किसान आंदोलन पर बोले शाह- ‘फैसला’ गलत हो सकता है, लेकिन ‘नियत’ नहीं…

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार में कुछ फैसले गलत हो सकते हैं लेकिन सरकार की नीयत पर…

China : कोरोना को भगाने के लिए कुत्तों को बेरहमी से मार रहे हैं स्वास्थ्यकर्मी, वायरल हुआ वीडियो

चीन में स्वास्थ्यकर्मी कोरोना प्रोटोकॉल के नाम पर कुत्तों को पीट-पीटकर मार डाला गया. बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य कर्मियों…

पहले लिखकर दो कि वैक्सीन लगाने के बाद कुछ नहीं होगा, कुछ हुआ तो जिम्मेवार…., ग्रामीण महिला ने SP के सामने रखी ये शर्त

मध्यप्रदेश के बैतूल में टीकाकरण जागरूकता अभियान के दौरान एसपी सिमाला प्रसाद को अजीबोगरीब स्थिति का सामना करना पड़ा….

Lockdown Returns! दिवाली से पहले पश्चिम बंगाल में यहां लगा लाॅकडाउन, इमरजेंसी सेवाओं को छोड़ बाजार बंद

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से सोनारपुर सिर्फ 20 किलोमीटर की दूरी पर है। ऐसे में संक्रमण को रोकने के लिए ये अहतियातन कदम उठाया गया है। सोनारपुर में अब तक 19 कंटेनमेंट जोन घोषित किए गए हैं।

Russia china Corona Update : वैक्सीनेशन नहीं कराने का भरना पड़ रहा है हर्जाना, रूस में एक बार फिर सामने आए 37678 मामले…

एक बार फिर से चीन और रूस में तेजी से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है. आज भी चीन में 38 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं….

Good News : एक्सपर्ट्स ने कहा- तीसरी लहर की आशंका नहीं लौट रहा है कोरोना, बरतते रहें सावधानी…

अक्टूबर-नवंबर में वैज्ञानिकों ने भविष्यवाणी की थी कि तीसरी लहर अपने चरम पर होगी. हालांकि ये राहत वाली…

Corona update: दूसरे दिन भी बढ़े केस, केरल में एक बार फिर संक्रमितों की संख्या बढ़नी शुरू

केरल में एक बार फिर संक्रमितों की संख्या बढ़नी शुरू हुई है, जिसकी वजह से शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या में इजाफा हुआ है।

केरल में फिर बढ़े केस

केरल में एक हफ्ते के बाद एक बार फिर कोरोना संक्रमण के केसेज में बढ़ोतरी हुई है। गुरुवार को 24 घंटे में मिले संक्रमितों की संख्या 22 हजार से ऊपर पहुंच गई।

मायानगरी पहुंचा ‘मुंबई छा राजा’, देखें कोरोना के साये में कहां कैसी हुई पूजा

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में गणेश उत्सव की अलग ही धूम होती है. कोरोना के साए में इस बार गणपति महोत्सव काफी सतर्कता से मनाया जा रहा है…

तीसरी लहर के खौफ के बीच बड़ी राहत, कोरोना के नए मामलों आई कमी – जानिए पिछले 24 घंटे में कितने केस आए?

कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच देश को बड़ी राहत मिली है। बीते एक दिन में 28,204 नए केस दर्ज किए गए हैं। इसके अलावा 373 लोगों की बीते एक दिन में कोरोना के चलते मौत हुई है।

