कोरोना का कहरः न्यूज़ीलैंड के बाद हॉन्गकॉन्ग ने भारत आने-जाने वाली उड़ानों पर लगाया 3 मई तक प्रतिबंद्ध

भारत में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले दर्ज हो रहे है। दुनिया में भारत की हालत बेहद चिंताजनक है। भारत में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है।  भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देख हॉन्गकॉन्ग ने भारत से आने और जाने वाली विमानों को 20 अप्रैल से 3 मई तक के लिए रोक लगा दी गई है। हॉन्गकॉन्ग की सरकार का यह फैसला विस्तारा एयरलाइंस की फ्लाइट से गए 50 यात्रियों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद आया है। मेडिकल जर्नल ‘द लैंसेट’ में प्रकाशित स्टडी में यह दावा किया गया है कि कोरोना वायरस के हवा में फैलने की आशंका है। एक दिन में कोविड-19 के 2लाख 78 हजार के करीब केस मिल रहे है। भारत सरकार कोरोना पर नियंत्रण पाने के लिए कड़ी सख्ती लगा रही है। आपको बतां दें कि हॉन्गकॉन्ग से पहले न्यूजीलैंड ने भी भारत से आने-जाने वाली उड़ानों पर रोक लगाई थी। इसे भी पढ़ें दस लाख का नोट फिर भी इतना सस्ता पाकिस्तान और फिलीपिंस की उड़ानों पर भी रोक हॉन्गकॉन्ग सरकार ने भारत के साथ ही पाकिस्तान और फिलीपिंस से आने-जाने वाली उडानों पर भी रोक लगाई है। यह प्रतिबद्धता 20 अप्रेल से 3 मई तक… Continue reading कोरोना का कहरः न्यूज़ीलैंड के बाद हॉन्गकॉन्ग ने भारत आने-जाने वाली उड़ानों पर लगाया 3 मई तक प्रतिबंद्ध

चीन को विरोध नामंजूर है

चीन ने एक बार फिर हांगकांग पर डंडा चलाना शुरू कर दिया है। इस बार उस पर उतना ध्यान नहीं गया, क्योंकि जो देश इसे मुद्दा बनाते हैं, वे अपने मामलों में उलझे हुए हैं।

हांगकांग में चीन की मनमानी

चीन व उसके शासन वाले हांगकांग में जिस तरह से लोकतांत्रिक अधिकारो का हनन किया जा रहा है। इसका नवीनतम उदाहरण पिछले दिनों हांगकांग के जाने-माने व्यापारी व वहां के बहुचर्चित अखबार ‘एप्पल डेली’ के प्रकाशक जिम्मी लाई की गिरफ्तारी है।

ब्रिटेन और चीन आमने-सामने

चीन के तेवर इन दिनों देखने लायक हैं। उसका संदेश साफ है कि वह किसी के आगे नहीं झुकेगा। ताजा मोर्चा ब्रिटेन के खिलाफ खुला है।

हांगकांग में नया चीनी राग

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत और चीन के सीमा-विवाद में मध्यस्थता करने के लिए उतावले हो रहे थे और अब वे हांगकांग को लेकर चीन से भिड़ गए हैं।

भारत को हांगकांग पर चुप नहीं रहना चाहिए

भारत और चीन के साथ रिश्तों में बड़ी तल्खी आई हुई है। सिर्फ यह कह कर इसकी अनदेखी नहीं की जा सकती है कि यह ध्यान भटकाने की रणनीति है। यह सही है कि चीन चाहता है कि उस पर कोरोना वायरस फैलाने के जो आरोप लग रहे हैं उसकी जांच न हो और उस पर से ध्यान हटे।

अमेरिका में भारी-भरकम राहत पैकेज से एशियाई बाजारों को भी मिली राहत

अमेरिका में कोरोना वायरस के आर्थिक असर को कम करने के लिये भारी-भरकम राहत पैकेज की तैयारी से अमेरिका और यूरोप के बाजारों उत्साह का संचार हुआ।

