आंदोलनजीवियों का सच

दिल्ली सीमा पर कृषि-सुधार कानून विरोधी आंदोलन को ढाई माह से ऊपर हो गया है। यह कब समाप्त होगा- कहना कठिन है। किंतु इस आंदोलन में कुछ सच्चाइयां छिपी है, जिससे हमें वास्तविक स्थिति को समझने में सहायता मिलती है।

आंदोलन के पक्ष में हो रही महापंचायत पर टिकैत ने रखी अपनी बात

कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है ऐसे में आंदोलन को तेज और देशभर में फैलाने के लिए विभिन्न हिस्सों में महापंचायतें हो रही हैं, जिसमें राकेश टिकैत शामिल हो रहे हैं।

आंदोलन तेज करने की मुहिम में जुटे किसान यूनियन

दिल्ली की सीमाओं पर चले रहे किसान आंदोलन का आज 78वां दिन है। इस आंदोलन की चर्चा सड़क से संसद तक हो रही है, लेकिन इसे समाप्त करने की दिशा में नई पहल फिलहाल होती नहीं दिख रही है।

किसान आंदोलन का आज 74वां दिन, रणनीति में बदलाव

देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं — सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर पर बैठे किसानों के आंदोलन का 74वां दिन है।

संजय राउत पहुंचे गाजीपुर बॉर्डर, कहा – आंखों में आंसू देख नहीं रह सके

कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन जारी है, ऐसे में गणतंत्र दिवस के बाद से बॉर्डर पर राजनीतिक पार्टियों के नेताओं का आना बदस्तूर जारी है।

बॉर्डर पर लगे बैरिकेड के पास टिकैत ने जमीन पर बैठकर खाया खाना

कृषि कानूनों पर दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। पुलिस की तरफ से बॉर्डर को पूरी तरह सील कर दिया गया है।

कांग्रेस दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी किसानों के समर्थन में उतरे

कृषि कानून को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का प्रदर्शन जारी है, ऐसे में राजनीतिक पार्टियों के नेताओं का धरना स्थलों पर आने का सिलसिला भी जारी है।

जवान और किसान की परेड!

गणतंत्र दिवस के मौके पर 26 जनवरी को पहली बार जवान और किसान दोनों की परेड होने वाली है। राजपथ पर देश के वीर जवानों की परेड होगी और देश की शक्ति का प्रदर्शन होगा तो दिल्ली और आसपास की सड़कों पर किसानों की परेड होगी।

किसानों की ट्रैक्टर परेड के लिए तैयार हुआ ब्ल्यू प्रिंट

कृषि कानूनों पर दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का प्रदर्शन जारी है। ऐसे में गाजीपुर बॉर्डर पर हजारों की संख्या में ट्रैक्टर आ चुके हैं, जो गणतंत्र दिवस पर परेड में शामिल होंगे।

किसान आंदोलन से गन्ने की कटाई, पेराई बेअसर, 25 फीसदी ज्यादा उत्पादन

देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन से गन्ने की कटाई व पेराई पर कोई असर नहीं पड़ा है और गुड़ का उत्पादन पिछले साल से 25 फीसदी ज्यादा हो रहा है।

सिंघु बॉर्डर : प्रदर्शन के चलते पेट्रोल पंप ठप, कर्मचारियों की तनख्वाह पर असर

केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों पर पिछले 52 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का धरना जारी है। लेकिन अब दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर स्थित कई पेट्रोल पंप को इस आंदोलन की मार झेलनी पड़ रही है।

ठंड, बारिश के बीच किसान आंदोलन 39वें दिन जारी

कड़ाके की ठंड और बारिश के बीच देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर डेरा डाले किसानों के आंदोलन का आज 39वां दिन है।

किसानों के कल्याण के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है मोदी सरकार : तोमर

लगभग एक महीने से दिल्ली की सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने आज फिर से आश्वासन दिया है कि मोदी सरकार उनके कल्याण के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।

किसानों का आंदोलन 28वें दिन जारी, सरकार से वार्ता पर आज फैसला लेंगे किसान

देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन बुधवार को 28वें दिन जारी है और सरकार से अगले दौर की वार्ता को लेकर प्रदर्शनकारी किसान संगठनों के नेता फैसला ले सकते हैं।

किसान आंदोलन से 14 हजार करोड़ रुपए का नुक़सान

कारोबारियों के संगठन अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ ने दावा किया है कि दिल्ली की सीमाओं पर धरने पर बैठे हुए कुछ राज्यों के किसानों के आंदोलन से दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान एवं उत्तर प्रदेश के क्षेत्रों में लगभग 14 हजार करोड़ रुपए का बड़ा नुक़सान हुआ है।

और लोड करें