ग्रे सूची में ही रहेगा पाकिस्तान

नई दिल्ली। आतंकवादियों को प्रश्रय देने और उनकी मदद करने के मामले में पाकिस्तान फिलहाल राहत मिल गई है। वह काली सूची में डाले जाने और नई पाबंदियां लगाए जाने से बच गया है। टेरर फंडिंग और धनशोधन पर नजर रखने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स, एफएटीएफ पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में बनाए रखने का फैसला किया है। इस मामले में तुर्की और मलेशिया ने पाकिस्तान को अपना समर्थन दिया है। गौरतलब है कि  एफएटीएफ ने जून 2018 में पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में डाल दिया था। इस अंतरराष्ट्रीय संस्था ने पाकिस्तान को काली सूची से बचने के लिए 27 सूत्री एक्शन प्लान सौंपा था। अगर पाकिस्तान इस प्लान पर ठीक से काम नहीं करता है तो संस्था उसे ब्लैक लिस्ट कर सकती है। इसी के चलते पाकिस्तान पिछले कुछ दिनों से एफएटीएफ को धोखा देने में लगा है। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान अपने प्रयास में कामयाब हो गया है और पेरिस में हुई एफएटीएफ की बैठक में उसे ग्रे सूची में ही रखने का फैसला हुआ है। गौरतलब है कि 12 फरवरी को आतंकी संगठन जमात उद दावा के सरगना हाफिज सईद को सजा सुनाई गई थी। इसके महज पांच दिन बाद जैश ए मोहम्मद… Continue reading ग्रे सूची में ही रहेगा पाकिस्तान

हाफिज सईद को सजा सही दिशा में कदम: अमेरिका

वाशिंगटन। अमेरिका ने आतंकवादी सरगना हाफिज सईद को सजा दिए जाने को पाकिस्तान के लिए सही दिशा में उठाया गया एक कदम करार दिया है। अमेरिका के दक्षिण एवं मध्य एशियाई मामलों के ब्यूरो ने दक्षिण एशिया व मध्य एशिया मामलों की वरिष्ठ राजनयिक एलिस वेल्स के एक ट्वीट के हवाले से कहा है कि हाफिज सईद और उसके एक अन्य सहयोगी को सजा सुनाया जाना आतंक वित्तपोषण से निपटने के पाकिस्तान के वादे को पूरा करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। वेल्स ने अपने ट्वीट में कहा कि इसके साथ ही यह फैसला आतंकी संगठन लश्करे तैयबा को उसके अपराधों के लिए कठघरे में लाने की दिशा में भी खास कदम है। ट्वीट में वेल्स ने कहा कि जैसा कि खुद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कह चुके हैं, यह पाकिस्तान के भविष्य के हित में है कि वह अपनी धरती पर अवांछित गैरराजकीय तत्वों (नान स्टेट एक्टर्स) को सक्रिय रहने की अनुमति न दे। गौरतलब है कि लाहौर की एक आतंकवाद रोधी अदालत ने बुधवार को हाफिज सईद को आतंक वित्तपोषण के दो मामलों में सजा सुनाई। उसे दोनों मामलों में साढ़े पांच साल-साढ़े पांच साल कैद की सजा सुनाई गई है। दोनों सजाएं साथ-साथ चलेंगी।… Continue reading हाफिज सईद को सजा सही दिशा में कदम: अमेरिका

