Omicron के विस्फोट से दहला ब्रिटेन! एक ही दिन में 101 नए मामले, पीएम जॉनसन ने बताया ‘डेल्टा’ से भी ज्यादा संक्रामक

नई दिल्ली | Omicron Blast in Britain! ब्रिटेन में दुनिया का अबतक का सबसे बड़ा ओमिक्राॅन विस्फोट हुआ है। मंगलवार को ब्रिटेन में ओमिक्रोन से संक्रमित 101 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद वहां हड़कंप मचा हुआ है। इतनी बड़ी संख्या में ओमिक्राॅन सामने आने के बाद अब ब्रिटेन में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 437 हो गई है। ब्रिटेन में लगातार बढ़ते मामलों ने सरकार की चिंताएं बढ़ा रखी है। पीएम जॉनसन ने बताया ‘डेल्टा’ से भी ज्यादा संक्रामक Omicron Blast in Britain! ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने ओमिक्राॅन को डेल्टा वैरिएंट से भी ज्यादा खतरनाक बताया है। उन्होंने मंगलवार को कहा कि, शुरुआती संकेतों से पता चलता है कि कोरोना वायरस (Britain Corona Updates) का ओमिक्राॅन वैरिएंट डेल्टा से ज्यादा संक्रामक है। ये भी पढ़ें:- Omicron को पछाड़ने वाला डाॅक्टर, फिर आया संक्रमण की चपेट में, डाॅक्टर भी हैरान! ब्रिटेन में ओमिक्राॅन का हो रहा सामुदायिक प्रसार ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री साजिद जावेद ने सोमवार को ब्रिटेन की संसद में कहा था कि कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्राॅन का देश के क्षेत्रों में सामुदायिक स्तर पर फैलना शुरू हो गया है। ये भी पढ़ें:- पंजाब चुनाव में बड़ा उलटफेर करने की तैयारी में… Continue reading Omicron के विस्फोट से दहला ब्रिटेन! एक ही दिन में 101 नए मामले, पीएम जॉनसन ने बताया ‘डेल्टा’ से भी ज्यादा संक्रामक

ब्रिटिश प्रधानमंत्री का बड़ा ऐलान, 19 जुलाई से नहीं होगा कोरोना, सभी प्रतिबंद्धो को किया जाएगा खत्म

एक तरफ सभी देशों में कोरोना के मामले कम हो रहे है। तो वहीं ब्रिटिश प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना वायरस को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है। प्रधानमंत्री जॉनसन ने कहा है कि 19 जुलाई से कोविड-19 से जुड़ी सभी पाबंदी खत्म हो जाएगी। एनएचके वर्ल्ड की रिपोर्ट के अनुसार जॉनसन ने संवाददाताओं से कहा कि इसके तहत सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना अब जरूरी नहीं होगा। ( big statement of pm Boris Johnson ) कहा जा रहा है कि कोरोना के मामले कम होने पर प्रधानमंत्री ने ऐसा ऐलान किया है। also read: कश्मीर के मुद्दे पर Pakistan के प्रधानमंत्री इमरान खान ने फिर उगला जहर, कहा – पाकिस्तान Kashmir के साथ है सोमवार से तुरंत पुरानी लाइफ में वापस नहीं आ सकते जॉनसन ने कहा कि कोरोना वैक्सीन वायरस से लड़ने में मदद करती है। शरीर में एंटीबॉडी का विका करती है। एनएचके वर्ल्ड की रिपोर्ट के मुताबिक इस बात पर प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि हॉस्पिटल में भर्ती होने और कोरोना से मौत होने  में वृद्धि जारी रह सकती है। ( big statement of pm Boris Johnson ) लेकिन ये पिछली सर्दियों की तुलना में बहुत कम होगा।… Continue reading ब्रिटिश प्रधानमंत्री का बड़ा ऐलान, 19 जुलाई से नहीं होगा कोरोना, सभी प्रतिबंद्धो को किया जाएगा खत्म

विडंबना भी चकित होगी!

