मोदी, शाह की चुप्पी से समर्थक भी निराश

उत्तर प्रदेश में लखीमपुर खीरी की घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोई टिप्पणी नहीं की और न केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कोई बयान दिया।

Navjot Singh Sidhu Resigns : कांग्रेस से फिर नाराज हुए Navjot Singh Sidhu, दिया इस्तीफा…

23 जुलाई को पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर काबिज हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने अब अपना इस्तीफा दे दिया है….

केंद्र से जाति आधारित जनगणना की मांग

सोरेन के नेतृत्व में सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल की शाह से मुलाकात, जाति आधारित जनगणना की मांग

नगालैंड में नहीं रहेगा विपक्ष!

भाजपा के नेता भी मोटे तौर पर इसके लिए तैयार हैं। कहा जा रहा है कि 24 जुलाई को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के शिलांग दौरे के बाद किसी समय इसका फैसला किया जा सकता है। हालांकि पूर्वोत्तर में एनडीए की जिम्मेदारी संभाल रहे असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा है कि उनको इस बारे में जानकारी नहीं है.

पीएम मोदी ने महाराष्ट्र और केरल के बढ़ते मामलों पर जताई चिंता, कहा- स्थितियां नहीं सुधरी तो ….

नई दिल्ली | PM Modi On third Wave : देश में एक बार फिर कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए पीएम मोदी ने चिंता जताई है. महाराष्ट्र और केरल जैसे राज्यों में बढ़ते संक्रमण पर पीएम मोदी ने आगाह करते हुए कहा कि ऐसा ही ‘‘ट्रेंड’’ दूसरी लहर की शुरुआत में इस साल जनवरी और फरवरी के महीने में देखा गया था. 6 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कोरोना का ताजा स्थिति पर संवाद के बाद अपने सबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि स्थितियां नहीं सुधरी तो ‘मुश्किल’ हो सकती है. उन्होंने तीसरी लहर की आशंका को रोकने के लिए राज्यों को सक्रियता से कदम उठाने होंगे. विशेषज्ञों का हवाला देते हुए मोदी ने कहा, ‘‘लंबे समय तक लगातार मामले बढ़ने से कोरोना के वायरस में ‘म्यूटेशन’ की आशंका बढ़ जाती है और स्वरूप बदलने का खतरा बढ़ जाता है. इसलिए, तीसरी लहर को रोकने के लिए कोरोना के खिलाफ प्रभावी कदम उठाया जाना आवश्यक है. हम इस समय एक ऐसे मोड़ पर खड़े हैं जहां तीसरी लहर की आशंका लगातार जताई जा रही है। कुछ राज्यों में मामलों की बढ़ती हुई संख्या अभी भी चिंताजनक बनी हुई है: तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, ओडिशा, महाराष्ट्र, केरल के मुख्यमंत्रियों से #COVID19… Continue reading पीएम मोदी ने महाराष्ट्र और केरल के बढ़ते मामलों पर जताई चिंता, कहा- स्थितियां नहीं सुधरी तो ….

क्या है मोदी मंत्रिमंडल का नया सहकारिता विभाग, जानें इसका इतिहास और अन्य महत्वपूर्ण बातें..

