क्या कश्मीर में इस साल होगा चुनाव?

जम्मू कश्मीर में जिला विकास परिषद यानी डीडीसी के चुनाव बहुत सफल रहे। 280 सीटों के लिए आठ चरण में हुए चुनाव में हर बार 50 फीसदी से ऊपर मतदान हुआ।

अगर जनमत की कद्र होती!

जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनावों के नतीजे को सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी ने तोड़-मरोड़ कर पेश करने की कोशिश। इसे अपनी जीत बताया।

जम्मू-कश्मीर चुनाव का अर्थ

जम्मू-कश्मीर के जिला विकास परिषद के चुनाव-परिणामों का क्या अर्थ निकाला जाए? उसकी 280 सीटों में से गुपकार गठबंधन को 144 सीटें, भाजपा को 72, कांग्रेस को 26 और निर्दलीयों को बाकी सीटें मिली हैं।

जम्मू कश्मीर चुनाव के सबक

जम्मू कश्मीर में हुए जिला विकास परिषद यानी डीडीसी चुनाव के नतीजों के कई सबक हैं और साथ ही सवाल भी। इनमें से कुछ सवाल पूरे देश के लिए हैं और कुछ वहां के स्थानीय नागरिकों और पार्टियों के लिए।

कश्मीर में ‘गुपकर गैंग’ चाहती है अशांति: शाह

जम्मू कश्मीर में स्थानीय निकाय के चुनावों से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को गुपकर घोषणापत्र गठबंधन

कश्मीर की पार्टियां को आई सद्बुद्धि!

जम्मू कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों को सद्बुद्धि आ गई है। पीपुल्स एलायंस फॉर गुपकर डिक्लरेशन यानी पीएजीडी बनाने वाली पार्टियों ने ऐलान किया है कि वे डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट कौंसिल यानी डीडीसी के चुनाव में हिस्सा लेंगी।