राजस्थान सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन, कावड़ यात्रा पर रोक के साथ धार्मिक आयोजन पर भी पाबंदी

जयपुर |  राजस्थान में कोरोना के मामले कम होने लगे है। कोरोना की दूसरी लहर हाल ही में होकर गुजरी है। उस समय गहलोत सरकार ने लॉकडाउन संबंधी कुछ पाबंदी लगा रखी थी। लेकिन अब धीरे-धीरे उनमें छूट दी जा रही है। बता दें कि सावन का पवित्र महीने शुरु होने जा रहा है। और इस महीने में प्रसिद्ध कावड़ यात्रा भी होती है। लेकिन लगातार दूसरे साल कावड़ यात्रा पर कोरोना का संकट मंडरा रहा है। इस पर गहलोत सरकार के गृह विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार कावड़ यात्रा रद्द करने का पैसला लिया है। कावड़ा यात्रा के अलावा सभी धार्मिक यात्राओं, जुलूस एवं मेले में जाने की अनुमति नहीं होगी। ऐसा कोई आयोजन नहीं होगा जहां पर भीड़ एकत्रित हो। मुस्लिम समुदाय को ईद- उल- जुहा पर इक्कठे होकर इबादत करने की अनुमति नहीं होगी। गृह विभाग की गाइडलाइन के अनुसार स्विमिंग पूल खोलने की अनुमति नहीं होगी। ( raj govt new guidlines ) इसके अलावा सार्वजनिक उद्यान सुबह 5:00 से शाम 4:00 बजे तक खोलने की अनुमति होगी। जिन व्यक्तियों ने वैक्सीन की प्रथम डोज लगा ली है उन्हें शाम 4:00 बजे से शाम 8:00 बजे तक सार्वजनिक उद्यान में जाने की अनुमति होगी। साथ ही सरकार… Continue reading राजस्थान सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन, कावड़ यात्रा पर रोक के साथ धार्मिक आयोजन पर भी पाबंदी

ओवैसी की ‘फैन फॉलोइंग’के सामने कौन पूछता है कोरोना को ! UP में लगने लगा नेताओं का मेला

लखनऊ | Uttar Pradesh Election 2022: कोरोना की तीसरी लहर के चर्चाएं जोरों पर है. लेकिन राजनेताओं को कहां जनका की फिक्र पड़ी है. फिलहाल तो देश की लगभग सभी प्रमुख राजनीतिक पार्टियों को बस अगले साल उत्तर प्रदेश में होने वाला विधानसभा का चुनाव दिख रहा है. यहीं कारण है कि एक के बाद एक कई बड़े नेता उत्तर प्रदेश का दौरा करने में लगे हैं. इसी क्रम में AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी गाजियाबाद पहुंचे. यहां पहुंच कर उन्होंने अपनी पार्टी के नए ऑफिस का उद्घाटन किया. गाजियाबाद के बाद ओवैसी हापुड़ भी गए जहां पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया. ओवैसी के स्वागत की तस्वीरें डराने वाली हैं. हजारों की संख्या में उपस्थित कार्यकर्ताओं के चेहरे पर ना तो मास्क नजर आ रहा था ना ही सोशल डिस्टेंस का ही किसी को ख्याल था. इस दौरान राज्य और केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए सभी गाइडलाइन को ताक पर रखा गया. उत्तर प्रदेश में पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले इस बार हमारा संगठन 70 ज़िलों में मज़बूत है। प्रदेश में हम अपने संगठन को मज़बूत करेंगे। 80-100 विधानसभा सीटों पर लगभग 70% बूथों पर AIMIM पार्टी की पकड़ है: AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी pic.twitter.com/QKT6Szk20J —… Continue reading ओवैसी की ‘फैन फॉलोइंग’के सामने कौन पूछता है कोरोना को ! UP में लगने लगा नेताओं का मेला

Rajasthan : बगैर वैक्सीनेशन के भक्तों को दर्शन नहीं देंगे सांवलिया सेठ और ब्रह्माजी, खाटुश्यामजी और सालासर बालाजी के दर्शनों के लिए करना होगा और इंतजार

