अफगान के लिए भारत की बड़ी पहल, मौत के मंजर के बीच अफगानियों के लिए शुरू की इमरजेंसी ऑनलाइन वीजा सेवा

भारत सरकार ने आपात स्थिति के दौरान तत्‍काल वीजा (Visa) देने के लिए ऑनलाइन आवेदन के लिए नई श्रेणी बनाई है। इसका नाम ई इमरजेंसी एक्‍स मिस्‍क वीजा (E Emergency X Misc Visa) रखा गया है।

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का देश के नाम संबोधन, जानें क्या कहा?

नई दिल्ली | भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) ने शनिवार को 75वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र को संबोधित किया। राष्ट्रपति ने इस दौरान भारतीय सेनानियों को नमन करते कहा कि कई पीढ़ियों के ज्ञात और अज्ञात स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्ष से हमारी आज़ादी का सपना साकार हुआ था। राष्ट्रपति ने देश की जनता को बधाई देते हुए कहा ‘मैं यह मंगलकामना करता हूं कि हमारे सभी देशवासी कोविड महामारी (Covid 19 Pandemic) के प्रकोप से मुक्त हों तथा सुख और समृद्धि के मार्ग पर आगे बढ़ें। ये भी पढ़ें :- UP में BJP MLA के काफिले पर हमला, ईटें, पत्थर और कीचड़ फेंका, इलाके में तनाव का माहौल कोरोना योद्धाओं की तारीफ राष्ट्रपति ने कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के खिलाफ जंग लड़ रहे योद्धाओं की भी प्रशंसा की और कहा कि डॉक्टरों, नर्सों, स्वास्थ्य कर्मियों सहित सभी कोरोना योद्धाओं के योगदान और मेहनत से ही कोरोना की दूसरी लहर पर काबू पाया जा रहा है। ये भी पढ़ें :- 4 महीने तक ‘NO प्रग्नेंट’, Zika Virus को रोकने के लिए सरकार ने निकाला अनोखा उपाय, Free बांटे जा रहे है Condoms टोक्यो ओलंपिक खिलाड़ियों की प्रशंसा देश के राष्ट्रपति (President Ram Nath Kovind) ने टोक्यो… Continue reading स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का देश के नाम संबोधन, जानें क्या कहा?

बकरीद आज: राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत कई बड़े नेताओं ने दी ईद-उल-अजहा की मुबारकबात

जामा मस्जिद के शाही इमाम अब्दुल गफूर शाह बुखारी ने भी लोगों से अपील की है कि सभी लोग नमाज अपने घरों में कोरोना नियमों का पालन करते हुए अदा करें।

राष्ट्रपति और दलित वोट

President ram nath kovind अपने गांव गए थे। कहने को तो यह उनकी नॉस्टेलजिया वाली यात्रा थी, लेकिन असल में इसका राजनीतिक इस्तेमाल ज्यादा हुआ है। चार साल पहले राष्ट्रपति बने रामनाथ कोविंड को ऐन उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले अपने गांव की याद आना भी महज इत्तेफाक नहीं लग रहा है। तभी राष्ट्रपति की इस यात्रा का पूरा राजनीतिक इस्तेमाल किया गया। यह अलग बात है कि इससे भाजपा की राजनीति कितनी सधेगी, इसका पता चुनाव के बाद ही लगेगा। यह भी पढ़ें: कोश्यारी को स्पीकर नियुक्ति की चिंता! राष्ट्रपति की यात्रा से राजनीति साधने का पहला संकेत इसी बात से मिलता है कि वे ट्रेन से यात्रा पर गए। राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की यात्राओं के लिए खासतौर से साढ़े आठ हजार करोड़  रुपए का विमान खरीदा गया है। लेकिन उसकी बजाय राष्ट्रपति ने ट्रेन से यात्रा की। उनकी विशेष महाराजा ट्रेन जहां से जहां गुजरी वहां इसकी चर्चा हुई। फिर कानपुर से वायु सेना के हेलीकॉप्टर से राष्ट्रपति अपने गांव पहुंचे तो वहां उन्होंने उतरते ही गांव की मिट्टी को छूकर नमन किया और कहा कि उन्होंने कभी सोचा नहीं था कि गांव का उनके जैसा व्यक्ति राष्ट्रपति पद पर पहुंचेगा। यह एक तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र… Continue reading राष्ट्रपति और दलित वोट

