Bengal Politics : राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने 48 घंटों में दूसरी बार की अमित शाह से मुलाकात, कहा- आजादी के बाद ऐसे कभी नहीं हुए हालात

नई दिल्ली | राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने पिछले 48 घंटों में दूसरी बार गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की है. मुलाकात के बाद राज्यपाल ने एक बार फिर से ममता बनर्जी पर हमला किया है. मुलाकात के बाद लौटते हुए धनखड़ ने कहा है कि बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद जिस तरह से यहां हिंसा बढ़ी है ऐसा आजादी के पहले ही देखा गया था. राज्यपाल ने कहा कि यह समय देश के संविधान, लोकतंत्र और कानून व्यवस्था पर विश्वास करने का है. बंगाल की कानून व्यवस्था पर बोलते हुए धनखड़ ने कहा कि मैं निजी तौर पर बंगाल के नौकरशाहों और पुलिस कर्मियों से अपील करना चाहता हूं कि वह आचार संहिता और नियमों के दायरे में रहें. दूसरी बार अमित शाह से मुलाकात बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ दिल्ली के दौरे पर हैं. पहले से तय किए गए कार्यक्रम के अनुसार गुरुवार को धनखड़ को वापस बंगाल लौट जाना था. लेकिन वे बंगाल नहीं लौटे और आज एक बार फिर गृह मंत्री मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राज्यपाल ने राष्ट्रपति और गृह मंत्री मंत्री को बंगाल में कानून की मौजूदा व्यवस्था पर रिपोर्ट सौंपकर हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है.… Continue reading Bengal Politics : राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने 48 घंटों में दूसरी बार की अमित शाह से मुलाकात, कहा- आजादी के बाद ऐसे कभी नहीं हुए हालात

Bengal Politics : कैलाश विजयवर्गीय के खिलाफ भाजपा के कोलकाता कार्यालय के बाहर लगे पोस्टर बताया ‘सेटिंग मास्टर’

कोलकाता | पश्चिम बंगाल के विधान सभा चुनाव हारने के बाद भी भाजपा के लिए बंगाल के परेशानी बना हुआ है. एक ओर भाजपा से जीतकर आए विधायकों की टूट की खबर है तो दूसरी ओर भाजपा के कार्यकर्ताओं से हो रही मारपीट. ताजा मामला भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से जुड़ा हुआ है. जानकारी के अनुसार बंगाल में चुनाव हारने के बाद भी उठा पटक का ये सिलसिला लगातार बना हुआ है. बताया जा रहा है कि इसी को शांत कराने की जिम्मावारी अब कैलाश विजयवर्गीय को दी गई है. लेकिन कैलाश विजयवर्गीय के पोस्टरों को अब कोलकाता स्थित भाजपा कार्यालय के बाहर लगाया है. इन पोस्टरों पर लिखा हुआ है कि ‘वापस जाओ’. कैलाश विजयवर्गीय को बताया ‘सेटिंग मास्टर’ सेंट्रल एवेन्यू स्थित पार्टी के प्रदेश मुख्यालय और हैस्टिंग स्थित दूसरे अहम भाजपा कार्यालय में लगे पोस्टरों में पश्चिम बंगाल में भाजपा के प्रभारी विजयवर्गीय की तस्वीर हैं. इन तस्वीरों में कैलाश विजयवर्गीय को ‘सेटिंग मास्टर’ बताया गया है. कुछ पोस्टरों में विजयवर्गीय और मुकुल रॉय के गले मिलते वक्त ली गई तस्वीरें भी हैं, जो करीब साढ़े तीन साल तक भाजपा में रहने के बाद इस महीने के शुरु में तृणमूल कांग्रेस पार्टी में लौट गए. यहां… Continue reading Bengal Politics : कैलाश विजयवर्गीय के खिलाफ भाजपा के कोलकाता कार्यालय के बाहर लगे पोस्टर बताया ‘सेटिंग मास्टर’

