बाबरी विध्वंस संबंधी मामले वापस लें : हिंदू महासभा

अयोध्या जमीनी विवाद मामले पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए फैसले के 72 घंटे बाद अखिल भारत हिंदू महासभा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर बाबरी मस्जिद को गिराने को लेकर कारसेवकों के खिलाफ चल रहे आपराधिक मामलों को वापस लिए जाने की मांग की है।

बाबरी मस्जिद अवैध थी तो आडवाणी पर मामला कैसे? : ओवैसी

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने सवाल किया कि यदि बाबरी मस्जिद अवैध थी, तो इसे ढहाने को लेकर लालकृष्ण आडवाणी पर मुकदमा क्यों चल रहा है और अगर यह वैध थी, तो आडवाणी को जमीन क्यों दी जा रही है? हैदराबाद के सांसद ने इस बात पर आश्चर्य जताते हुए कहा कि जिस इंसान ने किसी का घर गिराया, उसे कैसे वही घर दिया जा सकता है।

भारत का विचार किसी भी विचारधारा से बड़ा : कैफ

पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने विवादित रामजन्म भूमि और बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि भारत की संकल्पना (विचार) किसी भी विचारधारा से बड़ा है।

अयोध्या फैसले के मद्देनजर जम्मू में हाई अलर्ट

अयोध्या में रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले पर शनिवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले को देखते हुए जम्मू को हाई अलर्ट पर रखा गया है। हालांकि जम्मू प्रांत के किसी भी हिस्से से अभी तक किसी तरह की अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है।

दारूल उलूम के मुफ्ती कासिम ने फैसले पर हैरानी जताई

अयोध्या जमीन विवाद पर आज को सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर प्रसिद्ध इस्लामिक शिक्षण संस्था दारुल उलूम के मोहतमिम मौलाना मुफ्ती अबुल कासिम नौमानी बनारसी ने हैरानी जताई।

तथ्यों पर आस्था की जीत : ओवैसी

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि अयोध्या मामले में उच्च्चतम न्यायालय के फैसले से यह साफ हो गया है कि इसमें तथ्यों पर आस्था की जीत हुई है।

सुप्रीम कोर्ट का अयोध्या फैसला मानेंगे

जमीयत-ए-उलेमाए हिन्द के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने लोगों से बाबरी मस्जिद राम जन्मभूमि मुद्दे पर अदालत के फैसले को स्वीकार करने और देश में शांति बनाए रखने की एक बार फिर अपील की है

मंदिर पर जरूरी साझा समझदारी

अयोध्या में राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद भूमि विवाद की सर्वोच्च अदालत में सुनवाई पूरी हो गई है और एक महीने के अंदर उसका फैसला आना है। इस तरह मंदिर-मस्जिद का विवाद और इसे लेकर दशकों तक चला आंदोलन अपने अंतिम व निर्णायक मुकाम पर पहुंच गया है। पर सवाल है कि क्या इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से यह विवाद खत्म हो जाएगा?

फैसला आने से पहले राम की नगरी पर सख्त पहरा

दशकों से लंबित विवादित रामजन्मभूमि मामले के फैसले की घड़ी नजदीक आने के साथ अयोध्या में एहतियात के तौर पर सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किये गये हैं।

और लोड करें