किसी ने राष्ट्रपति से अपील नहीं की

आमतौर पर किसी भी संकट की स्थिति में राजनीतिक दल राष्ट्रपति से अपील करते हैं। जब उनको लगता है कि सरकार विफल हो रही है या सरकार समस्या को सुलझाने के लिए प्रयास नहीं कर रही है तो पार्टियां राष्ट्रपति से अपील करती हैं। लेकिन अभी इतने बड़े संकट में कोई भी पार्टी राष्ट्रपति से अपील नहीं कर रही है। आखिरी बार केंद्रीय कृषि कानूनों और किसानों के आंदोलन को लेकर विपक्षी पार्टियों ने राष्ट्रपति से दखल देने की अपील की थी। उसके बाद से कोई पहल नहीं की गई है। यहां तक कि विपक्षी पार्टियां अब सीधे प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिख रही हैं। पहले आमतौर पर चिट्ठी राष्ट्रपति को लिखी जाती थी। लेकिन पिछले कुछ दिनों में यह देखने को मिला है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, राज्यसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और 12 पार्टियों के नेताओं ने साझा चिट्ठी प्रधानमंत्री को लिखी है। राज्यों के मुख्यमंत्री भी कोरोना संकट के बीच चिट्ठी प्रधानमंत्री को ही लिख रहे हैं। यह अलग बात है कि इन चिट्ठियों का जवाब प्रधानमंत्री नहीं देते हैं। किसी की चिट्ठी का जवाब हर्षवर्धन देते हैं तो किसी का जवाब निर्मला सीतारमण देती हैं तो किसी का जवाब जेपी… Continue reading किसी ने राष्ट्रपति से अपील नहीं की

जिनफिंग ने मोदी को दिया मदद का प्रस्ताव

बीजिंग। चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग ने भारत को मदद का प्रस्ताव दिया है। राष्ट्रपति ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक संदेश भेज कर भारत में कोरोना वायरस महामारी पर संवेदना जताई और देश में कोविड-19 मामलों की बढ़ोतरी से निपटने के लिए समर्थन और सहायता देने की पेशकश की। समाचार एजेंसी शिन्हुआ की खबर के मुताबिक राष्ट्रपति शी ने भारत में कोविड-19 महामारी पर प्रधानमंत्री मोदी को संवेदना संदेश भेजा। राष्‍ट्रपति जिनफिंग ने अपने संदेश में कहा कि चीन भारत के साथ महामारी से जंग में सहयोग मजबूत करने और देश को समर्थन और सहायता प्रदान करने के लिए तैयार है। इससे पहले चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने गुरुवार को वादा किया था कि कोविड-19 के खिलाफ जंग में उनका देश भारत की हरसंभव मदद करेगा और कहा कि चीन में बनी चिकित्सा सामग्री ज्यादा तेज गति से भारत पहुंचाई जा रही है। विदेश मंत्री एस जयशंकर को लिखे पत्र में वांग ने कहा था- भारत जिन चुनौतियों का सामना कर रहा है, उनके प्रति चीनी पक्ष, संवेदना रखता है और गहरी सहानुभूति प्रकट करता है। भारत में चीन के राजदूत सुन वेइदोंग ने इस पत्र को ट्विटर पर साझा किया, जिसमें लिखा है- कोरोना… Continue reading जिनफिंग ने मोदी को दिया मदद का प्रस्ताव