कोरोना काल में हुई किरकिरी के बाद BJP एक बार फिर से कर रही है पीएम मोदी की ‘ब्रांडिंग’ की तैयारी

नई दिल्ली | बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा है कि हमें देश के गांव में जाकर लोगों को बताना चाहिए कि मोदी ने किस तरह से कोरोना काल में लड़ाई लड़ी हैं, नड्डा ने कहा कि आप लोगों को ये प्रयास करना चाहिए कि आने वाले समय में लोगों तक ये बात पहुंचे कि कैसे देश के सरकार ने कोरोना के आगे हथियार नहीं डाले. साथ ही कोरोना से डटकर मुकाबला किया. बता दें कि हाल में कोरोना की दूसरी लहर को लेकर केंद्र सरकार को काफी आलोचनाएं झेलने पड़ी हैं. सोशल मीडिया में भी भाजपा के खिलाफ एक माहौल सा तैयार किया गया है. आने वाले साल में देश में दो प्रमुख विधान सभा चुनाव होने हैं. ऐसे में भाजपा अब एक बार फिर से पार्टी और पीएम मोदी की ब्रांडिंग की तैयारियों में जुच गई है. यूपी और गुजरात में होने हैं विधानसभा चुनाव 2022 में देश में 2 महत्वपूर्ण चुनाव होने वाले हैं. बंगाल चुनाव में मात खाने के बाद से अब एक बार फिर भाजपा दबाव में है. यहीं कारण है कि भाजपा अभी से ही अपने शीर्ष के नेताओं की ब्रांडिंग पर काम करना चाहता है. इसके… Continue reading कोरोना काल में हुई किरकिरी के बाद BJP एक बार फिर से कर रही है पीएम मोदी की ‘ब्रांडिंग’ की तैयारी

पीएम मोदी और भाजपा को अपने हनुमान पर नहीं आ रही है दया, काम निकला तो पहचानते तक नहीं…

पटना | बिहार चुनाव के दौरान खुद को पीएम मोेदी का हनुमान बताने वाले चिराग पासवान आज विषम परिस्थितियों में हैं. उनके इस स्थिति में पहुंचने के कारण तो वो खुद हैं लेकिन एक ऐसा समय भी था जब पीएम मोदी हमेशा से चिराग को प्रमोट करते हुए नजर आते थे. लेकिन आज अपने हनुमान पर ना तो पीएम मोदी को ही दया आ रही है और ना ही भाजपा के अन्य नेताओं और  प्रवक्ताओं से इस बारे में पूछने पर उनका जवाब ये आ रहा है कि ये उनका आंतरिक मामला है और इस विषय में हमारा कुछ भी कहना सही नहीं है. लेकिन क्या सच में तस्वीर वहीं है जो दिखाई जा रही है या फिर इस तस्वीर के साथ छेड़छाड़ की है. इसमें कोइ शक नहीं है कि आज चिराग अकेले पड़ गये हैं.   ऐसा पहली बार तो नहीं हुआ. बिहार विधान सभा चुनाव के दौरान भी चिराग अकेले थे और सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ अकेले ही खड़े हो गये थे. लेकिन माना जाता रहा है कि कहीं ना कहीं नीतीश कुमार को कंट्रोल में रखने के लिए भाजपा ने चिराग का इस्तेमाल किया था और अब जब काम निकल गया तो चिराग को पहचानने से… Continue reading पीएम मोदी और भाजपा को अपने हनुमान पर नहीं आ रही है दया, काम निकला तो पहचानते तक नहीं…

SC में दायर की गई सामूहिक याचिका में छलका दर्द: पोते के सामने दादी का तो नाबालिग को घंटों बंधक बना दुष्कर्म करते रहे हैवान…