जी-7 सम्मेलन में नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत अधिनायकवाद और अतिवाद से उत्पन्न खतरों से साझा मूल्यों की रक्षा के लिए जी-7 का स्वाभाविक सहयोगी है। अगले दिन पी चिदंबरम ने एक ट्विट में कहा कि प्रधानमंत्री ने अच्छा पाठ पढ़ाया है। लेकिन क्या जो सीख उन्होंने दी, उस पर खुद अमल करेंगे? अंग्रेजी में एक कहावट है कि आयरनी मस्ट हैव डायड यानी विडंबना जरूर मर गई होगी। ये कहावत तब कही जाती है, जब ऐसी विडंबना सामने आती है, जिस पर क्या कहा जाए, यो सोचना मुश्किल हो जाता है। ऐसा ही कुछ जी-7 देशों के शिखर सम्मेलन के दौरान हुआ, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उसे संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने लोकतंत्र, वैचारिक स्वतंत्रता और आजादी के लिए भारत की सभ्यतागत प्रतिबद्धता पर प्रकाश डाला। कहा कि भारत अधिनायकवाद और अतिवाद से उत्पन्न खतरों से साझा मूल्यों की रक्षा के लिए जी-7 का स्वाभाविक सहयोगी है। अगले दिन कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने एक ट्विट में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने जी-7 को अच्छा पाठ पढ़ाया। लेकिन अब मुद्दा यह है कि क्या जो सीख उन्होंने दी, उस पर खुद देश के अंदर अमल करेंगे? आखिर जी-7 देशों के नेता भी इससे अनजान नहीं हैं कि भारत… Continue reading विडंबना भी चकित होगी!

जी-7, चीन विरोध और भारत!

जी-7 याने सात राष्ट्रों के समूह का जो सम्मेलन अभी ब्रिटेन में हुआ, उसमें भारत, दक्षिण अफ्रीका, द. कोरिया और आस्ट्रेलिया को भी अतिथि के रुप में बुलाया गया था। द. कोरिया को इस समूह में न गिनें तो दस-राष्ट्रों के इस समूह ने अनेक अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर सहमति प्रकट की। इस सम्मेलन के संयुक्त वक्तव्य और नेताओं के भाषणों में सबसे ज्यादा जोर इस बात पर दिया गया कि यह समूह दुनिया में लोकतंत्र का सबसे प्रबल पक्षधर है। यह भी पढ़ें: क्या कांग्रेस पाकिस्तानपरस्त? भारत को भी इसमें इसीलिए आमंत्रित किया गया कि वह सबसे बड़ा लोकतंत्र है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस तथ्य पर गर्व प्रकट किया लेकिन असलियत क्या है ? यह ठीक है कि इन सभी देशों में लोकतांत्रिक व्यवस्था है। तानाशाही कहीं नहीं है। बहुपार्टी व्यवस्था है। वोट के दम पर सरकारें वहां उलटती-पलटती रहती हैं लेकिन ये राष्ट्र अपने आप को विश्व लोकतंत्र का ध्वजवाहक कहें, यह तर्क-संगत नहीं लगता। यह भी पढ़ें: पेट्रोल बना सिरदर्द पहली बात तो यह कि ये सात राष्ट्र कौन से हैं ? ये हैं— अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, इटली, कनाडा और जापान! इनमें से ज्यादातर राष्ट्रों ने एशिया, अफ्रीका और लातीनी अमेरिका में तानाशाहियों… Continue reading जी-7, चीन विरोध और भारत!

जी-7 बैठक के बाद चीन पर बढ़ा दबाव

लंदन। विश्व स्वास्थ्य संगठन, डब्लुएचओ के प्रमुख डॉ. टेड्रोस गेब्रयेसस ने चीन को कोरोना की उत्पत्ति को लेकर चल रही जांच में सहयोग करने को कहा है। उनका यह बयान ब्रिटेन में चल रही जी-7 शिखर सम्मेलन में शनिवार को शामिल होने के बाद आया है। डब्लुएचओ प्रमुख ने कहा है कि जांच के अगले चरण में ज्यादा पारदर्शिता रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि जांच पूरी करने के लिए हमें चीन का सहयोग चाहिए। पिछली जांच रिपोर्ट का जिक्र करते हुए टेड्रोस ने कहा कि उस रिपोर्ट के जारी होने के बाद डाटा शेयर करना मुश्किल था। खासतौर पर वह डाटा, जो कच्चे रूप में था। अमेरिकी मीडिया वॉल स्ट्रीट जनरल के मुताबिक डॉ. टेड्रोस ने कहा कि शनिवार को जी-7 देशों के नेताओं ने सम्मेलन में जांच को आगे बढ़ाने पर जोर दिया है। हम इसे अगले चरण में ले जाने की तैयारी कर रहे हैं। गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों में अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया डब्लुएचओ से जांच जल्दी आगे बढ़ाने की मांग कर चुके हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मुलाकात के बाद गुरुवार को ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना पर चल रही जांच का मुद्दा उठाया था। उन्होंने साझा बयान में कहा था कि… Continue reading जी-7 बैठक के बाद चीन पर बढ़ा दबाव