मांझी के विरोध का बड़ा मतलब

बिहार में भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कोरोना मामले में केंद्र सरकार और भारतीय जनता पार्टी का विरोध किया है। उन्होंने ऐसी बात कही है, जो सरकार के विरोधी भी नहीं कह रहे हैं। मांझी ने कहा कि जिस तरह से वैक्सीन के सर्टिफिकेट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो लगाई जा रही है वैसे ही कोरोना से होने वाली मौतों में डेथ सर्टिफिकेट पर भी प्रधानमंत्री की ही फोटो लगे। जाहिर है उन्होंने कोरोना से होने वाली मौतों के लिए परोक्ष रूप से केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया। पर सवाल है कि उन्होंने ऐसा क्यों किया? किसी ने इस पर टिप्पणी नहीं की है लेकिन सरकार और विपक्ष दोनों से अलग लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान ने इस बयान के लिए मांझी पर निशाना साधा। पर उन्होंने भी सिर्फ इतना कहा कि मांझी जान-बूझकर भाजपा के खिलाफ बोल रहे हैं। अब यह कहने की बात नहीं थी, वे जान-बूझकर ही बयान दे रहे थे। पर क्या उन्होंने किसी के इशारे पर यह बयान दिया है? क्या भाजपा की सहयोगी जनता दल यू के नेता चाहते हैं कि इस तरह का बयान दिया जाए? ध्यान रहे बिहार में भाजपा और जदयू… Continue reading मांझी के विरोध का बड़ा मतलब

कोरोना को मात करेगा भारत

कोरोना के विरुद्ध भारत में अब एक परिपूर्ण युद्ध शुरु हो गया है। केंद्र और राज्य की सरकारें, वे चाहे किसी भी पार्टी की हों, अपनी कमर कसके कोरोना को हराने में जुट गई हैं। इन सरकारों से भी ज्यादा आम जनता में से कई ऐसे देवदूत प्रकट हो गए हैं, जिन पर कुर्बान होने को जी चाहता है। कोई लोगों को आक्सीजन के बंबे मुफ्त में भर-भरकर दे रहा है, कोई मरीजों को मुफ्त खाना पहुंचवा रहा है, कोई प्लाज्मा-दानियों को जुटा रहा है और कोई ऐसे भी हैं, जो मरीजों को अस्पताल पहुंचाने का काम भी सहज रुप में कर रहे हैं। हम अपने उद्योगपतियों को दिन-रात कोसते रहते हैं लेकिन टाटा, नवीन जिंदल, अडानी तथा कई अन्य छोटे-मोटे उद्योगपतियों ने अपने कारखाने बंद करके आक्सीजन भिजवाने का इंतजाम कर दिया है। यह पुण्य-कार्य वे स्वेच्छा से कर रहे हैं। उन पर कोई सरकारी दबाव नहीं है। मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज चौहान की पहल पर ऑक्सीजन की रेलें चल पड़ी हैं। हजारों टन तरल आक्सीजन के टैंकर अस्पतालों को पहुंच रहे हैं। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ऑक्सीजन -परिवहन का शुल्क भी हटा लिया है। हमारे लाखों डॉक्टर, नर्सें और सेवाकर्मी अपनी जान पर खेलकर लोगों की जान… Continue reading कोरोना को मात करेगा भारत

कुप्रबंधन की ये कीमत है

दिल्ली के गंगाराम और जयपुर गोल्डेन अस्पतालों में मरीजों की मौत इसलिए हो गई, क्योंकि वहां ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति नहीं हो पाई। अस्पताल और उनके साथ-साथ मरीज किस तरह आज ऑक्सीजन के लिए हांफते हुए दम तोड़ रहे हैं, उसकी हृदय विदारक खबरों ने लोगों के मन- मस्तिष्क को लगातार झकझोरे रखा है। ये हालत क्यों पैदा हुई, इस बारे में पिछले हफ्ते दिल्ली हाई कोर्ट ने जो टिप्पणी की, उसके बाद ज्यादा कुछ कहने को नहीं रह जाता है। जाहिरा तौर पर कोर्ट ने इसके लिए केंद्र सरकार को जवाबदेह ठहराया। बेशक ये सारा मामला आपदा का अनुमान लगाने और उसके मुताबिक कुशल प्रबंधन करने में नाकामी का है। ये बात तो खुद सरकार की तरफ से कही गई है कि देश में ऑक्सीजन की कमी नहीं है। अगर मेडिकल ऑक्सीजन की कमी हुई भी, तो उसकी भरपाई औद्योगिक ऑक्सीजन का इस मकसद के लिए उपयोग करके हो सकता था। गौरतलब है कि जब हालात बेकाबू हो गए तो केंद्र अब सरकार ने नौ आवश्यक उद्योगों को छोड़ कर बाकी सारे ऑक्सीजन की आपूर्ति अस्पतालों को करने का आदेश दिया। कहने का तात्पर्य यह कि सारा मसला जरूरत को समझने, प्राथमिकता तय करने और उसके मुताबिक उचित फैसला… Continue reading कुप्रबंधन की ये कीमत है