नई दिल्ली |  बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद भी हिंसा कितनी भयंकर थी उसका एक उदाहरण सुप्रीम कोर्ट में सामने आया. बंगाल में हिंसा थमने के बाद महिलाओं का समूह सामने आया है जिसमें सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर सब को हिला कर रख दिया है. महिलाओं द्वारा सामूहिक रूप से दायर की गई इस याचिका में आरोप लगाया गया है कि बंगाल की हिंसा के दौरान उनके साथ रेप किया गया. बता दें कि पीड़ित महिलाओं में हर उम्र की महिलाएं शामिल है जिसमें एक नाबालिग युवती भी है. इतना ही नहीं इन महिलाओं में कुछ बुजुर्ग महिलाएं भी शामिल हैं. महिलाओं ने बंगाल के हिंसा की एसआईटी जांच की मांग करते हुए यह याचिका दायर की है. इसके साथ ही याचिका में यह भी अपील की गई है कि सर्वोच्च अदालत सीबीआई या एसआईटी जांच का आदेश है और इसकी निगरानी भी सुप्रीम कोर्ट ही करे. पोते का सामने ही किया दुष्कर्म बताया जा रहा है कि याचिका दायर करने वालों में हर उम्र की महिलाएं शामिल है. कोर्ट में तीन अलग-अलग याचिकाएं दायर की गई है इनमें से एक याचिका 60 साल की महिला की है. बुजुर्ग महिला का कहना है कि हिंसा के दौरान… Continue reading SC में दायर की गई सामूहिक याचिका में छलका दर्द: पोते के सामने दादी का तो नाबालिग को घंटों बंधक बना दुष्कर्म करते रहे हैवान…

अब हौबे खेला: ममता बनर्जी के लिए मंच तैयार कर रहे हैं टिकैट, दीदी बोली – सब साथ आएं और बनाएं यूनियन ऑफ स्टेट्स

कोलकाता | किसान आंदोलन के सूत्रधार माने जाने वाले राकेश टिकैत निकल ममता बनर्जी से मुलाकात की थी. इस मुलाकात के पहले से ही सियासी अटकलें तेज हो गई थी. मुलाकात के बाद यह बात खुलकर सामने भी आ गई कि ममता बनर्जी अब सीधे प्रधानमंत्री मोदी से मुकाबला करना चाहती हैं. ममता बनर्जी ने इस संबंध में अपनी मंशा भी साफ कर दी है. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने देश की सभी गैर भाजपा की सरकारों को साथ आने का न्योता दिया है. इसके साथ ही सीएम ममता ने संविधान के आर्टिकल 1 का हवाला देते हुए यूनियन ऑफ स्टेट्स का प्रस्ताव भी दिया है. ममता बनर्जी का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा की तानाशाही को रोकने के लिए हम सब को एक होना ही होगा. सामूहिक परिवार बनाएं,  नेतृत्व के लिए भूल जाएं मेरा नाम इसमें कोई शक नहीं है कि यदि सभी राजनीतिक पार्टियां एक होती हैं तो ममता बनर्जी के अलावा शायद ही कोई दूसरा नाम सामने आएगा. कांग्रेस के हालात ऐसे नहीं है कि अभी वह प्रधानमंत्री मोदी की टक्कर में कोई नेता दे सके. कांग्रेस भले ही राहुल गांधी पर एक बार फिर से गेम खेलना चाहे लेकिन इसके लिए शायद… Continue reading अब हौबे खेला: ममता बनर्जी के लिए मंच तैयार कर रहे हैं टिकैट, दीदी बोली – सब साथ आएं और बनाएं यूनियन ऑफ स्टेट्स

PM मोदी की शेविंग के लिए एक चायवाले ने किया ₹100 का मनीऑर्डर, कहा-बढ़ाना है तो रोजगार बढ़ाएं