चित्तौड़गढ़ |  कोरोना की दूसरी लहर गुजरने के बाद कोरोना के मामले कम होने लगे है। इसी कारण सरकार भी अनलॉक की प्रक्रिया में छूट देने लगी है। हाल ही में सरकार ने अनलॉक-3 की गाइडलाइन ज़ारी की है। अब नई गाइडलाइन के मुताबिर प्रदेश में धार्मिक स्थल खोलने की अनुमति मिल गई है। चित्तौड़गढ़ में स्थित और विश्व प्रसिद्ध सांवलिया सेठ जी का मंदिर और पुष्कर के ब्रह्माजी मंदिर को भी आज से भक्तों के  ( rajasthan temple open )लिए खोल दिया गया है। मंदिर में बिना वैक्सीनेशन के किसी भी भक्त को अनुमति नहीं मिलगी। दर्शन के लिए आपको वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाना होगा। मंदिर खुलने की सूचना मिलते ही भक्तों की भीड़ मंदिर में पहुंचने लगी है। कोरोना काल के बाद यह मंदिर खुले है। अप्रैल के अंतिम सप्ताह से ही लॉकडाउन लगाया था। इसी के साथ गहलोत सरकार ने पूरे राजसेथान को लॉक किया था। लेकिन अब जैसे-जैसे कोरोना के मामलों में गिरावट होने लगी है वैसे ही छूट का प्रावधान किया जा रहा है। also read: Ujjain: कालों के काल ‘Mahakal’ के आज से खुले दर्शन, श्रद्धालुओं को रखना होगा इन बातों का ध्यान सुबह 5.30 बजे से दोपहर 4 बजे तक खुलेंगे मंदिर ( rajasthan temple… Continue reading Rajasthan : बगैर वैक्सीनेशन के भक्तों को दर्शन नहीं देंगे सांवलिया सेठ और ब्रह्माजी, खाटुश्यामजी और सालासर बालाजी के दर्शनों के लिए करना होगा और इंतजार

unlock rajasthan: 1 जून से अनलॉक होने जा रहा राजस्थान लेकिन तीसरी लहर से बचने के लिए रहना होगा ज्यादा सावधान

RAJASTHAN: पूरे देश के साथ राजस्थान में कोरोना के मामले कम होने शुरु हो गए है। इसी के साथ जिन राज्यों में लॉकडाउन लगा रखा था उनमें धीरे-धीरे अनलॉक की प्रक्रिया भी शुरु होने जा रही है। दिल्ली में आज से अनलॉक की प्रक्रिया शुरु हो चुकी है। राजस्थान, मध्यप्रदेश सहित कई राज्य में अनलॉक की प्रक्रिया 1 जून से शुरु होगी। पिछले लॉकडाउन में जब पुरे देश को अनलॉक किया गया तो हम सभी इतने बेपरवाह हो गये थे निडर होकर जीने लगे थे। ये सोच बैठे कोरोना रूपी राक्षस कभी वापिस नहीं आएगा। लेकन हमारी लापरवाही के कारण कोरोना वायरस वापिस लौटा और दोगुनी ताकत के साथ। भारत में कोरोना की दूसरी लहर ने ऐसे-ऐसे भयावह मंजर दिखाये जिसकी हमने कभी कल्पना भी नहीं की थी। इस बार जब अनलॉक की प्रक्रिया शुरु हो रही है तो हमें सतर्क होना पड़ेगा। इस बार हमारी लापरवाही कोरोना की तीसरी लहर का आगमन बनेगी। जब तक कोरोना के मामले ना के बराबर नहीं होते हमें डबल मास्क के साथ सामाजिक दूरी का पालन करना होगा। अनलॉक के साथ हमें सावधान और सतर्क रहना होगा। जैसे-जैसे कोरोना संक्रमण के मामले कम होने लगे है वैस-वैसे अनलॉक की प्रक्रिया शुरु होगी। लॉकडाउन… Continue reading unlock rajasthan: 1 जून से अनलॉक होने जा रहा राजस्थान लेकिन तीसरी लहर से बचने के लिए रहना होगा ज्यादा सावधान