पाकिस्तान : हाफिज सईद पर फैसला शनिवार को

लाहौर। लाहौर की आतंकवाद रोधी अदालत (एटीसी) ने प्रतिबंधित जमात-उद-दावा (जेयूडी) के सरगना व 26/11 मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के खिलाफ आतंकवाद वित्तपोषण से जुड़े दो मामलों में अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। एटीसी न्यायाधीश अरशद हुसैन भट्ट शनिवार को दोनों मामलों में फैसला सुनाएंगे। ये मामले आतंकवाद रोधी विभाग (सीटीडी) की लाहौर और गुजरांवाला शाखाओं द्वारा दाखिल किए गए हैं। सीटीडी के गुजरांवाला चैप्टर द्वारा दायर किए गए मामले की शुरुआत में गुजरांवाला एटीसी में सुनवाई हुई, लेकिन लाहौर हाई कोर्ट के निर्देशों पर इसे लाहौर शिफ्ट कर दिया गया। दोनों मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने 23 गवाहों के बयान दर्ज किए। जेयूडी सरगना को बीते साल जुलाई में सीटीडी द्वारा गिरफ्तार किया गया। उसकी गिरफ्तारी से पहले जेयूडी नेताओं के खिलाफ 23 प्राथमिकी सीटीडी पुलिस स्टेशन लाहौर, गुजरांवाला, मुल्तान, फैसलाबाद व सरगोधा में जुलाई 2019 में दर्ज की गई। इनमें सईद व जेयूडी का एक अन्य प्रमुख आतंकी अब्दुल रहमान मक्की शामिल हैं। सीटीडी ने कहा है कि जेयूडी गैर-लाभकारी संगठनों और ट्रस्टों के माध्यम से एकत्र किए गए भारी धन से आतंकवाद का वित्तपोषण कर रहा था।

पाकिस्तान : हाफिज सईद मामले में सुनवाई कल

एक आतंकवाद रोधी अदालत आतंकी सरगना हाफिज सईद व एक अन्य जफर इकबाल के खिलाफ मामले की सुनवाई कल (सोमवार 13 जनवरी को) करेगी।

हाफिज सईद के खिलाफ आतंकी फंडिंग मामलों में समन जारी

लाहौर। पाकिस्तान की आतंकवाद निरोधी अदालत एटीसी ने 26/11 मुंबई हमले के मास्टर माइंड हाफिज सईद को आतंकी फंडिंग से जुड़े दो मामलों में बयान दर्ज कराने के लिए समन जारी किया है। डॉन न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, जमात-उद-दावा (जेयूडी) के नेता हाफिज सईद के खिलाफ दोनों मामलों की सुनवाई गुरुवार को हुई थी। एटीसी न्यायाधीश मलिक अरशद भट्ट ने इन मामलों की सुनवाई की। काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट (सीटीडी) ने अवैध फंड जमा करने के आरोप में मामला दर्ज किया था। लाहौर की आतंकवाद निरोधी अदालत ने बीते 11 दिसंबर को जेयूडी प्रमुख हाफिज सईद और चार अन्य के खिलाफ आतंकी संगठनों को धन मुहैया कराने के मामले में आरोप तय किए थे। हाफिज सईद ने हालांकि इन आरोपों को बेबुनियाद और पाकिस्तान सरकार पर अंतर्राष्ट्रीय दबाव का नतीजा बताया है। उन्होंने दावा किया कि उन पर प्रतिबंधित लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के नेताओं के रूप में गलत तरीके से आरोप लगाए गए हैं। तीन जुलाई 2019 को जेयूडी के शीर्ष 13 नेताओं पर आतंकवाद के वित्त पोषण और धनशोधन (मनी लॉन्ड्रिंग) से संबंधित लगभग दो दर्जन मामले दर्ज किए गए थे। पंजाब प्रांत के पांच शहरों में मामले दर्ज करने वाले सीटीडी ने घोषणा की कि जेयूडी अल-अनफाल ट्रस्ट, दावतुल… Continue reading हाफिज सईद के खिलाफ आतंकी फंडिंग मामलों में समन जारी