G7 Summit 2021: 47वें जी-7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे PM Modi, 12-13 जून को आउटरीच सत्रों को करेंगे संबोधित

दिल्ली । G7 Summit 2021: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) जी-7 शिखर सम्मेलन (G7 Summit) में हिस्सा लेने वाले हैं। पीएम मोदी आउटरीच सत्रों को 12 और 13 जून को संबोधित करेंगे। मोदी ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) के आमंत्रण पर डिजिटल माध्यम से इस सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। यह दूसरा मौका होगा जब प्रधानमंत्री जी-7 की बैठक में शामिल होंगे। आपको बता दें कि ब्रिटेन इस शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता कर रहा है और उसने भारत, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण कोरिया और दक्षिण अफ्रीका को जी-7 सम्मेलन में सम्मलित होने का न्यौता दिया है। जी-7 में कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, अमेरिका और ब्रिटेन के साथ ही यूरोपीय संघ है। ये भी पढ़ें:-  Good News: अब रसोई गैस भरवाने के समय आप कर सकेंगे वितरक का चुनाव, मंत्रालय ने की घोषणा पीएमओ की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि सम्मेलन का विषय बेहतर पुननिर्माण है और ब्रिटेन ने अपनी अध्यक्षता के तहत चार प्राथमिक क्षेत्र तय किए हैं। इस सम्मेलन में स्वास्थ्य और जलवायु परिवर्तन को केंद्र में रखकर कोरोना महामारी से वैश्विक रिकवरी के आगे के रास्तों पर सभी नेता अपने विचारों का आदान-प्रदान करेंगे। ये भी पढ़ें:- Rajasthan: पायलट की Flight करेगी Take Off ! मिलने पहुंचे… Continue reading G7 Summit 2021: 47वें जी-7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे PM Modi, 12-13 जून को आउटरीच सत्रों को करेंगे संबोधित

G-7 Summit 2021: PM Narendra Modi डिजिटल माध्यम से जी-7 सम्मेलन में हो सकते हैं शामिल

नई दिल्ली। ब्रिटिश प्रधानमंत्री के ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi ) अगले महीने डिजिटल माध्यम से कार्नवेल में ब्रिटेन की मेजबानी में आयोजित जी-7 सम्मेलन (G-7 Summit) की बैठक में शामिल हो सकते हैं. गौरतलब है कि इससे पहले भारत ने कहा था कि देश में कोविड-19 की स्थिति के चलते मोदी इस बैठक में शामिल होने के लिए कार्नवेल नहीं जायेंगे. यह भी पढ़ेंः-  WHO ने इशारों में कहा – चुनाव और कुंभ के कारण फैला कोरोना ,इवेंट्स में बरती गई कोताही 11-13 जून का होना है आयोजन ब्रिटिश प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन ( boris johnson ) ने ब्रिटेन की विदेश नीति में हिंद प्रशांत क्षेत्र पर विशेष बल देने के बाबत मोदी को 11-13 जून के दौरान होने वाली इस बैठक में शामिल होने का न्यौता दिया था. भारत, आस्ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया तीन अतिथि देशों में शामिल हैं. अतिथि नेताओं को जी-7 की बैठक के विशेष सत्रों में हिस्सा लेने के लिए निमंत्रित किया गया है. जी-7 में कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, अमेरिका और यूरोपीय संघ हैं. इस सम्मेलन की अध्यक्षता ब्रिटेन करेगा. यह भी पढ़ेंः- G7 Summit 2021 में हिस्सा नहीं लेंगे PM नरेन्द्र मोदी,… Continue reading G-7 Summit 2021: PM Narendra Modi डिजिटल माध्यम से जी-7 सम्मेलन में हो सकते हैं शामिल

अब क्या ब्रिटेन भी टूटेगा ?