विनत राष्ट्रपति और संप्रभु प्रधानमंत्री का देश

रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति बने आज 1365 दिन हो गए हैं और न जाने क्यों मेरे मन में यह सवाल उठ रहा है कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी इस बीच कितनी बार अपनी सरकार के कामकाज की जानकारी देने के लिए उन से मिलने गए हैं? नियम हो-न-हो, यह प्रथा हमेशा रही है कि सरकार के अहम फ़ैसलों और कामकाज की जानकारी देने के लिए प्रधानमंत्री एक नियमित अंतराल के बीच राष्ट्रपति के पास जाते हैं। विदेश यात्राओं से लौटने के बाद भी प्रधानमंत्री अपने दौरे में हुई बातचीत का ब्यौरा देने राष्ट्रपति से मिलने जाते हैं। राष्ट्रपति को सूचना-सामयिक बनाए रखने की परंपरा है। क्या नरेंद्र भाई यह परंपरा निभा रहे हैं? अगर मैं ग़लत नहीं हूं तो पिछले नौ महीने से तो वे इस तरह की किसी आचारिक-मुलाकात के लिए राष्ट्रपति के पास गए नहीं हैं। प्रधानमंत्री की राष्ट्रपति से पिछली प्रथागत भेंट पिछले साल 5 जुलाई को हुई थी। उसके बीस दिन पहले, 15 जून को, चीनी सरहद पर तक़रीबन दो दर्जन भारतीय जवान शहीद हो गए थे। इस पर देश भर में मचे शोर के बीच सेना का मनोबल ऊंचा बनाए रखने के मक़सद से नरेंद्र भाई ने 3 जुलाई को लेह जा कर सैनिकों… Continue reading विनत राष्ट्रपति और संप्रभु प्रधानमंत्री का देश

तंजानिया में 45 की मौत, दिवंगत ‘बुलडोजर’ राष्ट्रपति को देखने आए थे राष्ट्रपति, भगदड़ मची और मारी गई जनता

दार एस सलाम | तंजानिया में दिवंगत राष्ट्रपति जॉन मागुफुली की शोक सभा के दौरान भगदड़ मच गई, जिसमें 45 लोगों की मौत हो गई है। तंजानिया की आर्थिक राजधानी डार एस सलाम में एक स्टेडियम में यह कार्यक्रम किया जा रहा था। सिन्हुआ न्यूज एजेंसी ने सिटीजन अखबार की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा है कि शोक व्यक्त करने के लिए स्टेडियम में 21 मार्च को बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे और इसी दौरान भगदड़ मच गई जिसमें 45 लोगों की मौत के साथ ही 37 लोग घायल भी हो गए थे। लगभग 12-13 दिन पहले अंतिम सांस लेने वाले राष्ट्रपति मागुफुली का निकनेम बुलडोजर था। उन्‍हें ये नाम उनकी नीतियों की वजह से मिला था। उप राष्ट्रपति सामिया सुलुहू हासन को वहां का राष्ट्रपति बना दिया गया। हासन तंजानिया की पहली महिला राष्ट्रपति है। अपने राष्ट्रपति के दिवंगत शरीर को अंतिम बार देखने और शोक प्रकट करने के लिए एकत्र हुए थे। दार एस सलाम स्पेशल पुलिस जोन कमांडर, लाजारो मेम्बोसासा ने बयान में कहा, ये लोग अपराधी नहीं थे, वे अपने दिवंगत नेता के लिए प्यार का इजहार करने के लिए स्टेडियम गए थे। लेकिन, संख्या बहुत बड़ी थी। कुछ लोग उतावले हो गए… Continue reading तंजानिया में 45 की मौत, दिवंगत ‘बुलडोजर’ राष्ट्रपति को देखने आए थे राष्ट्रपति, भगदड़ मची और मारी गई जनता