हाफिज सईद के खिलाफ आरोपों पर शीघ्र सुनवाई करे पाकिस्तान : अमेरिका

इस्लामाबाद। अमेरिका ने इस्लामाबाद से कहा है कि वह आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ आरोपों पर शीघ्र ही पूर्ण सुनवाई सुनिश्चित करे। इसके साथ ही अमेरिका ने एक पाकिस्तानी अदालत द्वारा हाफिज सईद पर अभियोग चलाने का स्वागत भी किया है। हाफिज सईद प्रतिबंधित जमात-उद-दावा समूह का प्रमुख है और 2008 के मुंबई आतंकवादी हमले के मामले में मुख्य आरोपी है। डॉन न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, लाहौर में बुधवार को एक आतंकवाद-रोधी अदालत ने हाफिज सईद और उसके तीन शीर्ष सहयोगियों हाफिज अब्दुल सलाम बिन मोहम्मद, मोहम्मद अशरफ और जफर इकबाल को आतंकी वित्त पोषण के आरोप में दोषी ठहराया। दक्षिण और मध्य एशिया मामलों की अमेरिका की सहायक विदेश मंत्री ऐलिस जी. वेल्स ने अभियोग के एक दिन बाद जारी एक ट्वीट में कहा हम हाफिज सईद और उसके सहयोगियों के अभियोग का स्वागत करते हैं। उन्होंने कहा हम पाकिस्तान को आतंकवादी वित्त पोषण का मुकाबला करने और 26/11 जैसे आतंकवादी हमलों के अपराधियों को न्याय दिलाने के लिए अपने अंतर्राष्ट्रीय दायित्वों के अनुरूप एक पूर्ण अभियोजन और शीघ्र जांच सुनिश्चित करने का आह्वान करते हैं। इसे भी पढ़ें : असम, त्रिपुरा में बंग्लादेश उच्चायोगों की सुरक्षा बढ़ी आतंकी समूहों को देश में धन इकट्ठा करने से रोकने… Continue reading हाफिज सईद के खिलाफ आरोपों पर शीघ्र सुनवाई करे पाकिस्तान : अमेरिका

अमेरिका ने हाफिज सईद पर आरोप तय किए जाने का स्वागत किया

अमेरिका ने मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड और प्रतिबंधित जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफिज सईद पर आरोप तय किए जाने का स्वागत किया और पाकिस्तान से अपने अंतरराष्ट्रीय दायित्वों की तर्ज पर पूर्ण रूप से मुकदमा चलाने और तीव्र सुनवाई करने का अनुरोध किया।

हाफिज सईद आतंकवादियों को धन उपलब्ध कराने के मामले में दोषी करार

पाकिस्तान में लाहौर की एक आतंकवाद निरोधक अदालत ने मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टरमांइड एवं जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद

अमेरिका ने भी पाक पर बढ़ाया दबाव

अमेरिका ने आतंकवादियों पर कार्रवाई के लिए पाकिस्तान पर दबाव बनाया है। उसने कहा है कि पाकिस्तान आतंकियों को गिरफ्तार करने के बाद उन पर मुकदमा चलाए और कार्रवाई करे।

पाकिस्तान हाफिज सईद पर मुकदमा चलाए: अमेरिका

वाशिंगटन। अमेरिका ने कहा है कि पाकिस्तान को उसकी जमीन से आतंकवादी कृत्यों को अंजाम दे रहे आतंकवादी समूहों को रोकना चाहिए और लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद समेत इस संगठन के अन्य आतंकवादियों के खिलाफ अभियोग चलाना चाहिए। अमेरिका ने पाकिस्तान को काली सूची में डालने या नहीं डालने को लेकर वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (फायनेन्शियल एक्शन टास्क फोर्स) के अहम फैसले से पहले यह बयान दिया है। अमेरिका के विदेश मंत्रालय की दक्षिण एवं मध्य एशियाई ब्यूरो प्रमुख एलिस वेल्स ने पाकिस्तान में लश्कर-ए-तैयबा/जमात-उद-दावा के चार आतंकवादियों की गिरफ्तारी का स्वागत भी किया। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान की कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने बृहस्पतिवार को आतंकवाद के वित्तपोषण के आरोपों में प्रतिबंधित लश्कर ए तैयबा/जमात उद दावा के शीर्ष चार सदस्यों को गिरफ्तार किया था। लश्कर ए तैयबा/जमात उद दावा के बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किये गये शीर्ष चार आतंकवादियों के नाम प्रोफेसर जफर इकबाल, याहिया अजीज, मोहम्मद अशरफ तथा अब्दुल सलाम हैं। वेल्स ने ट्वीट किया, जैसा कि (पाकिस्तान के प्रधानमंत्री) इमरान खान ने कहा है, पाकिस्तान को अपने भविष्य के लिए आतंकवादियों को अपनी जमीन से काम करने से रोकना होगा। उन्होंने कहा कि हम इस समाचार का स्वागत करते हैं कि पाकिस्तान ने लश्कर के चार आतंकवादियों… Continue reading पाकिस्तान हाफिज सईद पर मुकदमा चलाए: अमेरिका

और लोड करें