ग्रेट ब्रिटेन ने 1947 में भारत के दो टुकड़े कर दिए थे। अब उसके भी कम से कम दो टुकड़े होने की नौबत आ गई है। यों तो ब्रिटेन ग्रेट बना है, चार राष्ट्रों को मिलाकर। ब्रिटेन, स्कॉटलैंड, वेल्श और उत्तरी आयरलैंड ! इन चारों राज्यों का कभी अलग-अलग अस्तित्व था। इनकी अपनी सरकारें थीं, अपनी-अपनी भाषा और संस्कृति थी। लेकिन ग्रेट ब्रिटेन बन जाने के बाद इन राष्ट्रों की हैसियत ब्रिटेन के प्रांतों के समान हो गई। इंग्लैंड की भाषा, संस्कृति, परंपरा का वर्चस्व इन राष्ट्रों पर छा गया लेकिन स्काटलैंड के लोग हमेशा अपनी पहचान पर गर्व करते रहे और वे अपनी स्वायत्तता के लिए संघर्ष भी करते रहे। यूरोपीय संघ बनने के बाद या यों कहिए कि द्वितीय महायुद्ध के बाद के वर्षों में स्काटलैंड के लोगों ने महसूस किया कि व्यापार और राजनीति के हिसाब से वे लोग अंग्रेजों के मुकाबले नुकसान में रहते हैं। वे स्काटलैंड को इंग्लैंड से अलग करना चाहते हैं। अलगाव की इस मांग को जोरों से गुंजाने वाली पार्टी ‘स्काॅटिश नेशनलिस्ट पार्टी’ इस बार फिर चुनाव जीत गई है। 2007 से अब तक वह लगातार चौथी बार जीती है, हालांकि 129 सदस्यों की उसकी संसद में उसे 64 सीटें ही मिली… Continue reading अब क्या ब्रिटेन भी टूटेगा ?

आगे बढ़ी अलगाव की भावना

ब्रिटेन ने आत्म-केंद्रित नजरिया अपनाते हुए खुद को यूरोपियन यूनियन से अलग किया…

PM Modi का ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के साथ कल ऑनलाइन शिखर सम्मेलन, लाॅन्च होगा ‘रोडमैप’ 2030

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) कल 4 मई को ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) के साथ ऑनलाइन शिखर सम्मेलन करेंगे. पीएम ‘रोडमैप’ 2030 को लॉन्च करेंगे. इस रोडमैप का मकसद आने वाले 10 साल में भारत और ब्रिटेन के बीच रिश्तों (India–United Kingdom Relations) और द्विक्षीय सहयोग को मजबूत करना होगा. विदेश मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार, ये रोडमैप 5 क्षेत्रों में ध्यान केंद्रित करेगा. इसमें, व्यापार, रक्षा सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन पर कार्रवाई, स्वास्थ्य सेवा समेत लोगों के बीच संबंध शामिल हैं. इस वर्चुअल बैठक से पहले ब्रिटेन ने भारत की कोरोना से जंग में मदद के लिए 100 वेंटिलेटर भेजने की तैयारी को पूरा कर लिया है. इसे भी पढ़ें-  प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) में उत्तरप्रदेश देश में प्रथम स्थान पर पहुंचा विदेश मंत्रायल के अनुसार, इस वर्चुअल समिट के माध्यम से रणनीतिक संबंधों को और गहरा करने का जोर दिया जाएगा. वहीं, पीएम मोदी और बोरिस कोरोना पर सहयोग और इससे लड़ने के वैश्विक प्रयासों पर चर्चा करेंगे. ब्रिटेन के विदेश कार्यालय ने एक बयान में कहा कि ब्रिटेन अपने सरप्लस स्टॉक से 1000 वेंटिलेटर्स भारत भेजेगा. इसका उद्देश्य यह है कि कोरोना से जूझ रहे भारत को थोड़ी मदद मिल सके. इसे… Continue reading PM Modi का ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के साथ कल ऑनलाइन शिखर सम्मेलन, लाॅन्च होगा ‘रोडमैप’ 2030

कोरोना से दहशत! Air India ने 24 से 30 अप्रेल तक भारत से ब्रिटेन जाने वाली सभी उड़ाने की रद्द

