घर में सेनेटाइजर बनाने की विधि

कोराना वायरस को लेकर पूरी दुनिया दहशत में है। वहीं, इससे बचने के लिए प्रयोग में लाए जा रहे सभी सेनेटाइजर के ओरिजिनल और डुप्लीकेट में अंतर को लेकर सशंकित हैं।

प्रियंका गांधी 10 जनवरी को जा सकती हैं बीएचयू

वाराणसी। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में छात्रों से मिलने के लिए 10 जनवरी को वाराणसी आ सकती हैं। उनके दौरे का मकसद बीएचयू छात्रों के साथ संवाद करना है। यह उनका बीएचयू का पहला दौरा होगा। बीएचयू बीते कई महीनों से विवादों में घिरा हुआ है। सितंबर 2017 में छेड़छाड़ को लेकर परिसर में हिंसा देखी गई और नवंबर 2019 में संस्कृत विभाग में मुस्लिम प्रोफेसर की नियुक्ति को लेकर लंबे समय तक विरोध प्रदर्शन चला। सूत्रों के अनुसार, प्रियंका बीएचयू में छात्रों से अनौपचारिक रूप से मिलेंगी। बीएचयू सूत्रों ने कहा है कि प्रियंका के दौरे के लिए औपचारिक अनुमति नहीं दी गई है। एक वरिष्ठ संकाय सदस्य ने कहा हम राजनेताओं को बिना किसी वैध कारण के छात्रों को संबोधित करने के लिए परिसर में इजाजत नहीं दे सकते।

बीएचयू के प्राध्यापकों ने सीएए, एनआरसी के खिलाफ चलाया अभियान

नागरिकता (संशोधन) कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ एक आश्चर्यजनक कदम उठाते हुए प्रतिष्ठित बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) और इसके संबद्ध कॉलेजों के 51 प्राध्यापकों ने एक हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत की है।

बीएचयू में अब पढ़ाई जाएगी ‘भूत विद्या’

अब आप बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में ‘भूत विद्या’ या ‘साइंस ऑफ पैरानॉर्मल’ का अध्ययन कर सकते हैं, जो इस विषय पर छह महीने का सर्टिफिकेट कोर्स शुरू कर रहा है।

बीएचयू का 101वां दीक्षांत समारोह कल

उत्तर प्रदेश में वाराणसी के काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) का 101वां दीक्षांत समारोह सोमवार को यहां स्वतंत्रता भवन में आयोजित किया जाएगा।

बीएचयू परिसर से हटेगा राजीव गांधी का नाम

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) कोर्ट ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का नाम विश्वविद्यालय के दक्षिणी परिसर से हटाने की सिफारिश की है।

फिरोज बीएचयू के संस्कृत विभाग में ही कार्यरत रहेंगे : निशंक

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने आज लोकसभा में कहा कि फिरोज खान काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के संस्कृत विभाग

बनारस में सत्य की ही जीत हुई

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान विभाग में डाक्टर फिरोज खान की नियुक्ति का मामला सुलट गया है। डाक्टर फिरोज खान को इस्तीफा देना पडा। तथाकथित खुले विचारों वाले स्वयंभू हिन्दू बुद्धिजीवी गलत साबित हुए और बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के हडताली छात्र सही साबित हुए।

बीएचयू: मुस्लिम प्रोफेसर का इस्तीफा, दूसरे संकाय से जुड़ेंगे

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय जॉइन करने के एक महीने बाद मुस्लिम प्रोफेसर फिरोज खान ने कथित तौर पर विभाग से इस्तीफा दे दिया है।

संस्कृत प्रोफेसर फिरोज को संघ का समर्थन

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, आरएसएस ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, बीएचयू के संस्कृत विभाग में नियुक्त हुए मुस्लिम प्रोफेसर फिरोज खान का समर्थन किया है।

चलें, चुल्लू भर पानी तलाशें

पांच साल से कुछ ज़्यादा हुए, जब नरेंद्र भाई मोदी को मां गंगा ने बुलाया और वे सब छोड-छाड़ दौड़े-दौड़े, अपने घर गुजरात से, बनारस पहुंच गए। गंगा मां ने नहीं भगाया, लेकिन उसी बनारस से, सब-कुछ छोड़-छाड़, संस्कृत के सहायक आयार्च डॉ. फ़िरोज़ ख़ान को, अपने घर राजस्थान भागना पड़ा।

बीएचयू: प्रोफेसर के खिलाफ छात्र प्रदर्शन खत्म करने को सहमत

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान (एसवीडीवी) विभाग के छात्रों ने विभाग में सहायक प्रोफेसर के रूप में मुस्लिम प्रोफेसर फिरोज खान की नियुक्ति के खिलाफ फखवाड़े भर से चल रहे

क्या भाषा धर्म से जुड़ी है?

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में जारी घटना ने कई बुनियादी सवाल उठाए हैं। सबसे बड़ा सवाल यही है कि क्या किसी भाषा का किसी खास धर्म से संबंध हैं? मामला राजस्थान के फिरोज खान का है, जो संस्कृत पढ़ाने के लिए बनारस पहुंचे। वहां बीएचयू में उनकी संस्कृत शिक्षक के रूप में नियुक्ति हुई।

बीएचयू परिसर में छात्र बनाम छात्र की लड़ाई

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान (एसवीडीवी) में सहायक प्रोफेसर के तौर पर नियुक्त डॉ. फिरोज खान छात्रों के दो गुटों के बीच फंस गए हैं।

बीएचयू मामला : मुस्लिम शिक्षक के विरोध में 12 दिनों से पढ़ाई ठप

काशी हिंदू विश्वविद्यालय स्थित संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के साहित्य विभाग में मुस्लिम शिक्षक की नियुक्त मामले पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस मामले को लेकर पिछले 12 दिनों से पठन-पाठन पूरी तरह ठप है। सूत्रों के अनुसार, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय में पिछले 12 दिनों से पठन-पाठन पूरी तरह ठप है और छात्र धरने पर बैठे हुए हैं।

और लोड करें