सावधान! कोरोना से ठीक होने के 6 हफ्ते बाद तक ना कराएं सर्जरी

delhi: अगर आप कोरोना के खिलाफ जंग जीत चुके है और किसी अन्य गंभीर बीमारी से पीड़ित है और सर्जरी कराने की सोच रह है तो जरा ठहरिये। कोरोना से ठीक होने के तुरंत बाद सर्जरी कराना जानलेवा और खतरनाक साबित हो सकता है। इस संबंध में ICMR ने एक गाइडलाइन दी है।ICMR ने जनता और डॉक्टर्स दोनों को सावधान किया है।  ICMR ने कोरोना से ठीक हुए मरीजों 102 दिन बाद एक बार फिर टेस्ट कराने के लिए कहा है। ICMR और नेशनल टास्क फोर्स के एक्सपर्ट का मानना है कि कोरोना से ठीक हुए मरीजों को कम से कम 6 हफ्तों बाद ही कोई सर्जरी करवानी चाहिए। और डॉक्टर्स को भी छः हफ्ते बाद ही सर्जरी करनी चाहिए। ICMR का कहना है कि अगर कोई इमरजेंसी केस आ जाए तो सर्जरी की जा सकती है। इसे भी पढ़ें क्योंकि देश में चुनाव नहीं है, इसलिए दिल खोलकर पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ा रही सरकार सर्जरी के लिए जल्दबाजी ना करें टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक नेशनल टास्क फोर्स के संजय पुजारी ने बताया कि कोरोना के लक्षण 102 दिन बाद ही सही से पता चलते है। ऐसें में टेस्टिंग में जल्दबाजी ना करें। कम वक्त में जांच… Continue reading सावधान! कोरोना से ठीक होने के 6 हफ्ते बाद तक ना कराएं सर्जरी

Rajasthan: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दिए निर्देश, Lockdown की हो सख्ती से पालना

जयपुर | राजस्थान में वैश्विक महामारी कोरोना (global epidemic corona) की दूसरी लहर की चैन तोड़नेे के लिए आज सुबह पांच बजे से चौबीस मई तक सख्त लॉकडाउन (Lockdown) लागू हो गया। इस दौरान आपात एवं जरुरी सेवाकार्य, मेडिकल, डेयरी सहित आवश्यक सेवाओं को छूट रहेगी। इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कहा कि प्रदेशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) की सख्ती से पालना सुनिश्चित की जाए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि प्रदेशवासियों की जीवन रक्षा के लिए लॉकडाउन (Lockdown) का असर पहले दिन से ही गांव-ढाणी तक दिखना चाहिए। इसमें किसी तरह की कोई ढिलाई नहीं हो। जो भी व्यक्ति गाइडलाइन का उल्लंघन करें, उस पर सख्ती से कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि जांच, उपचार, वैक्सीनेशन एवं संसाधनों के विस्तार के तमाम प्रयासों के साथ-साथ संक्रमण का प्रसार रोकने के लिए सरकार कड़ाई से लॉकडाउन (Lockdown) की पालना कराएगी। इसके बिना इस घातक लहर को रोक पाना संभव नहीं है। इसे भी पढ़ें – Delhi: सरोज अस्पताल में कोरोना से हड़कंप, 80 डॉक्टर पाए गए कोरोना संक्रमित, एक की मौत, OPD सेवाएं बंद उन्होंनें रविवार रात मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कॉफ्रेंन्स के माध्यम से कोविड संक्रमण, लॉकडाउन (Lockdown) तथा संसाधनों की उपलब्धता सहित अन्य संबंधित विषयों पर उच्च स्तरीय… Continue reading Rajasthan: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दिए निर्देश, Lockdown की हो सख्ती से पालना

