MP News : कोरोना कर्फ्यू के दौरान जरूरतमंदों की भूख मिटा रही दीनदयाल रसोई

ग्वालियर | देश में कोरोना के गहराते संकट के बीच उन लोगों के लिए दो वक्त की रोटी का इंतजाम आसान नही रहा, जो रोज कमाते और खाते आ रहे हैं। ऐसे लोगों के लिए पेट की आग को बुझाना मुश्किल हो गया है। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में ऐसे जरुरतमंदों के लिए दीनदयाल रसोई (Deendayal Rasoi) वरदान साबित हो रही है क्योंकि एक तरफ यहां 10 रुपये में भोजन मिल रहा है, वहीं जिनके पास पैसे नहीं है उन्हें भी भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। नगर निगम ग्वालियर (Municipal Corporation Gwalior) द्वारा शहर के तीन स्थानों पर स्थाई दीनदयाल रसोई (Deendayal Rasoi) एवं एक चलित दीनदयाल रसोई (Deendayal Rasoi) के माध्यम से अन्य आवश्यक स्थानों पर पहुंचकर जरूरतमंदों को प्रतिदिन सुबह व शाम के समय पौष्टिक भोजन (Nutritious Food) उपलब्ध कराया जा रहा है। इसे भी पढ़ें – Corona Update : देश में कोरोना का तांडव! भारत में कोरोना से मौतों का आंकड़ा 2 लाख पार, 24 घंटे में 3 हजार से ज्यादा मौतें कोरोना (Corona) के संक्रमण के संकट के बीच चल रहे कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) के दौरान कोई भूखा न रहे, हर भूखे को भोजन मिले इस उद्देश्य से संचालित दीनदयाल रसोई योजना के तहत प्रतिदिन… Continue reading MP News : कोरोना कर्फ्यू के दौरान जरूरतमंदों की भूख मिटा रही दीनदयाल रसोई

Jai Vilas Palace : ​ज्योतिरादित्य सिंधिया के जय विलास महल में चलती है चांदी की ट्रेन, जानिए छत पर 7 दिन क्यों खड़े रहे 10 हाथी?

ग्वालियर। मध्य प्रदेश से भाजपा के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का ग्वालियर स्थित महल जय विलास सुर्खियों में है। जय विलास महल में चोरों ने सेंधमारी की है। ग्वालियर सीएसपी रत्नेश तोमर के मुताबिक जय विलास महल में ही बने रानी महल के एक कमरे के रोशनदान से अंदर घुसे चोरों ने क्या—क्या चुराया है? इसकी अभी जांच की जा रही है।  सिंधिया के पुश्तैनी महल जय विलास की सुरक्षा पर उठ रहे सवालों के बीच आप यह जानकार हैरान रह जाएंगे कि आखिर जय विलास महल की छत पर सात दिन तक दस हाथियों को खड़ा करने के पीछे क्या मक सद था? आइए जानते हैं ग्वालियर में सिंधिया राजघराने की ओर से जय विलास महल का निर्माण करवाए जाने से लेकर इसके वर्तमान स्वरूप से जुड़े कुछ दिलचस्प तथ्य। किसने बनवाया जय निवास महल? मध्य प्रदेश के बेहद खूबसूरत महलों में से एक जय निवास महल का निर्माण 1874 में मराठा शासक और ज्योतिरादित्य सिंधिया के पूर्वज तत्कालीन महाराजा जीवाजी राव सिंधिया द्वारा करवाया गया। ब्रिटिश, इतावली और भारतीय निर्माण शैली का प्रयोग करते हुए जय निवास महल का डिजाइन लेफ्टिनेंट कर्नल सर माइकल फिलोज ने तैयार किया। जय निवास महल की कीमत? कहते हैं कि करीब 150 साल… Continue reading Jai Vilas Palace : ​ज्योतिरादित्य सिंधिया के जय विलास महल में चलती है चांदी की ट्रेन, जानिए छत पर 7 दिन क्यों खड़े रहे 10 हाथी?

मप्र : भाजपा के सदस्यता अभियान पर सियासी संग्राम

मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी द्वारा ग्वालियर में आयोजित तीन दिवसीय सदस्यता अभियान ने राज्य की सियासत में गर्माहट ला दी है।

ग्वालियर में पहली बार सिंधिया खिलाफ नारे!