Corona in Pakistan : राष्ट्रपति आरिफ अल्वी और रक्षा मंत्री परवेज खट्टक भी कोरोना संक्रमित, प्रधानमंत्री इमरान खान पहले से Covid Positive

इस्लामाबाद । चीन से आई वैक्सीन शायन चीनी सामानों की तरह ही नकली है। तभी तो पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी और रक्षा मंत्री परवेज खट्टक भी कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं। इससे पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी कोविड संक्रमण का शिकार हो चुके हैं। इनके द्वारा चीन से आई वैक्सीन लगवाई जा चुकी थी। बदहाली से जूझ रहे पाकिस्तान ने अब वित्त मंत्री को हटाने का फैसला भी किया है। राष्ट्रपति अल्वी ने ट्वीट किया है कि वे संक्रमित पाए गए हैं और उनकी पत्नी श्रीमती समीना अल्वी पॉजिटिव नहीं पाई गई हैं। 71 वर्षीय अल्वी ने बीमारी की तिथि से संबंधित जानकारी नहीं दी है। इसी तरह सिंध के गवर्नर इमरान इस्माइल ने ट्वीट किया कि 71 वर्षीय रक्षा मंत्री परवेज खट्टक भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। आपको बता दें कि पाकिस्तान कोरोना वायरस की तीसरी लहर की चपेट में है। सरकार ने मामलों में लगातार वृद्धि और टीकों की कम आपूर्ति के साथ, 5 अप्रैल से सामाजिक समारोहों पर नए प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। साथ ही आंशिक लॉकडाउन भी पाकिस्तान में चल रहा है। आपको बता दें कि चीन से वैक्सीन लगवाने के कुछ समय बाद 68 वर्षीय प्रधान मंत्री इमरान खान 20… Continue reading Corona in Pakistan : राष्ट्रपति आरिफ अल्वी और रक्षा मंत्री परवेज खट्टक भी कोरोना संक्रमित, प्रधानमंत्री इमरान खान पहले से Covid Positive

कोविंद का आज से तीन दिवसीय पूर्वाचल दौरा

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज से तीन दिनों तक पूर्वाचल में रहेंगे। आज वह वाराणसी पहुंचेंगे और काशी विश्वनाथ मंदिर में सपरिवार दर्शन-पूजन करने के बाद गंगा आरती में भाग लेंगे।

रामनाथ कोविंद अपने दो दिवसीय प्रवास पर मध्यप्रदेश के जबलपुर पहुंचे

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मध्यप्रदेश के दो दिवसीय प्रवास पर आज सुबह जबलपुर पहुंचे, जहां डुमना विमानतल पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अगवानी की।

अमेरिका वापस आ गया है!

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने दो रोज पहले अपनी विदेश नीति के बारे में पहला भाषण दिया। इससे साफ संकेत मिला कि बाइडेन के कार्यकाल में पिछले प्रशासन की तुलना में कई चीजें बदलेंगी।

कांग्रेस ने 26 जनवरी हिंसा मामले में न्यायायिक जांच की मांग की

कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने राज्यसभा में आज राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलते हुए कहा कि वह एक काला दिन था जब कृषि कानून पारित किए गए क्योंकि सदन की कार्यवाही सुचारु रूप से नहीं चल रही थी।

विपक्षी दलों ने आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों को श्रद्धांजलि दी

तृणमूल कांग्रेस ने आज संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बहस में भाग लिया और जारी आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों को श्रद्धांजलि के रूप में कुछ देर का मौन रखा।

राष्ट्रपति के अभिभाषण के बीच कांग्रेस सांसद का हंगामा

विपक्षी दलों के बहिष्कार के बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के संसद के केंद्रीय कक्ष में संयुक्त सदन को संबोधित करने के दौरान आज कांग्रेस के लाेकसभा सदस्य रवनीत सिंह बिट्टू ने हंगामा किया और कृषि संबंधी तीनों कानून वापस लेने की मांग की।

और लोड करें