kishori-yojna
ट्रंप की बलि के बकरे

डोनल्ड ट्रंप की धमकियां कभी कोरी नहीं होतीं। अगर वे किसी को धमकाते हैं तो जल्द ही उस पर अमल भी कर डालते हैं। इसलिए जब वे विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) पर बरसे, तभी संकेत मिल गया था कि अब ट्रंप प्रशासन ने इस अंतरराष्ट्रीय संस्था के खिलाफ मोर्चा खोल लिया है। अब अपनी धमकी पर आगे बढ़ते हुए ट्रंप ने डब्लूएचओ को अमेरिका से मिलने वाला चंदा रोक दिया है। जानकार मानते हैं कि ट्रंप अमेरिका में कोरोना वायरस की महामारी फैलने से रोकने में अपनी नाकामी को ढकने के लिए बलि के बकरों की तलाश कर रहे हैं। उनमें एक बकरा डब्लूएचओ बना है। इसके अलावा उनका एक बलि का बकरा चीन है। एक अन्य बकरे के रूप में उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के प्रशासन की तलाश की है। ट्रंप उन पर दोष मढ़ रहे हैं कि ओबामा ने महामारी से बचने की अमेरिकी तैयारियों को कमजोर कर दिया। जबकि अमेरिकी मीडिया ने ध्यान दिलाया है कि ओबामा की टीम ने ह्वाइट हाउस छोड़ने से पहले राष्ट्रपति ट्रंप की टीम के साथ मिलकर एक काल्पनिक महामारी के खिलाफ अभ्यास किया था और एक पूरी रणनीति उन्हें सौंपी थी। मगर ट्रंप की टीम ने सत्ता संभालते ही उसे… Continue reading ट्रंप की बलि के बकरे

गुतारेस ने कोरोना के अफ्रीका में फैलने की आशंका जताई

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने अफ्रीका में कोरोना वायरस वैश्विक महामारी फैलने की आशंका जताते हुए उसे इसके लिए तैयार करने के प्रयासों को बढ़ाने का

कोरोना : ट्रंप की धमकी के बाद संरा प्रमुख ने किया डब्ल्यूएचओ का बचाव

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की फंडिंग पर पुनर्विचार वाली धमकी के बीच संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने

कोविड-19 महामारी पर कार्रवाई की जरूरत: संरा प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने नोवल कोरोनावायरस को महामारी घोषित किया है, जिसके बाद संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने इस पर कार्रवाई करने का आह्वान किया है। सुत्रों के मुताबिक गुटेरेस के एक संदेश के हवाले से कहा, आज की महामारी की घोषणा सभी के लिए कार्रवाई का आह्वान है। सभी राष्ट्रों और लोगों को एकजुट होकर जिम्मेदारी लेनी चाहिए। हालांकि, भय के खिलाफ उन्होंने चेताते हुए कहा, जैसा कि हम वायरस से लड़ रहे हैं ऐसे में हम डर को वायरल नहीं होने दे सकते। उन्होंने सभी देशों की सरकारों से इस संदर्भ में तुरंत काम करने और अपने प्रयासों को बढ़ाने के साथ ही उचित भूमिका निभाने का भी आह्वान किया।

यूएन प्रमुख फिर बोले सीएए पर

नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख एंटोनियो गुतारेस ने भारत के मामले में एक बार फिर विवादित बयान दिया है। पाकिस्तान के दौरे पर पहुंचे गुतारेस ने पहले जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने को लेकर बयान दिया था, जिस पर भारत ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी। अब उन्होंने संशोधित नागरिकता कानून पर बयान दिया है और कहा है कि भारतीय संसद में पास किए गए नागरिकता संशोधन कानून की वजह से बीस लाख लोगों के देश विहीन होने का खतरा है, इनमें से ज्यादातर मुस्लिम हैं। उन्होंने कहा- मुझे इसको लेकर चिंता है। पाकिस्तानी अखबार ‘डॉन’ को दिए एक इंटरव्यू में जब उनसे पूछा गया कि क्या भारत में अल्पसंख्यकों के खिलाफ बढ़ रहे भेदभाव को लेकर वे चिंतिंत हैं? इसके जवाब में एंटोनियो गुतारेस ने कहा था कि उन्हें इसकी चिंता है। उन्होंने यह भी कहा कि जब भी नागरिकता संबंधी कानूनों में बदलाव किया जाता है, इस तरह के प्रयास किए जाते हैं कि देशविहीनता की स्थिति पैदा न हो। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुतारेस ने जम्मू कश्मीर पर टिप्पणी की थी, जिसके बाद भारत ने कहा था कि यह क्षेत्र भारत का अभिन्न हिस्सा है और रहेगा। भारत ने यह भी कहा था… Continue reading यूएन प्रमुख फिर बोले सीएए पर

और लोड करें