बारामती | प्रधानमंत्री मोदी ने बंगाल चुनाव के पहले से ही दाढ़ी बढ़ाए रखी है. अब पीएम मोदी ने ऐसा क्यों कर रखा है यह तो किसी को भी नहीं पता लेकिन उम्मीद की जा रही थी कि बंगाल चुनाव के बाद पीएम मोदी अपनी शेविंग करवा लेंगे. लेकिन ऐसा हुआ नहीं. सोशल मीडिया पर कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रधानमंत्री मोदी कोरोना के मद्देनजर अपनी शेविंग नहीं करा रहे हैं. कारण जो भी हो लेकिन अब एक मजेदार किस्से सुनने को मिला है. महाराष्ट्र में चाय बेचने वाले एक शख्स ने प्रधानमंत्री मोदी को दाढ़ी कटवाने के लिए ₹100 का मनी ऑर्डर भेजा है. यह सुनकर आपको जरूर थोड़ा अजीब लगेगा लेकिन यह खबर सच है. मेहनत की कमाई से प्रधानमंत्री मोदी को ₹100 भेज रहा हूं मनी ऑर्डर भेजने वाले शख्स का नाम अनिल मोरे बताया जा रहा है. अनिल मोरे ने कहा है कि कोरोना लॉकडाउन के कारण कई लोगों का कामकाज पूरी तरह से ठप हो गया है. लोगों के पास रोजगार बंद है ऐसे में यदि प्रधानमंत्री को कुछ बढ़ाना है तो उन्हें रोजगार बढ़ाना चाहिए. अनिल का कहना है कि मैं अपनी मेहनत की कमाई से प्रधानमंत्री मोदी को ₹100 भेज रहा हूं जिससे… Continue reading PM मोदी की शेविंग के लिए एक चायवाले ने किया ₹100 का मनीऑर्डर, कहा-बढ़ाना है तो रोजगार बढ़ाएं

ममता ने कहा, अलपन का साथ देंगे

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने साफ कर दिया है कि केंद्र के साथ चल रहे विवाद में वे राज्य के पूर्व मुख्य सचिव और अपने मौजूदा प्रमुख सलाहकार अलपन बंदोपाध्याय का साथ देंगी। हालांकि उन्होंने अपनी तरफ से विवाद खत्म करने का संकेत देते हुए यह भी कहा कि अलपन का अध्याय अब बंद हो चुका है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार में शामिल नहीं होने को लेकर उपजे विवाद के मसले पर उनका प्रशासन पूर्व मुख्य सचिव के साथ खड़ा है। ममता ने बुधवार को एक सवाल के जवाब में संवाददाताओं से कहा- अलपन बंदोपाध्याय अध्याय अब समाप्त हो चुका है। उनके आस पास जो कुछ भी घटित हो रहा है, पश्चिम बंगाल सरकार उसमें अलपन बंदोपाध्याय को पूरा समर्थन देगी। गौरतलब है कि बंदोपाध्याय 31 मई को रिटायर होने वाले थे, लेकिन राज्य ने हाल ही में उनके कार्यकाल को तीन महीने के लिए बढ़ाने की अनुमति मांगी थी और अनुमति मिल भी गई, क्योंकि उन्होंने कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। पिछले दिनों चक्रवाती तूफान के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुलाई गई एक समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री और राज्य के तब के मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय… Continue reading ममता ने कहा, अलपन का साथ देंगे

ममता के सलाहकार से जवाब तलब

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने ममता बनर्जी के सलाहकार और राज्य के पूर्व मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय से जवाब तलब किया है। चक्रवाती तूफान की समीक्षा के लिए राज्य के दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक से गायब रहने पर केंद्र ने अलापन को कारण बताओ नोटिस भेजा है, जिस पर उन्हें तीन दिन के भीतर जवाब देना होगा। केंद्र ने उनसे पूछा है कि उन पर आपदा प्रबंधन कानून की धारा 51(बी) के तहत कार्रवाई क्यों न की जाए। केंद्र ने अपनी चिट्ठी में लिखा है- प्रधानमंत्री मोदी आपदा प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा करने के बाद कलाईकुंडा एयरफोर्स स्टेशन पहुंचे। इसके बाद उन्हें यहां पर बंगाल की मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव के साथ बैठक करनी थी। प्रधानमंत्री को मीटिंग रूम में राज्य सरकार के अधिकारियों के लिए 15 मिनट इंतजार करना पड़ा। जब मुख्य सचिव नहीं पहुंचे थे तो उन्हें अधिकारियों ने फोन लगाया और पूछा कि वो इस मीटिंग में शामिल होंगे या नहीं? इसके बाद मुख्य सचिव और मुख्यमंत्री मीटिंग रूम में आए और तुरंत ही चले भी गए। इसे प्रधानमंत्री की समीक्षा बैठक से अनुपस्थित रहना ही माना जाएगा। इस चिट्ठी में कहा गया है- प्रधानमंत्री राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण यानी एनडीएमए के अध्यक्ष… Continue reading ममता के सलाहकार से जवाब तलब