नई दिल्ली। भारत में कोरोना संक्रमण (Covid 19) की दूसरी सबसे खतरनाक लहर के बीच ब्रिटेन ने हाल ही में अपने देश में भारतीय यात्रियों के आने पर पाबंदी लगाई है। ऐसे में अब एयर इंडिया ने 24 से 30 अप्रेल तक के लिए ब्रिटेन जाने वाली सभी उड़ानें रद्द कर दी हैं। यह भी पढ़ें:-  Corona Update: मई के मध्य तक अपने चरम पर होगा कारोना, जानें अर्थव्यवस्था पर होगा क्या असर एयर इंडिया ने जानकारी देते हुए कहा कि, जो यात्री भारत और यूके के बीच यात्रा करने वाले थे, वे ध्यान दें कि यूके की ओर से लगाए गए हालिया प्रतिबंधों की वजह से 24 से 30 अप्रेल 2021 तक यूके (UK) के लिए सभी उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। यात्रा के नए समय, रिफंड के बारे में जल्दी जानकारी दी जाएगी। यह भी पढ़ें:- राजस्थान सरकार का आदेश! अब सब्जी, दूध, किराने का सामान बेचने वालों को भी लगेगा कोरोना का टीका ब्रिटेन ने भारत को उन देशों की ‘रेड लिस्ट’ (Red List) में डाल दिया है, जिसके तहत गैर-ब्रिटिश और आइरिश नागरिकों के भारत से ब्रिटेन जाने पर पाबंदी रहेगी। साथ ही विदेश से लौटे ब्रिटिश लोगों के लिए होटल में 10 दिन तक क्वारंटीन में… Continue reading कोरोना से दहशत! Air India ने 24 से 30 अप्रेल तक भारत से ब्रिटेन जाने वाली सभी उड़ाने की रद्द

आईसीयू में भर्ती हुए बोरिस जॉनसन

कोरोना वायरस के लक्षणों से निजात न मिलने की वजह से अस्पताल में भर्ती हुए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की स्थिति बिगड़ने के बाद उन्हें सघन निगरानी कक्ष (आईसीयू) में रखा गया है। 10 डाउनिंग स्ट्रीट ने यह जानकारी दी।

कोविड-19 संबंधी जांचों के लिए अस्पताल में भर्ती हुए बोरिस जॉनसन

जॉनसन के डॉक्टर की सलाह पर “एहतियाती कदम” के तौर पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बोरिस जॉनसन और स्वास्थ्य मंत्री संक्रमित

लंदन। ब्रिटेन में कोरोन वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच अब देश के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी इसके शिकार हो गए हैं। ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स के बाद अब वे दूसरी बड़ी हस्ती हैं, जो इससे संक्रमित हुए हैं। खबर है कि उनके स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक भी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। बोरिस जॉनसन और उनके स्वास्थ्य मंत्री ने शुक्रवार को ट्विट कर अपने संक्रमित होने की जानकारी दी। जॉनसन ने कहा- मुझमें संक्रमण के लक्षण थे। जांच पॉजिटिव आने के बाद मैंने खुद को आइसोलेट कर लिया है। उन्होंने कहा कि मैं वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए काम करते रहेंगे। उनके संक्रमित होने की खबर आने के कुछ देर बाद ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने भी खुद के संक्रमित होने की जानकारी दी। उन्होंने ट्विटर पर कहा- डॉक्टरों ने मुझे कोरोना टेस्ट का सुझाव दिया था। इसका रिजल्ट पॉजिटिव आया है। शुरुआती लक्षण गंभीर नहीं हैं। मैं सेल्फ आइसोलेशन में घर से काम कर रहा हूं। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जॉनसन के संक्रमित होने के बाद उनके जल्दी स्वस्थ होने की कामना की। जॉनसन के कोरोना संक्रमित होने की खबर आने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने एक ट्विट किया। ब्रिटिश पीएम को टैग… Continue reading बोरिस जॉनसन और स्वास्थ्य मंत्री संक्रमित

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री कोरोना पॉजिटिव

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने शुक्रवार को खुलासा किया कि वह कोरोना पॉजिटिव हैं, साथ ही उन्होंने कहा कि वह सेल्फ-आइसोलेशन में रहते हुए अपना काम करते रहेंगे।

और लोड करें