क्वरैंटाइन नियम से 99 देशों को छूट

कोरोना वायरस का संक्रमण कम होने के बाद भारत ने कई तरह की पाबंदियों से छूट देनी शुरू कर दी है।

News Rules : ‘वर्किंग आवर’ के अलावा कंपनी ने फोन कर किया कर्मचारी को परेशान तो होगी कानूनी कार्रवाई…

अब लोग घर बैठे भी ऑफिस के काम से बच नहीं सकते और उन्हें ऑफिस के फोन अटेंड करना ही पड़ता है. इस संबध में पुर्तगाल की सत्ताधारी सोशलिस्ट पार्टी ने एक अध्यादेश जारी…

रूस, चीन, यूरोप सब जगह संक्रमण बढ़ा

यूरोपीय संघ के देशों में भी संक्रमितों में तेजी से इजाफा होने लगा। संक्रमितों की संख्या 25 करोड़ के करीब।

Bartering System का प्रयोग करने के लिए मजबूर हुए लोेग, कैश की हो गई है किल्लत…

अफगानिस्तान में रहने वाले लोग अब जिंदगी और मौत की लड़ाई से जूझ रहे हैं. एक और कोरोना महामारी…

Russia china Corona Update : वैक्सीनेशन नहीं कराने का भरना पड़ रहा है हर्जाना, रूस में एक बार फिर सामने आए 37678 मामले…

एक बार फिर से चीन और रूस में तेजी से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है. आज भी चीन में 38 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं….

अजब-गजब : कपल को हुआ कोरोना तो सरकार ने मरवा दिये 12 कुत्ते…

कपल के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद सरकार ने उनके साथ रहने वाले 12 पालतू कुत्तों को भी मौत के घाट उतार दिया. बता दें कि…

एक्टिव केस घट कर दो लाख

देश में कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या में कमी आने का सिलसिला जारी है। मंगलवार को लगातार दूसरे दिन संक्रमितों की संख्या 15 हजार के आसपास रही।

संक्रमण में बड़ी कमी

शनिवार को संक्रमितों की संख्या 20 हजार से कम। मरने वालों की संख्या भी दो सौ से नीचे।

सचमुच जैसा भारत में हुआ वैसा कहीं नहीं हुआ!

हां, सचमुच जैसा भारत में हुआ वैसा कहीं नहीं हुआ! दुनिया के किसी भी देश में ऐसा पलायन नहीं हुआ और किसी देश ने इतने बेसहारा लोगों को सड़कों पर मरने के लिए नहीं छोड़ा।

PM Modi Biden Meet : पीएम मोदी और जो बाइडन की मुलाकात पहले राकेश टिकैट ने की ऐसी हरकत की होने लगे ट्रोल…

मुलाकात को किसान नेता राकेश टिकैत ने भी भुनाने की कोशिश की है. आज रात होने वाली इस बैठक के पहले राकेश टिकैत ने ट्वीट एक…

अमीर ‘नॉर्मल’ और गरीब ‘रामभरोसे’!

अमीर देशों में सबसे ज्यादा खौफ, सबसे ज्यादा मौतें हुईं तो सबसे पहले वे महामारी के बीच में ‘नॉर्मल’ होते हुए, आगे बढ़ रहे हैं।

‘नॉर्मल’ दुनिया और भारत

सितंबर 2020 और सितंबर 2021 का फर्क है कि संयुक्त राष्ट्र की महासभा के भाषण में राष्ट्रपति बाइडेन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग ने जलवायु संकट पर फोकस किया न कि महामारी पर।

वैक्सीन का भेदभाव कैसे खत्म होगा?

देश के भीतर ही कितने राज्यों के नागरिकों के साथ वैक्सीन की डोज लगवाए होने के बावजूद कैसा भेदभाव कर रहे हैं और यहीं काम ब्रिटेन ने कर दिया तो हमने हायतौबा मचा रखी है।

मंत्रालयों में पत्रकारों की एंट्री बंद

कुछ मामलों में तो कोरोना वायरस की आपदा ने अवसर का काम किया है और कुछ मामलों में मंत्रियों ने सीधे सीधे पत्रकारों की एंट्री बंद कर दी है। संसद में भी पत्रकारों की एंट्री बहुत सीमित हो गई है।

Jharkhand में 6 से 8 तक की कक्षाएं आफलाइन शुरू, स्कूलों में लौटी पुरानी रौनक

झारखंड में क्लास 6 से 8 तक की कक्षाएं सोमवार से आफलाइन शुरू होने के बाद स्कूलों में पुरानी रौनक लौट आयी है।

और लोड करें