‘दीदी बोली’- वो बुलाते हैं, लेकिन जाने का नहीं !  मुख्य सचिव विवाद पर एक बार आमने सामने आयीं ममता बनर्जी और केंद्र सरकार

Kolkata: बंगाल चुनाव के बाद भी केंद्र और TMC के बीच की जंग खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. बंगाल में फैली हिंसा हो या फिर यास तूफान के दौरान पीएम की मीटिंग में ममता बनर्जी का बर्ताव. साफ है कि केंद्र सरकार और ममता बनर्जी लगभग हर मुद्दे में आमने-सामने नजर आ रहे हैं. एक बार फिर से पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय को लेकर केंद्र सरकार और टीएमसी आमने-सामने है. उम्मीद की जा रही है कि अब बंगाल के मुख्य सचिव के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही भी की जा सकती है. इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार की ओर से 31 मई की सुबह 10:00 बजे तक अलपन को रिपोर्ट करने के लिए कहा गया था लेकिन वह तो नहीं आये, आई तो उनकी जगह ममता बनर्जी की चिट्ठी.इस पूरेो विवाद को दिख सोशल मीडिया में मीम्स और पोस्ट की भरमार हो गई . इनमें सबसे अच्छा पोस्ट एक राघव नाम के युवक ने किया. युवक के पोस्ट में दीदी ने मुख्य सचिव को कहा कि वो बुलाते हैं लेकिन जाने का नहीं. After having review meetings in Hingalganj & Sagar, I met the Hon’ble PM in Kalaikunda & apprised him regarding… Continue reading ‘दीदी बोली’- वो बुलाते हैं, लेकिन जाने का नहीं ! मुख्य सचिव विवाद पर एक बार आमने सामने आयीं ममता बनर्जी और केंद्र सरकार

Congress president:  कांग्रेस के अगले राष्ट्रीय अध्यक्ष का फैसला 23 जून को, जानें कैसे होगा चुनाव

New Delhi: देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस की स्थिति इन दिनों कुछ खास अच्छी नहीं है. जहां एक ओर बंगाल के चुनाव में  कांग्रेस खाता भी नहीं खोल पाई वहीं दूसरी ओर असम में हमेशा से मजबूत कही जाने वाली कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा.  इन सबसे अलग लंबे समय से अध्यक्ष  को बदलने को लेकर की जा रही मांग का आज पटाक्षेप हो गया. अब पार्टी में अगला राष्ट्रीय अध्यक्ष कौन होगा? क्या एक बार फिर नेहरू-गांधी परिवार का ही कोई सदस्य पार्टी की कमान संभालेगा या फिर इस परिवार से इतर कोई दूसरा नेता इसकी बागडोर संभालेगा.  इस बात को लेकर काफी दिनों से सोशल मीडिया से लेकर सियासी गलियारों में भी सवाल खड़े किये जा रहे हैं.  अब कांग्रेस की कार्यसमिति ने बैठक कर  संगठन के आतंरिक चुनाव कराने पर फैसला ले लिया गया है. बताया जा रहा है कि आगामी 23 जून को कांग्रेस का अध्यक्ष चुनने के लिए सांगठनिक चुनाव कराया जाएगा. क्या पार्टी के दूसरे नेता अध्यक्ष पद के नामांकन दाखिल करेंगे इस बीच, सवाल यह भी पैदा होता है कि इस चुनाव में भी पहले ही की तरह नेहरू-गांधी परिवार के सदस्य सोनिया गांधी और राहुल गांधी के खिलाफ पार्टी… Continue reading Congress president: कांग्रेस के अगले राष्ट्रीय अध्यक्ष का फैसला 23 जून को, जानें कैसे होगा चुनाव