Corona update: कोरोना की तीसरी लहर की जानकारी देने वाले प्रो. विजयराघवन ने कहा- ऐसे रोक सकते हैं आने वाली लहर का  प्रकोप

New Delhi: कोरोना की दूसरी लहर से हर करफ हाहाकार मचा हुआ है. ऐसे हालातों में देश के लोग तीसरी लहर की बात सुनकर लोग परेशान हैं. लोगों को अब रोजी-रोटी की चिंता सताने लगती है. इन हालातों में अब एक राहत की खबर है. देश के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार प्रोफेसर विजयराघवन ने कहा है कि कुछ कड़े नियमों का पालन कर कोरोना वायरस की तीसरी लहर को देश में आने से रोका जा सकता है. इस बाबत उन्होंने कहा कि अगर जरूरी कदम उठाए गए तो इससे बचा जा सकता है. यहां ये बता दें कि अभी कुछ दिनों पहले इन्होंने देश को तीसरी लहर के बारे में बताकर हड़कंप मचा दिया था. जानलेवा फंगल का हो रहा है अध्ययन प्रोफेसर विजयराघवन केंद्र सरकार में प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार के पद पर काम कर रहे हैं. उन्होंने कोरोना वायरस से ठीक होने वाले कई मरीजों में जानलेवा फंगल इन्फेक्शन म्यूकोरमाइसिस के मामलों का अध्ययन कर कहा कि हम इसकी निगरानी कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि यदि हम मजबूत उपाय करते हैं, तो देश में तीसरी लहर आने से रोका जा सकता है. उन्होंने कहा कि अगर हम प्रयास करें तो कोरोना की ये तीसरी लहर देश के सभी हिस्सों… Continue reading Corona update: कोरोना की तीसरी लहर की जानकारी देने वाले प्रो. विजयराघवन ने कहा- ऐसे रोक सकते हैं आने वाली लहर का  प्रकोप

Bihar: Night Curfew में पूर्व MLA की पार्टी में Bhojpuri Actress ने जमकर लगाए ठुमके, कोरोना नियमों की उड़ाई धज्जियां, प्राथमिकी दर्ज

हाजीपुर | देश में कोरोना फैला हुआ है और कोरोना (Corona) को लेकर गाइडलाइन बनी हुई है बिहार (Bihar) में कोरोना (Corona) के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए सरकार (government) ने भले ही राज्य भर में नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) लगा दिया हो, लेकिन वैशाली जिले के पूर्व बाहुबली विधायक मुन्ना शुक्ला (Former Bahubali MLA Munna Shukla) और उनकी पूर्व विधायक पत्नी अन्नु शुक्ला ने अपने एक पारिवारिक कार्यक्रम (Family Program) में कोरोना (Corona) से बचाव के लिए जारी गाइडलाइन की धज्जियां उड़वा दीं। इस कार्यक्रम में सैकडों लोग आए और भोजपुरी अभिनेत्री अक्षरा सिंह (Actress Akshara Singh) ने जमकर ठुमके लगाए। इस कार्यक्रम का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस (Police) ने संज्ञान लिया और लालगंज थाने में एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। पुलिस (Police) के एक अधिकारी ने बताया कि इस कार्यक्रम का वीडियो वायरल होने के बाद पूरे मामले की सत्यता की जांच कराई गई और फिर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। वायरल वीडियो में कोरोना गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उडाते लोग दिख रहे हैं। वीडियो में पूर्व विधायक के बॉडीगार्ड को हवाई फायरिंग भी करते दिख रहे हैं। इसे भी पढ़ें – Delhi Again Lockdown : दिल्ली में बढ़ा 1 सप्ताह का Lockdown, आवश्यक सेवाओं… Continue reading Bihar: Night Curfew में पूर्व MLA की पार्टी में Bhojpuri Actress ने जमकर लगाए ठुमके, कोरोना नियमों की उड़ाई धज्जियां, प्राथमिकी दर्ज

कोरोना से बचाव हेतु WHO ने ज़ारी की गाइडलाइन, स्वास्थ्य के इन नियमों का करें पालन