हाल ही में मोदी मंत्रिमंडल का का विस्तार हुआ है। जिनमें बहुत से नए चेहरे देखने को मिले है। और कई पुराने मंत्रियों की छुट्टी हुई है। लेकिन इस मंत्रिमंडल विस्तार में एक नया विभाग देखने को मिला है। ( what is cooperative ) सहकारिता मंत्रालय नया विभाग बना है जिसका पदभार गृहमंत्री अमित शाह को सौंपा गया है। मंत्रिमंडल के विस्तार से पहले ही इस विभाग की घोषणा कर दी गई थी। सहकारिता का अपने आप में एक इतिहास रहा है। सहकारिता ने देश को कई बड़ें और कद्दावर नेता दिए है। देश में कई सहकारिता आंदोलन भी हुए है और इन आंदोलनों ने हमेशा से ही देश की राजनीति को प्रभावित कर एक नई दिशा देने का काम किया है। ( what is cooperative ) ऐसे में सभी देशवासी यह जानना चाहते है कि यह नया विभाग क्या करेगा। क्या नया होगा इस मंत्रालय में। गृहमंत्री अमित शाह को सहकारिता विभाग का जिम्मा सौंपा गया है। ऐसे में यह देखना वाकई दिलचस्प होगा कि इस विभाग में अमित शाह की रणनीति क्या होगी। also read: हर्षवर्धन को बलि का बकरा बना गया: आईएएनएस-सी वोटर स्नैप पोल में 54 फीसदी लोगों ने कहा सहकारिता मंत्रालय का काम ( what is… Continue reading क्या है मोदी मंत्रिमंडल का नया सहकारिता विभाग, जानें इसका इतिहास और अन्य महत्वपूर्ण बातें..

Cabinet Extension : Congress और TMC का कुछ ऐसा रहा रिएक्शन,कहा- प्रदर्शन के आधार पर तो सबसे पहले अमित शाह को हटाना चाहिए था…

नई दिल्ली | Opposition On Cabinet Extension : कैबिनेट विस्तार के पहले से ही विपक्ष ने केंद3 सरकार को घेरना शुरू कर दिया है. कांग्रेस ने मंत्रिमंडल के विस्तार को सत्ता की भूख का विस्तार करार देते हुए कहा है कि अगर यह विस्तार काम और प्रदर्शन के आधार पर होता तो सबसे पहले गृहमंत्री अमित शाह, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण, रक्षा मंत्री राजनाथसिंह तथा कुछ अन्य को हटाया जाता. कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा कि यदि काम के आधार पर मंत्रियों को हटाया जाता तो श्री शाह को सबसे पहले हटाया जाना चाहिए जिनकी विफलता के कारण उग्रवाद और नक्सलवाद फैल रहा और देश का सामाजिक सौहार्द टूट रहा है. उन्होंने कहा कि इसी तरह से रक्षा मंत्री को हटाया जाना चाहिए जिनकी नाक के नीचे चीन ने भारत की सरज़मीं पर क़ब्ज़ा करने का दुस्साहस किया है. ऐसे ही वित्त मंत्री को हटाया जाता जिनकी वजह से देश की अर्थव्यवस्था गर्त में चली गई है और भीषणतम बेरोजगारी ने पैर पसार लिए है. पेट्रोलियम मंत्री को भी हटाना चाहिए था Opposition On Cabinet Extension : प्रवक्ता ने कहा कि इस क्रम में सबसे पहले स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को हटाएं जिनकी नाकामी की… Continue reading Cabinet Extension : Congress और TMC का कुछ ऐसा रहा रिएक्शन,कहा- प्रदर्शन के आधार पर तो सबसे पहले अमित शाह को हटाना चाहिए था…

PM Modi की नई टीम में सिंधिया को मिल सकता है रेल मंत्रालय , 43 नेता मंत्री पद की लेंगे शपथ