Kangna Ranout Account Suspend : ट्विटर ने कंगना रनौत को कहा- टाटा बॉय बॉय, बंगाल चुनाव में की बयानबाजी के बाद दर्ज हुई एफआईआर

कंगना रनौत की ज़ुबान एक बार फिर फिसल गई है। देश में कहीं भी कोई भी मुद्दा हो कंगना अपने बयान देने से पीछे नहीं हटती है। सुशांत सिंह राजपुत से लेकर किसान आंदोलन सभी मुद्दों पर कंगना ने बयानबाजी की है। इस वजह से कंगना काफी चर्चा में भी रही है। फिर बंगाल चुनाव में रंगना पीछे कैसे रह सकती है। बंगाल चुनाव के नतीजों के बाद कंगना एक बार फिर अपने विचार प्रकट किये तो बवाल हो गया और  ट्विटर ने कंगना का अकाउट सस्ंपेंड कर दिया है। ट्विटर की ओर से साफ किया गया है कि कंगना रनौत ने ट्विटर के नियमों का उल्लंघन किया है। इसे भी पढ़ें Bollywood News : अभिनेता अजय देवगन Film ‘Drishyam 2’ के हिन्दी रीमेक में काम करेंगे  स्थाई तौर पर सस्पेंड हुआ अकाउंट ट्विटर के प्रवक्ता ने कहा, ‘हम स्पष्ट हैं कि हर उस व्यवहार पर कार्रवाई करेंगे, जिससे किसी भी तरह का ऑफलाइन नुकसान हो सकता है। कंगना रनौत का अकाउंट हमेशा के लिए यानी स्थाई तौर पर सस्पेंड कर दिया गया है। उनके अकाउंट से लगातार ट्विटर के नियमों का उल्लंघन किया जा रहा था। खास तौर पर हमारी घृणित आचरण नीति और अपमानजनक व्यवहार नीति का बार-बार उल्लंघन… Continue reading Kangna Ranout Account Suspend : ट्विटर ने कंगना रनौत को कहा- टाटा बॉय बॉय, बंगाल चुनाव में की बयानबाजी के बाद दर्ज हुई एफआईआर

Bengal Election Result: किसका बंगाल?  एग्जिट पोल्स ने रोमांचक किया मुकाबला, जानें किसकी कितनी सीटें

Kolkata: कोरोना काल में संपन्न किये गये बंगाल चुनाव को लेकर काफी गहमा-गहमा रही है. लेकिन अब मतदान संपन्न हो चुका है.  2 मई को परिणामों की आधिकारिक घोषणा भी हो जाएगी. ऐसे में  एक दर्जन एग्जिट पोल भी आ चुके हैं.  एग्जिट पोल्स  के परिणामों ने तो संशय और बढ़ा दिये हैं.  एक सर्वे में ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस को 185 सीटें मिलती दिख रही हैं, तो एक और सर्वे में BJP को 192 सीटें मिलने की उम्मीद जतायी गयी है. किसी भी सर्वे में संयुक्त मोर्चा (कांग्रेस-वाम मोर्चा-इंडियन सेक्युलर फ्रंट गठबंधन) को 20 से अधिक सीट नहीं दी गयी है. एबीपी-सीएनएक्स के एग्जिट पोल में तृणमूल कांग्रेस को सबसे ज्यादा 157 से 185 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है, तो इंडिया टीवी के एग्जिट पोल में BJP को सबसे ज्यादा 192 सीटें मिलने का अनुमान जाहिर किया गया है. एबीपी-सीएनएक्स ने भाजपा को 96 से 125 सीटें दी हैं, तो संयुक्त मोर्चा को 8 से 16 सीटें. इंडिया टीवी ने तृणमूल को 88 सीटें और संयुक्त मोर्चा को 12 सीटें दी हैं. टाइम्स नाउ सी वोटर सर्वे में TMC और बिमल गुरुंग की पार्टी गोरखालैंड जनमुक्ति मोर्चा (JJM) के गठबंधन को 158 सीटें दी हैं, तो… Continue reading Bengal Election Result: किसका बंगाल?  एग्जिट पोल्स ने रोमांचक किया मुकाबला, जानें किसकी कितनी सीटें