भारत में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है जो बेहद खतरनाक है। इसमें कोरोना के लक्षण पहले से बिल्कुल है। सही तरीके से लोगो को यह भी नहीं पता है कि कोरोना के लक्षण क्या है। कोरोना की दूसरी लहर युवाओं और बच्चों पर ज्यादा असर कर रही है। सरकार बार-बार जनता को सावधन और सतर्क कर रही है। और डॉक्टर्स चेतावनी दे रहे है कि अपने खान-पान का ध्यान रखें। अपने सेहत के साथ खिलवाड़ ना करें। ऐसे में लोगों के मन में यह सवाल है कि इस महामारी में खुद को स्वस्थ रखने के लिए क्या खाएं और क्या नहीं.. । लेकिन लगातार बढ़ते मामालों को देखते हुए हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सलाह दी है कि कोविड-19 की दूसरी लहर से लडऩे के लिए सही पोषण और हाइड्रेशन बहुत जरूरी है। सही मात्रा में पोषण लें। अपने खाने में प्रोटीन, विटामिन, कैलोरी लेवे। इसे भी पढ़ें Oxygen Crisis: 3 महीने तक कस्टम ड्यूटी नहीं , रेवेन्यू डिपार्टमेंट संभालेगा मोर्चा WHO की सुझाये निर्देश WHO के अुनसार , संतुलित आहार लेने वाले लोगों की प्रतिरक्षा प्रणाली स्ट्रांग होती है और उन्हें संक्रमक रोगों का जोखिम कम होता है। कोविड को हराना है, तो हर व्यक्ति को विटामिन,… Continue reading कोरोना से बचाव हेतु WHO ने ज़ारी की गाइडलाइन, स्वास्थ्य के इन नियमों का करें पालन

चुनाव आयोग बिना मास्क के प्रचार पर सख्त, कहा- अब दिखाई लापरवाही तो रैलियों पर लगेगी रोक

New Delhi: देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं. एक दिन में 1 लाख से ज्यादा मरीजों के मिलने का सिलसिला लगातार जारी है. देश के 5 बड़े राज्यों में चुनाव भी हो रहे हैं.  ऐसे में चुनाव प्रचार में लगे पार्टियों के नेताओं में काफी भीड़ जमा हो रही है. इसके साथ ही प्रचार करने में जुटे नेता कोरोना को लेकर दी गई गाइडलाइनों को नजरअंदाज करते हुए बिना मास्क के ही प्रचार में लगे हुए हैॆ. ऐसे में कोरोना के बढ़ने का खतरा एक बार फिर बढ़ गया है. चुनाव आयोग ने प्रचार के दौरान स्टार प्रचारकों, नेताओं के मास्क नहीं पहनने पर नाराजगी जतायी है. कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी के बीच चुनाव आयोग ने चुनाव प्रचार के दौरान स्टार प्रचारकों और नेताओं के मास्क नहीं पहनने की घटनाओं का उल्लेख किया और पिछले साल कोविड-19 के संबंध में आयोग द्वारा जारी निर्देशों का पूरी गंभीरता से पालन करने को कहा है. प्रचार के समय दिखी लापरवाही मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के नेताओं को भेजे एक पत्र में चुनाव आयोग ने कहा है कि ‘‘हालिया हफ्ते में देखा गया है कि कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. हालांकि आयोग के ध्यान… Continue reading चुनाव आयोग बिना मास्क के प्रचार पर सख्त, कहा- अब दिखाई लापरवाही तो रैलियों पर लगेगी रोक

UP Panchayat Election: भाजपा ने प्रत्याशी चयन को लेकर बनाई गाइडलाइन, जानें क्या है गाइडलाइन

उत्तर प्रदेश में Panchayat Election होने वाले हैं। इसे लेकर सभी पार्टियां अपने स्तर से चुनाव मैदान में कूदने की तैयारियों में लगी है। इसी बीच भाजपा ने अपने पदाधिकारियों के लिए एक नई गाइडलाइन तैयार की है।

