Gyanvapi case

  • ज्ञानवापी में पूजा पर रोक नहीं

    प्रयागराज। ज्ञानवापी मस्जिद के तहखाने में शुरू हुई पूजा-पाठ पर रोक लगाने के लिए हाई कोर्ट पहुंचे मुस्लिम पक्ष को झटका लगा है। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने बुधवार की रात को शुरू हुई पूजा-पाठ पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है। इसके साथ ही अदालत ने उत्तर प्रदेश सरकार को विशेष आदेश देते हुए जगह को संरक्षित करने को कहा है। साथ ही कहा है कि इस दौरान कोई नुकसान या निर्माण ना हो। गौरतलब है कि ज्ञानवापी मस्जिद के व्यास जी तहखाने में 30 साल के बाद वाराणसी जिला अदालत के आदेश से बुधवार देर रात को पूजा...

  • ज्ञानवापी मामले में मुस्लिम पक्ष को नहीं मिली कोर्ट से राहत

    Gyanvapi Case :- ज्ञानवापी तहखाना में पूजा-अर्चना की अनुमति देने संबंधी जिला जज वाराणसी के आदेश के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट से मुस्लिम पक्ष को कोई राहत नहीं मिली है। अब, अगली सुनवाई 6 फरवरी को होगी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को क्षेत्र में कानून व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने का भी निर्देश दिया है। आदलत ने अपने आदेश में कहा है कि अगली तारीख छह फरवरी को सुनवाई होने तक ज्ञानवापी स्थित व्यासजी के तहखाने में पूजा होती रहेगी। सरकार को यह निर्देश दिया गया है कि यहां पर कोई अतिरिक्त निर्माण कार्य न कराया जाए। हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति...

  • ज्ञानवापी के आसपास मीडिया कवरेज पर पाबंदी

    वाराणसी। वाराणसी की एक अदालत ने बुधवार को मीडिया को ज्ञानवापी परिसर में हो रहे सर्वेक्षण और उसके आसपास के क्षेत्र में कवरेज नहीं करने को कहा और सर्वेक्षण कर रही एएसआई की टीम के सदस्यों को इस संबंध में मीडिया में कोई टिप्पणी नहीं करने का निर्देश दिया है। ज्ञानवापी मस्जिद की देखरेख करने वाली संस्था अंजुमन इंतजामिया मस्जिद कमेटी ने ज्ञानवापी परिसर में जारी भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के सर्वे को लेकर भ्रामक खबरें फैलाए जाने का आरोप लगाते हुए जिला अदालत से सर्वेक्षण के मीडिया कवरेज पर रोक लगाने का अनुरोध किया था। संस्था की इस अर्जी...

  • ज्ञानवापी मामले में मुस्लिम पक्ष सुप्रीमकोर्ट जाने पर कर रहा विचार

    Gyanvapi Case :- इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के सर्वेक्षण के खिलाफ मुस्लिम पक्ष की याचिका को खारिज कर दिया है। साथ ही सर्वे कराए जाने का आदेश दिया है। इस निर्णय के बाद मुस्लिम पक्ष अब सुप्रीमकोर्ट जाने पर विचार कर रहा है। आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड के सदस्य मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने कहा क‍ि हमें उम्मीद है कि न्याय होगा क्योंकि यह मस्जिद करीब 600 साल पुरानी है और मुसलमान पिछले 600 सालों से वहां नमाज अदा करते आ रहे हैं। हम भी चाहते हैं कि देश के सभी पूजा स्थलों पर...