मोदी सरकार से दिल्ली लावारिस मरघट!

कोरोना वायरस के अभूतपूर्व संकट के बीच राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली एक ऐतिहासिक मोड़ पर है, जहां अब हर हाल में यह तय किया जाना चाहिए कि दिल्ली की प्रशासकीय स्थिति क्या रहेगी? अपनी अनोखी प्रशासकीय स्थिति की वजह से राष्ट्रीय राजधानी को दूसरे राज्यों के मुकाबले ज्यादा भयावह संकट का सामना करना पड़ रहा है। महाराष्ट्र से लेकर मध्य प्रदेश, गुजरात और हरियाणा या छत्तीसगढ़ में भी बड़ा संकट है। बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं और मर भी रहे हैं लेकिन वहां कम से कम एक सरकार संकट का प्रबंधन करती दिख रही है। परंतु राष्ट्रीय राजधानी होने के बावजूद दिल्ली में संकट भयावह रूप लेता जा रहा है और मुख्यमंत्री असहाय दिख रहा है। ऐसा लग रहा है कि देश की राजधानी होने के बावजूद दिल्ली लावारिस है। एक असहाय मुख्यमंत्री, मुख्यमंत्री के अधिकारों से लैस एक नौकरशाह उप राज्यपाल और दिल्ली की सत्ता पर कब्जे के लिए हर किस्म का प्रयास करते प्रधानमंत्री और गृह मंत्री तो दिख रहे हैं पर दिल्ली के लोगों के संकट का कोई समाधान नहीं दिख रहा है। ऐसा इसलिए है क्योंकि दिल्ली की सत्ता सबको चाहिए पर दिल्ली के लोगों का दर्द दूर करने वाला कोई नहीं है। दिल्ली… Continue reading मोदी सरकार से दिल्ली लावारिस मरघट!

ऑक्सीजन संकट जस का तस, मरीजों की स्थिति गंभीर

नई दिल्ली। ऑक्सीजन की कमी दूर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खुद कमान संभालने के बावजूद संकट दूर नहीं हो रहा है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से लेकर पड़ोस के राज्य हरियाणा सहित कई और राज्यों में ऑक्सीजन का संकट जारी है। हरियाणा के रेवाड़ी में रविवार की सुबह एक निजी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी होने से कोरोना संक्रमित चार मरीजों की मौत हो गई। कई और मरीजों की स्थिति गंभीर है और परिजनों का आरोप है कि ऑक्सीजन की कालाबाजारी हो रही है। रविवार की शाम को गुरुग्राम के मेट्रो अस्पताल ने एक ट्विट करके एसओएस अपील करते हुए कहा कि अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने वाली है और अगर जल्दी ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं हुई तो मरीजों की जान जा सकती है। अस्पताल में 70 मरीज भरती हैं। इससे एक दिन पहले शनिवार को गुरुग्राम के दो अस्पतालों- मैक्स और मेयोम हॉस्पिटल में इसी तरह ऑक्सीजन की कमी हो गई थी। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पिछले एक हफ्ते से ऑक्सीजन की कमी का संकट चल रहा है। दिल्ली में सात सौ मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत है लेकिन चार सौ मीट्रिक टन की भी आपूर्ति नहीं हो पा रही है। ऑक्सीजन की कमी दूर करने के… Continue reading ऑक्सीजन संकट जस का तस, मरीजों की स्थिति गंभीर

और लोड करें