Corona Epidemic : Oxygen नहीं मिली तो पति को मुंह से सांस देती रही महिला, फिर भी नहीं बचा जा सकी जान

आगरा | कोरोना महामारी का प्रकोप सभी जगह फैला हुआ है और कोरोना Corona के मामलें लगातार बढ़ते ही जा रहे है कोरोना तेजी से सभी राज्यों में बढ़ता जा रहा है कोरोना Corona को लेकर आगरा में एक मामला सामने आया है सांस लेने में तकलीफ से जूझ रहे अपने पति को लेकर तीन-चार अस्पतालों के चक्कर काटने के बाद रेणू सिंघल एक ऑटो रिक्शा से एक सरकारी अस्पताल (Government Hospital) पहुंची और उन्होंने अपने पति को मुंह से भी सांस देने की कोशिश की लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि शहर के आवास विकास सेक्टर सात की रहने वाली रेणू सिंघल अपने पति रवि सिंघल (47) को सरोजिनी नायडू मेडिकल कॉलेज (SNMC) एंड हॉस्पिटल लेकर आई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक उसके पति को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी और उसे बचाने की जुगत में रेणू ने उसे अपने मुंह से भी सांस देने की कोशिश की। रेणू को एंबुलेंस भी उपलब्ध नहीं हो पाई। इसे भी पढ़ें – Covishield Price : गैरो पे करम अपनों पे सितम..भारत में बनी कोविशील्ड भारत में ही सबसे महंगी एसएनएमसी (SNMC) के डॉक्टरों ने रवि को मृत घोषित कर दिया। इससे पहले तीन-चार निजी अस्पतालों ने रेणू… Continue reading Corona Epidemic : Oxygen नहीं मिली तो पति को मुंह से सांस देती रही महिला, फिर भी नहीं बचा जा सकी जान

भंडारा अस्पताल में बच्चों की मौत पर मोदी ने जताया शोक

महाराष्ट्र के भंडारा जिले के सरकारी अस्पताल में आग लगने से 10 नवजात शिशुओं की मौत की घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गहरा दुख जताया है।

व्यापमी और बाजारू पाटों में पिसता देश का गौरव!

ज्यादा नहीं, सिर्फ बीस पच्चीस साल पहले तक, आरक्षण रूपी नासूर के बावजूद, सारे बड़े सरकारी अस्पताल और मेडिकल कालेज अपने सटीक उपचार और समर्पित ज्ञानी चिकित्स्कों के लिए मशहूर थे।

कोरोना: पुडुचेरी सरकारी अस्पताल के 54 कर्मचारी निलंबित

पुडुचेरी जिला प्रशासन ने एक सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल के कर्मचारियों को दो अप्रैल को ड्यूटी से नदारद रहने के आरोप में निलंबित कर दिया। इस अस्पताल को कोविड-19 अस्पताल बनाया गया था।

तेलंगाना में 2 और लोगों में कोरोना की पुष्टि

हैदराबाद। तेलंगाना के एक सरकारी अस्पताल में दो और लोगों में कोरोनावायरस (कोविड-19) की पुष्टि हुई है। हालांकि उनके नमूनों को दोबारा से परीक्षण के लिए पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) भेजा गया है। तेलंगाना में दो दिन पहले ही कोविड-19 का पहला मामला सामने आया था। अब गांधी अस्पताल में दो और व्यक्तियों के नमूने सकारात्मक आए हैं, लेकिन अधिकारियों ने पुष्टि के लिए उनके नमूने एनआईवी को भेज दिए हैं। अधिकारियों ने कहा कि इनमें से एक व्यक्ति इटली गया था, जबकि दूसरा व्यक्ति कोरोना वायरस के संक्रमण से पीड़ित पहले व्यक्ति के संपर्क में आ गया, जिससे वह भी इस खतरनाक वायरस की चपेट में आ गया। जन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण निदेशक ने कहा कि मंगलवार को कोविड-19 के 47 नमूनों का परीक्षण किया गया और उनमें से 45 नमूनों को नकारात्मक पाया गया। उन्होंने कहा कि आगे के परीक्षण के लिए दो नमूने एनआईवी पुणे भेजे जा रहे हैं। रिपोर्ट कल (गुरुवार) तक आने की उम्मीद है। मरीजों को गांधी अस्पताल में अलग-थलग रखा गया है। अधिकारी ने कहा कि जिन 45 लोगों की रिपोर्ट नकारात्मक आई थी, उन्हें छुट्टी दे दी गई और 14 दिनों के लिए खास एहतियात बरतते हुए घर… Continue reading तेलंगाना में 2 और लोगों में कोरोना की पुष्टि

भाजपा की चार महिला सांसद करेंगी राजस्थान में बच्चों की मौत की जांच

राजस्थान के सरकारी अस्पताल में एक महीने में 77 से अधिक बच्चों की मौत को भाजपा ने गंभीरता से लिया है। भाजपा ने मामले की जांच के लिए आज चार महिला सांसदों की फैक्ट-फाइंडिंग टीम गठित की है।

और लोड करें