नई दिल्ली | PM Modi’s Cabinet Extension : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज अपनी टीम का विस्तार करने वाले हैं. जानकारी के अनुसार शान के 6 बजे से ये नई टीम की घोषणा कर दी जाएगी. इस विस्तार एवं पुनर्गठन के पहले मंत्री पद की शपथ के लिए आमंत्रित किये गये 20 से अधिक नेताओं से आज अपने निवास पर भेंट की. सात लोक कल्याण मार्ग स्थित प्रधानमंत्री निवास पर आयोजित इस बैठक में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह मौजूद थे. बता दें कि नये मंत्रियों की सूची में श्री वरुण गांधी का नाम भी चर्चा में था लेकिन उन्हें प्रधानमंत्री निवास पर नहीं देखा गया. इधर कुछ केंदीय मंत्रियों के इस्तीफे भी आने शुरू हो गये हैं. इनमें सबसे बड़ा नाम देश के शिक्षा मंत्री का है. मोदी सरकार की नई कैबिनेट में ये नए चेहरे 1. नारायण तातु राणे 2. सर्बानंद सोनोवाल 3. डॉ वीरेंद्र कुमार 4. ज्योतिरादित्य सिंधिया 5. रामचंद्र प्रसाद सिंह 6. अश्विनी वैष्णव 7. पशुपति कुमार पारस 8. किरेन रिजिजू 9. राज कुमार सिंह 10. हरदीप सिंह पुरी 11. मनसुख मंडाविया 12. भूपेंद्र यादव 13. पुरुषोत्तम रूपाला 14. जी किशन रेड्डी 15. अनुराग सिंह ठाकुर 16. पंकज… Continue reading PM Modi की नई टीम में सिंधिया को मिल सकता है रेल मंत्रालय , 43 नेता मंत्री पद की लेंगे शपथ

Bengal Politics : राज्यपाल धनखड़ के बंगाल पहुंचते ही भाजपा सांसद ने की बंगाल को ‘केंद्र शासित प्रदेश’ घोषित करने की मांग

कोलकाता | 2021 में पूरी तरह से बंगाल खबरों में छाया रहा है. बंगाल में विधानसभा चुनाव के साथ ही यह बिगुल बज गया था. चुनावों के 2 महीने बीत जाने के बाद भी बंगाल पूरी तरह से शांत नहीं हुआ है. यहां स्पष्ट करने की शांत होने से हमारा मतलब राजनीतिक दृष्टिकोण है. विधानसभा चुनाव के बाद बंगाल में हुई हिंसा को लेकर टीएमसी और ममता बनर्जी की देशभर में खूब किरकिरी हुई है. राज्यपाल जगदीप धनखड़ भी समय-समय पर इस संबंध में बयान देते आए हैं. अब भारतीय जनता पार्टी के सांसद जॉन बरला ने ऐसी मांग रखी है जो शायद ही टीएमसी या फिर अन्य राजनीतिक पार्टियों को पसंद आएगी. आज ही दिल्ली से बंगाल पहुंचे हैं राज्यपाल धनखड़ भारतीय जनता पार्टी के सांसद जान बरला ने कहा है कि पश्चिम बंगाल में बढ़ती हुई हिंसा को देखकर इसे केंद्र शासित प्रदेश बना दिया जाना चाहिए. बता दें कि बीजेपी सांसद का यह बयान उस समय आया है जब बंगाल के राज्यपाल धनखड़ बागडोगरा एयरपोर्ट पहुंच चुके हैं. बंगाल पहुंचने के बाद राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने एक बार फिर से सीएम ममता बनर्जी को निशाना साधते हुए टीएमसी पर खड़ा हमला किया. राज्यपाल ने कहा कि बंगाल… Continue reading Bengal Politics : राज्यपाल धनखड़ के बंगाल पहुंचते ही भाजपा सांसद ने की बंगाल को ‘केंद्र शासित प्रदेश’ घोषित करने की मांग

UP Elections 2022: आप भी खबर पढ़कर मानेंगे कि मोदी-शाह की जोड़ी को यूपी में योगी दे रहे हैं खुली चुनौती…..

