मध्यप्रदेशः ग्रामीणों की कोरोना वैक्सीनेशन के लिए अनोखी पहल, लोगों को जागरूक करने के लिए बांटे जा रहे पीले चावल और निमंत्रण पत्र

कांग्रेस की सीटें बढ़ सकती

अगले साल राज्य के दोवार्षिक चुनावों में कांग्रेस को तीन या चार सीटों का फायदा हो सकता है। अभी उच्च सदन में कांग्रेस की सीटें घट कर 34 रह गई हैं। अगले साल के दोवार्षिक चुनाव में कांग्रेस को फायदा इसलिए होगा क्योंकि तीन साल पहले तीन राज्यों में उसका चुनावी प्रदर्शन सुधरा था। राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ तीनों राज्यों में उसे सीटों का फायदा होगा। अकेले राजस्थान में उसे तीन सीटों का फायदा हो रहा है। मध्य प्रदेश में स्थिति जस की तस रहेगी और छत्तीसगढ़ में उसे एक सीट का फायदा होगा। महाराष्ट्र में नफा-नुकसान कुछ नहीं होगा। हो सकता है कि सहयोगी पार्टियां राजी हों तो झारखंड और बिहार में उसे एक-एक सीट का फायदा हो सकता है। यह भी पढ़ें: राज्यसभा में घटेगी भाजपा की सीट! हरियाणा में दो सीटें खाली हो रही हैं, जिनमें से एक सीट भाजपा की और दूसरी भाजपा समर्थित सुभाष चंद्रा की हैं। इनमें से एक सीट कांग्रेस पार्टी को मिलेगी। पंजाब में अगले साल सभी सात सीटों के चुनाव होंगे। पांच सीटें अप्रैल में खाली हो रही हैं और दो जुलाई में। इन सात में से कांग्रेस के पास तीन सीटें हैं, जो बढ़ कर पांच हो सकती हैं।… Continue reading कांग्रेस की सीटें बढ़ सकती

ना वैक्सीन ना मास्क..बीमारी से बचने के लिए लोगों ने थामा परियों का हाथ

मध्यप्रदेश : भारते में कोरोना के मामलों में गिरावट आने लगी है। जिसका एक कारण यह भी है कि भारत में कोरोना वैक्सीनेशन बड़ी संख्या में हो रहा है। लेकिन लोग अफवाहों शिकार ज्यादा हो रहे है। लोगों को मास्क, सैनेटाइज़र, कोरोना वैक्सीन पर यकीन नहीं है बल्कि किसी परियों पर यकीन है। घटना मध्यप्रदेश की बताई जा रही है। मध्यप्रदेश के राजगढ़ में किसी ने यह अफवाह फैला दी कि गांव में कोई देवपरियां आई जो कोरोना का खात्मा कर देगी। इसकी जगह अगर स्वास्थय विभाग की टीम लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाने आती तो लोग उन पर डंडे बरसाते या अपने घरों में छुपे रहते। लेकिन देवपरियों का नाम सुनते ही लोग अपने घरों से ऐसे निकले कोरोना है ही नहीं अब बिना मास्क घूम सकते है। देवपरियों को देखने जाते वक्त लोगों के मुंह पर ना मास्क था और ना ही सामाजिक दूरी। क्या थी अफवाह यह घटना मध्‍य प्रदेश के राजगढ़ के चाटूखेड़ा गांव में फैली। वहां लोगों को बताया गया कि दो महिलाओं के शरीर के अंदर देवपरियां आ गई हैं। इन परियों के हाथों से जो भी अपने पर पानी छिड़कवाएगा, उसे कोरोना नहीं होगा। इस अफवाह के फैलते ही लोग अपने-अपने घरों से… Continue reading ना वैक्सीन ना मास्क..बीमारी से बचने के लिए लोगों ने थामा परियों का हाथ

और लोड करें