महाकुंभ के तीर्थ में तीरथ और त्रिवेंद्र के विचारों में भी दिख रहा है अंतर .. …

उत्तराखंड में 1 अप्रैल से महाकुंभ का आयोजन होने जा रहा है. अभी से इसके लिए तैयारियां शुरु कर दी गयी हैं. महाकुंभ के लिए अभी से ही देशभर के श्रद्धालु देवभूमि हरिद्वार पहुंचने लगे हैं. केंद्र सरकार की ओर से उतराखण्ड में स्वास्थय मंत्रालय की एक टीम भेजी जा रही है. जो कुंभ में कोरोना की व्यवस्था और गाइडलाइन को देखेगी. उतराखण्ड में भी कोरोना के मामलों में तेजी से इजाफा हुआ है.कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए इस बार पहले से ही इसके समय को कम किया जा चुका है. इस बार महाकुंभ 1 महीने का ही होना जा रहा है. महाकुंभ के आयोजन को देखते हुए विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर है. कांग्रेस के कई नेताओं ने इस वर्ष होने वाले महाकुंभ के आयोजन को लेकर आपत्ती दर्ज करायी है. लेकिन ताजा मामला उत्तराखंड के नव निर्वाचित सीएम और पूर्व सीएम का है. दोनों के ही विचार महाकुंभ के  आयोजन पर आपस में मेल नहीं खा रहे हैं. बता दें कि विधायकों की नाराज़गी और सरकार-संगठन में बन रही दूरी के बाद भारतीय जनता पार्टी ने त्रिवेंद्र सिंह रावत को मुख्यमंत्री के पद से हटाकर तीरथ सिंह रावत को उतराखण्ड का नया मुख्यमंत्री बना दिया गया था.… Continue reading महाकुंभ के तीर्थ में तीरथ और त्रिवेंद्र के विचारों में भी दिख रहा है अंतर .. …

उप्र : छठ पूजा को लेकर सरकार ने जारी की गाइडलाइन

कोरोना संकट को देखते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने छठ पूजा के लिए गाइडलाइन जारी की है। इस दौरान सुरक्षा के कड़े निर्देश दिए गये हैं। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी

विनिर्माण उद्योग के लिए गाइडलाइन जारी

देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर वापस लाने के मद्देनजर कोरोनावायरस महामारी की रोकथाम के लिए लागू किए गए देशव्यापी लॉकडाउन के बीच कुछ इलाकों में ढील दी गई है,

कुछ और क्षेत्रों में छूट की घोषणा

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए पूरे देश में तीन मई तक लागू लॉकडाउन में सरकार ने गुरुवार को जारी दिशा-निर्देशों के बाद शुक्रवार को भी कुछ क्षेत्रों में छूट की घोषणा की। गृह मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक ग्रामीण इलाकों में निर्माण गतिविधियों की इजाजत दे दी गई है। इसके अलावा पानी की आपूर्ति, साफ-सफाई, बिजली, गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थानों व सहकारी ऋण समितियों को भी काम करने की इजाजत दी गई है। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भेजे दिशा निर्देशों में कहा कि इमारती लकड़ियों वाले पेड़ों को छोड़ कर जंगल के अन्य पेड़ों, इमारती लकड़ियों वाले पेड़ों को छोड़ कर अन्य वनोत्पाद के संग्रहण, कटाई और प्रसंस्करण करने में आदिवासियों और वनवासियों को लॉकडाउन से तीन मई तक की छूट दी जाएगी। भल्ला ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में निर्माण गतिविधियों, पानी की आपूर्ति, साफ-सफाई, बिजली, दूरसंचार की लाइनें और केबल बिछाने की अनुमति दी जा रही है। इसके अलावा पूरे देश में गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थानों, हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों, लघु वित्त संस्थानों को बंद के दौरान न्यूनतम कर्मचारियों के साथ काम करने की इजाजत दी गई है। बांस, नारियल, सुपारी, कोको,… Continue reading कुछ और क्षेत्रों में छूट की घोषणा

और लोड करें