लखनऊ | उत्तर प्रदेश और केंद्र में शासन के लिए भाजपा बड़े और दिग्गज नेता यही कहते फिर रहे हैं सब कुछ सही चल रहा है. देश के बड़े मीडिया चैनलों में भी ऐसा ही कुछ देखने मिल रहा है कि सब कुछ सही है. वास्तविकता की बात करें तो परिस्थितियों को देखकर ऐसा नहीं लगता कि सब कुछ सामान्य है. हाल में ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का जन्मदिन पार हुआ है लेकिन सीएम योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन पर ना तो देश के प्रधानमंत्री मोदी और ना ही गृह मंत्री अमित शाह का ही कोई ट्वीट उन्हें शुभकामनाएं देते हुए दिखाई देता है. जबकि प्रधानमंत्री मोदी तो विपक्षी पार्टी के नेताओं को भी जन्मदिन की मुबारकबाद देने से नहीं चूकते. बात सिर्फ जन्मदिन में मुबारकबाद देने की नहीं है. मोदी-शाह की जोड़ी को योगी यूपी में दे रहे हैं चुनौती उत्तर प्रदेश से लेकर दिल्ली में हो रही एक के बाद एक बैठक से साफ है योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में मोदी और अमित शाह की जोड़ी को कड़ी टक्कर दे रहे हैं. इन सबके बीच कल एक चौंकाने वाला मामला सामने आया. उत्तर प्रदेश भाजपा के द्वारा कल ट्विटर पर पीएम मोदी की फोटो के बिना… Continue reading UP Elections 2022: आप भी खबर पढ़कर मानेंगे कि मोदी-शाह की जोड़ी को यूपी में योगी दे रहे हैं खुली चुनौती…..

Rahul Bajaj ने बजाज ऑटो के चेयरमैन का पदा छोड़ा, नीरज बजाज होंगे नये चेयरमैन

New Delhi : देश के सफलतम उद्योगपतियों में शामिल राहुल बजाज ने आखिरकार बजाज ऑटो के चेयरमैन का पद छोड़ने का फैसला कर लिया है. राहुल बजाज ने दुपहिया और तिपहिया वाहनों के क्षेत्र में बजाज ऑटो को खड़ा किया और उसे अग्रणी स्थान तक पहुंचाया.पुणे स्थित दुपहिया और तिपहिया वाहन बनानेवाली कंपनी बजाज ऑटो ने शेयर बाजारों को भेजी नियामकीय सूचना में कहा है कि उसके गैर-कार्यकारी चेयरमैन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. उनका इस्तीफा 30 अप्रैल 2021 को कामकाज समाप्त होने के समय से प्रभावी हो जायेगा. कंपनी ने राहुल बजाज के स्थान पर नीरज बजाज को नया चेयरमैन नियुक्त किया है. वह एक मई 2021 से कंपनी के चेयरमैन का कामकाज संभालेंगे. वहीं, राहुल बजाज कंपनी के चेयरमैन एमरीटस बने रहेंगे. उन्हें एक मई 2021 से पांच साल के लिए कंपनी का चेयरमैन एमरीटस बनाया गया है. राहुल बजाज वर्ष 1972 से ही कंपनी के गैर- कार्यकारी चेयरमैन का कार्यभार संभाले हुये हैं. वह बजाज ऑटो समूह से पिछले पांच दशकों से जुड़े हुए हैं. बढ़ती उम्र को बताया कारण कंपनी ने नियामकीय सूचना में कहा है कि राहुल बजाज की आयु 83 साल हो गयी है. अपनी बढ़ी उम्र को देखते हुए उनहोंने… Continue reading Rahul Bajaj ने बजाज ऑटो के चेयरमैन का पदा छोड़ा, नीरज बजाज होंगे नये चेयरमैन

Bengal Election 2021: बंगाल में ताबतोड़ चुनावी रैलियों के साथ ही बढ़ रही कोरोना संक्रमण की रफ्तार, 1.7 फीसदी पहुंची मृत्यु दर