Bengal Election 2021: बंगाल में ताबतोड़ चुनावी रैलियों के साथ ही बढ़ रही कोरोना संक्रमण की रफ्तार, 1.7 फीसदी पहुंची मृत्यु दर

Kolkata: कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर बहुत तेजी से बढ़ रही है. इसकी वजह से देश के कई राज्यों में कोरोना संक्रमितों की संख्या भी तीव्र गति से बढ़ रही है. वहीं कोरोना पॉजिटिव लोगों की मृत्यु दर में भी तेजी से इजाफा हो रहा है. कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर लगाम लगाने के लिए विभिन्न राज्य कई तरह के सख्त कदम उठा रहे हैं. कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है. छत्तीसगढ़ जैसे कुछ राज्यों ने अपने कई शहरों में पूर्ण लॉकडाउन लगाया है. वहीं कुछ राज्यों में वीकएंड लॉकडाउन लगाया गया है. महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश में कोरोना की बढ़ती रफ्तार की वजह से ही 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं की तिथियां आगे बढ़ा दी गयी हैं. झारखंड में भी रात आठ बजे तक ही दुकान और बाजार खोलने की अनुमति दी गयी है. पुलिस और प्रशासन लोगों से मास्क लगाने, शारीरिक दूरी रखने और कोविड संबंधी अन्य गाइडलाइंस का कड़ाई से पालन कराने के लिए जुर्माना तक वसूल कर रहे हैं. चुनावी सरगर्मी के बीच कोरोना संक्रमण ने पकड़ ली रफ्तार वहीं दूसरी तरफ लोगों के मन में यह सवाल भी उठ रहा है कि बंगाल में चुनाव के लिए बड़ी बड़ी रैलियां हो रही हैं.… Continue reading Bengal Election 2021: बंगाल में ताबतोड़ चुनावी रैलियों के साथ ही बढ़ रही कोरोना संक्रमण की रफ्तार, 1.7 फीसदी पहुंची मृत्यु दर

आप भी जानें,  कौन सी  5 बातें बंगाल में भाजपा को कर सकती है सत्ता से दूर

Kolkata: बंगाल चुनाव (Bengal elections) में देश भर की निगाहें टिकी हैं. खासकर ममता बनर्जी (Mamta Banerjee)  की चोट के बाद से तो जैसे राजनीतिक हवाओं (political winds) का रूख ही बदल गया है. ममता बनर्जी के चोट लगने के पहले जहां भाजपा मजबूत होती दिख रही थी वहीं एक बार फिर से अब भाजपा (BJP) के खामियां पर लोगों मे चर्चा शुरु कर दी है. इसके साथ ही ममता की यूं व्हीलचेयर पर प्रचार के लिए निकलना और सीधे तौर पर  भाजपा के शीर्ष नेताओं पर हमला करना बंगाल की जनता को खासा पसंद आ रहा है. वहीं शाह और भाजपा के नेताओं की रैली में भी लोगों की भीड़ देखने को मिल रही है. आज भी यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) बंगाल में 3 रैलियों को संबोधित करना जा रहे हैं. वहीं दीदी की पलटन भी एक के बाद एक रैलियों कर रही है. आइए जानें वो कौन सी 5 मुख्य बाते हैं जो भाजपा के लिए आने वाले समय में सरदर्द बन सकती है. 1) बिना दुल्हे की बारात का दांव बंगाल में भाजपा एक बार फिर से दुल्हे के बिना ही बारात निकालने की कोशिश की है. हालांकि इससे पहले जब भी भाजपा… Continue reading आप भी जानें,  कौन सी  5 बातें बंगाल में भाजपा को कर सकती है सत्ता से दूर

और लोड करें