कोरोना की दहशत से एशियाई बाजारों ने गोता लगाया

दुनिया भर में बड़े पैमाने पर आर्थिक प्रोत्साहन देने की खबरों के बावजूद एशियाई बाजार सोमवार को कोरोना वायरस महामारी की दहशत से उबर नहीं सके।

ट्विटर ने सभी 5000 कर्मियों को घर से काम करने को कहा

सैन फ्रांसिस्को। कोविड-19 के नए-नए स्थानों पर फैलने की खबरों के बीच ट्विटर ने दुनियाभर में अपने 5,000 कर्मियों को घर से काम करने के लिए कहा है। कंपनी ने हांगकांग, जापान और दक्षिण कोरिया में अपने कर्मियों के लिए यह अनिवार्य कर दिया है। इक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म अपने कर्मियों पर गैर-जरूरी यात्रा करने पर पहले ही प्रतिबंध लगा चुका है। प्लेटफॉर्म ने कहा कि अमेरिका में कंपनी के कार्यालय ऐसे कर्मियों के लिए खुले रहेंगे, जिन्हें कार्यालय जाना जरूरी लग रहा है। कंपनी ने मंगलवार को एक बयान में कहा, हम दुनियाभर के अपने ऐसे कर्मियों को घर से काम करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं, जो घर से काम कर सकते हैं। हमारा लक्ष्य हमारे तथा हमारे आसपास की दुनिया में कोविड-19 के फैलने की संभावना कम से कम करना है। हांगकांग, जापान और दक्षिण कोरिया में ट्विटर के कर्मियों के लिए घर से काम करना अनिवार्य कर दिया गया है।

हांगकांग में कोरोना वायरस से पीड़ित की मौत

चीन से फैले घातक कोरोना वायरस से पीड़ित 39 वर्षीय एक व्यक्ति की हांगकांग में मौत हो गई। यहां इस वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति की मौत का यह पहला मामला है।

अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञ हांगकांग पुलिस की जांच से हटे

हांगकांग की पुलिस निगरानी संस्था को लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनों से निपटने को लेकर सलाह देने के लिए गठित की गई विशेषज्ञों की एक अंतरराष्ट्रीय समिति ने बुधवार को घोषणा की कि वह इस जिम्मेदारी से हट रही है जो शहर की बीजिंग समर्थक सरकार के लिए एक बड़ा झटका है।

चीन के लिए सबक

हांगकांग ने स्थानीय चुनावों के जरिए वहां की सरकार और उसके साथ ही चीन को स्पष्ट संदेश दे दिया है। इन चुनावों को लेकर काफी समय तक दुविधा बनी हुई थी। हांगकांग की चीफ एग्जिक्यूटिव कैरी लाम ने कई बार कहा था कि अगर हिंसक प्रदर्शन जारी रहे, तो चुनाव रोक दिए जाएंगे।

हांगकांग प्रदर्शन के पीछे पश्चिमी देश: चीन

हांगकांग में स्वायत्ता की मांग को लेकर जमकर प्रदर्शन हो रहे हैं। चीन ने इन प्रदर्शनों के पीछे पश्चिमी देशों का हाथ बताया है। चीन ने कहा है कि हांगकांग में चीन के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन के पीछे अमेरिका समेत पश्चिमी देश है।

हांगकांग मानवाधिकार विधेयक अमेरिका की संसद में पारित

अमेरिकी सांसदों ने हांगकांग में लोकतंत्र और मानवाधिकार के समर्थन में एक विधेयक को मंजूरी दे दी है।

हांगकांग में है गहरा असंतोष

हांगकांग में हिंसा बढ़ रही है। इसमें अब तक कई मौतें हो चुकी हैं। प्रदर्शनों ने शहर के कई हिस्सों में कामकाज पूरी तरह से ठप कर दिया है- खास तौर से पर्यटन और खुदरा व्यापार पर भारी असर पड़ा है। उधर जैसी कि आशंका थी कि हांगकांग की सरकार ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि बीते एक दशक में पहली बार यहां मंदी आई है।

और लोड करें