Kolkata: कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर बहुत तेजी से बढ़ रही है. इसकी वजह से देश के कई राज्यों में कोरोना संक्रमितों की संख्या भी तीव्र गति से बढ़ रही है. वहीं कोरोना पॉजिटिव लोगों की मृत्यु दर में भी तेजी से इजाफा हो रहा है. कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर लगाम लगाने के लिए विभिन्न राज्य कई तरह के सख्त कदम उठा रहे हैं. कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है. छत्तीसगढ़ जैसे कुछ राज्यों ने अपने कई शहरों में पूर्ण लॉकडाउन लगाया है. वहीं कुछ राज्यों में वीकएंड लॉकडाउन लगाया गया है. महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश में कोरोना की बढ़ती रफ्तार की वजह से ही 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं की तिथियां आगे बढ़ा दी गयी हैं. झारखंड में भी रात आठ बजे तक ही दुकान और बाजार खोलने की अनुमति दी गयी है. पुलिस और प्रशासन लोगों से मास्क लगाने, शारीरिक दूरी रखने और कोविड संबंधी अन्य गाइडलाइंस का कड़ाई से पालन कराने के लिए जुर्माना तक वसूल कर रहे हैं. चुनावी सरगर्मी के बीच कोरोना संक्रमण ने पकड़ ली रफ्तार वहीं दूसरी तरफ लोगों के मन में यह सवाल भी उठ रहा है कि बंगाल में चुनाव के लिए बड़ी बड़ी रैलियां हो रही हैं.… Continue reading Bengal Election 2021: बंगाल में ताबतोड़ चुनावी रैलियों के साथ ही बढ़ रही कोरोना संक्रमण की रफ्तार, 1.7 फीसदी पहुंची मृत्यु दर

Assam Assembly Election कांग्रेस का सवाल, बीजेपी सभी सीटें जीत रही है तो करोड़ों क्यों फूंक रही

यहां कांग्रेस ने ऊपरी असम की सभी सीटों पर भाजपा की जीत का अनुमान लगाने वाले ‘‘विज्ञापन को खबर के रूप में प्रकाशित करने’’ के…

Amit Shah PC | पश्चिम बंगाल और असम चुनाव में हिंसा नहीं होना शुभ संकेत, बीजेपी के पक्ष में हुआ है बढ़ा मतदान प्रतिशत

नई दिल्ली | पश्चिम बंगाल और असम में हिंसा से मुक्त बेहतर मतदान प्रतिशत बीजेपी के पक्ष में शुभ संकेत है। यह बात केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कही। दिल्ली में अपने आवास पर मीडिया से बातचीत में शाह ने साफ कहा कि दोनों राज्यों में बीजेपी की पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनेगी। शाह ने कहा पहले चरण की 30 में से हम 26 से ज्यादा सीटें जीत रहे हैं, वहीं असम की 43 में से 37 से ज्यादा सीटें जीत रहे हैं। हालांकि राकांपा के प्रमुख शरद पवार से अहमदाबाद में हुई मुलाकात के बारे में अमित शाह बोले सभी बातें बताने की नहीं होती। प्रेस वार्ता में अमित शाह ने कहा कि बंगाल में 84 प्रतिशत से ज्यादा मतदान और असम में 79 प्रतिशत से ज्यादा मतदान होना बीजेपी के पक्ष में है। यह मतदाताओं का उत्साह बताता है। अमित शाह ने कहा कि असम और बंगाल में इससे पूर्व चुनाव में हिंसा की खबरें आती थी, इस बार शांतिपूर्ण चुनाव है। यह लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत है। उन्होंने बीजेपी सांसद मुकुल रॉय के ऑडियो लीक होने को लेकर बिना नाम लिए ममता सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि दो भाजपा नेता फोन पर अधिकारियों… Continue reading Amit Shah PC | पश्चिम बंगाल और असम चुनाव में हिंसा नहीं होना शुभ संकेत, बीजेपी के पक्ष में हुआ है बढ़ा मतदान प्रतिशत

वंशवाद कमजोरी नहीं ताकत है

कांग्रेस पार्टी किसी भी और बात के मुकाबले इस बात को लेकर ज्यादा बैकफुट पर है कि उसके नेतृत्व पर वंशवादी होने का आरोप है। यह भाजपा, खास कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के बनाए एजेंडे की सौ फीसदी सफलता का संकेत है, जो कांग्रेस नेता ऐसा सोच रहे हैं।

और लोड करें