राजे-रजवाड़ों की राजनीति के सबसे मजबूत किले का अचानक ढहना आश्चर्यजनक है! ग्वालियर में सिंधियाओं के जिस जयविलास पैलेस को करीब डेढ़ सौ सालों से सिर्फ जयकारा सुनने की आदत थी वहां गद्दार आया, गद्दार आया जैसे अपमानजनक नारे पहली बार सुनाई दिए।

सिंधिया के जाने के बाद ग्वालियर में कांग्रेस जीवित हो गयी है : दिग्विजय

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने आज कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी छोड़कर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में जाने के बाद ग्वालियर में कांग्रेस जीवित हो गयी है।

नैक की सूची में एलएनआईपीई फिर नंबर-वन

राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यापयन परिषद (नैक) द्वारा हाल ही में जारी सूची में देश के मशहूर खेल प्रशिक्षण संस्थान और डीम्ड यूनिवर्सिटी लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान (एलएनआईपीई) को पहले पायदान पर रखा गया है।

भाजपा ने इस तरह बुना कमलनाथ सरकार के लिए चक्रव्यूह!

पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के ग्वालियर चंबल संभाग में शानदार प्रदर्शन की वजह ज्योतिरदित्य सिंधिया थे। इसी वजह से भाजपा विधानसभा चुनाव में बहुमत से दूर रह गई।

कांग्रेस विधायक गोयल ने विधानसभा के पास दिया धरना

मध्यप्रदेश के ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक मुन्नालाल गोयल ने अपने क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं को लेकर आज यहां पूर्व घोषणा के

प्रश्न पत्र में गलत जानकारी पर होगी सख्त कार्रवाई: पटवारी

भोपाल। मध्यप्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने ग्वालियर स्थित जीवाजी विश्वविद्यालय के एम़ ए़ तीसरे सेमेस्टर की परीक्षा के प्रश्न पत्र में क्रांतिकारियों को आतंकवादी लिखे जाने के प्रकरण में जांच के आदेश दिए हैं। आधिकारिक जानकारी के अनुसार पटवारी ने प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा को तीन दिन में समिति द्वारा जाँच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि जीवाजी विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित एम.ए. तीसरे सेमेस्टर की परीक्षा में पूछे गऐ एक प्रश्न में क्रांतिकारियों को आतंकवादी लिखा गया था, जिसके विरोध में छात्र संगठन ने ज्ञापन सौंपा है।

ग्वालियर में पांच दिवसीय तानसेन समारोह प्रारंभ

मध्यप्रदेश में ग्वालियर में पांच दिवसीय तानसेन समारोह आज प्रारंभ हो गया। सुबह हरिकथा एवं मीलाद वाचन के साथ इसकी परंपरागत शुरुआत हुयी।

मप्र : ग्वालियर में पटाखा बनाते समय विस्फोट, 3 की मौत

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक घर में अवैध रुप से पटाखा बनाते समय विस्फोट हो गया। इस विस्फोट में तीन लोगों की मौत हो गई, वहीं पांच अन्य झुलस गए है। घायलों को जयारोग्य चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। चीनोंर थाने के प्रभारी सत्ती सिंह ने शुक्रवार को कहा कि नोनकी सराय गांव के एक मकान में गुरुवार की रात को अवैध तरीके से पटाखे बनाए जा रहे थे, तभी अचानक विस्फोट हो गया। विस्फोट इतना जबरदस्त था कि, मकान की छत ढह गई। उसके मलबे में कई लोग दब गए। इस विस्फोट और मलबे में दबने से नवी खान, उसकी बेटी रजिया और अन्य रिश्तेदार अबरीन की मौत हो गई है। राजधानी से लगभग साढ़े चार सौ किलो मीटर दूर हुए इस हादसे का ब्यौरा देते हुए सिंह ने आगे बताया कि इस हादसे में पांच अन्य लोग झुलसे है, जिन्हें ग्वालियर के जयारोग्य चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। इसे भी पढ़ें : तमिलनाडु में 17 हजार सरकारी डॉक्टर हड़ताल पर

मिट्टी के दीए जलाएं, पर्यावरण और टैक्स बचाएं

मध्यप्रदेश के ग्वालियर में पर्यावरण संरक्षण के लिए चल रही मुहिम कदम दर कदम आगे बढ़ रही है। प्रशासन ने लोगों से दिवाली में मिट्टी के दीए जलाने का आह्वान किया है और इस कारोबार से टैक्स हटाकर कारोबारियों को राहत भी दी है।

और लोड करें