विक्रम मिश्री नए डिप्टी एनएसए नियुक्त, एक अनुभवी राजनयिक और भारत-चीन मामलों के विशेषज्ञ

एक अनुभवी राजनयिक और भारत-चीन मामलों के विशेषज्ञ हैं। नए उप एनएसए के रूप में, वह अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को रिपोर्ट करेंगे।

NFHS रिर्पोट में दावा:अमीर होने से पहले बूढ़ा हो जाएगा भारत…

अंदाजा लगाया जा रहा है कि 2050 के बाद जब 2100 आएगा तो भारत की आबादी 100 करोड़ के आसपास…

चीन ने उड़ाया भारत का मजाक, कहा- दूसरा सबसे बड़ी आबादी वाले देश पर Medal सिर्फ 7, जब कोई मेडल जीतता है….

टोक्यो ओलंपिक की समाप्ती हो चुकी है, इस ओलंपिक में भारत ने कुल सात पदक जीते हैं। भारत ने एक स्वर्ण के अलावा दो रजत और चार कांस्य पदक जीते हैं। अमेरिका पदक तालिका में 113 पोडियम स्थान से शीर्ष पर रहा जिसमें 39 स्वर्ण पदक थे जबकि चीन 38 स्वर्ण से 88 पोडियम स्थान से दूसरे स्थान पर रहा।

India-China तनाव के बीच गरजे रक्षमंत्री Rajnath Singh, बोले- भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार

नई दिल्ली | भारत-चीन तनाव (India China Tension) के बीच आज भारत के रक्षामंत्री (Defence Minister) राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) अरूणाचल प्रदेश में गरजे. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति एवं धैर्य में किसी भी तरह की गंभीर गड़बड़ी के घातक परिणाम हो सकते हैं. चीन का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि हम दुनिया में शांति चाहते हैं लेकिन अगर कोई आक्रामक रवैया दिखाता है तो हम जवाब देंगे. रक्षामंत्री का ये संदेश सीधे चीन (China) की और इषारा कर रहा है कि अगर उसने भारतीय सीमा में कदम रखा तो भारतीय सेना उसे मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार है. ये भी पढ़ें:- Corona Alert: CM उद्धव ठाकरे की बढ़ सकती है परेशानी, टास्क फोर्स ने कहा-अगले 2 से 4 सप्ताह में आ सकती है तीसरी लहर 12 सामरिक सड़कें राष्ट्र को समर्पित राजनाथ सिंह ने अरूणाचल प्रदेश में गुरूवार को 12 सामरिक सड़कों को राष्ट्र को समर्पित किया. इन नए मार्गों से अंतरराष्ट्रीय सीमाओं को सुरक्षित करने में मदद मिलेगी. आपको बता दें कि भारत-चीन के बीच सीमा विवाद को देखते हुए मोदी सरकार ने सीमावर्ती क्षेत्रों में ढांचा निर्माण में तेजी लाने का फैसला किया है. रक्षामंत्री ने जानकारी देते हुए कहा कि… Continue reading India-China तनाव के बीच गरजे रक्षमंत्री Rajnath Singh, बोले- भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार

सीमा पर पकड़े गए चीनी जासूस ने पूछताछ में किए कई बड़े खुलासे, BSF और खुफिया एजेंसियां भी रह गई हैरान

नई दिल्ली | सीमा पर से पकड़े गए चीनी जासूस (Chinese Spy) ने पूछताछ में कई बड़े खुलासे किए है। बीएसएफ और खुफिया एजेंसियों द्वारा करीब 36 घंटे की कड़ी पूछताछ के बाद के बाद उसने अपना मुंह खोला और बताया कि पिछले दो सालों में वह करीब 1300 भारतीय सिम कार्ड स्मगलिंग करके चीन ले जा चुका है। चीनी जासूस हान जुनवे ने इस बात का भी खुलासा किया कि चीन में इन सिम कार्ड्स से भारत के महत्वपूर्ण एकाउंट्स को हैक करने और फाइनेंशियल फ्रॉड्स में इस्तेमाल किया जाता था। इन खुलासों बीएसएफ और सुरक्षाअधिकारियों को भी हैरान कर दिया। ये चीनी जासूस बांग्लादेश बॉर्डर से भारत (India Bangladesh Border) में घुसपैठ कर दाखिल हुआ था जिसके बाद BSF ने इसे गिरफ्तार कर लिया। इसी के साथ उसके पास से जब्त किए गए इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की गहनता से जांच चल रही है और ये पता लगाया जा रहा है कि वो चीन की किस खुफिया एजेंसी के लिए जासूसी का काम करता था। ये भी पढ़ें:- G7 Summit के पहले ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का बड़ा एलान कहा- अगले साल तक दान करेंगे 10 करोड़ टीके… बीएसएफ ने चीनी जासूस को पूछताछ के बाद पश्चिम बंगाल पुलिस को… Continue reading सीमा पर पकड़े गए चीनी जासूस ने पूछताछ में किए कई बड़े खुलासे, BSF और खुफिया एजेंसियां भी रह गई हैरान

मोदी है तो मुमकिन है: आप मत लेना दिवाली में चाइनीज लाइट, भले सरकार चीन से करती रहे रिकार्ड आयात ( आंकड़ों पर बात)

देश में मोदी सरकार के आने के बाद से भारत-पाकिस्तान और भारत-चीन के रिश्ते को लेकर समय-समय पर विवाद चिढ़ता रहा है. आपके पास भी तो दिवाली में चाइनीस लाइट नहीं खरीदने के मैसेज तो व्हाट्सएप पर आए होंगे. लेकिन आज हम आपको जो बताना जा रहे हैं यह सुनकर आपको भी धक्का लग सकता है. यह तो सबको पता है कि भारत और चीन के बीच गहरा व्यापारिक संबंध है. इसके बाद भी देश के लोगों को चुनाव के समय देश के लोगों को बरगलाने की कोशिश की जाती है. ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि चीन से आयात कभी कम हुआ ही नहीं बल्कि साल दर साल बढ़ता ही गया है. आंकड़ों के अनुसार 2018 19 देश में कुल आयात का 13.6% हिस्सा चीन का था. इसके बाद 2019-20 में या आंकड़ा बढ़कर 13.73% हो गया. अब शायद आपको भी झटका लग सकता है कि 2020-21 में यहां पड़ा सर्वाधिक 16.92% पहुंच गया. मतलब साफ है देश की सरकार चीनी सामानों का विरोध से दिवाली और चुनाव के समय करना चाहती है जिससे उनके वोट बैंक में विस्तार हो सके. चीन की ग्रोथ रेट बढ़ाने में भारत का बड़ा योगदान 2022 की आखिरी तिमाही जनवरी-मार्च में भारत… Continue reading मोदी है तो मुमकिन है: आप मत लेना दिवाली में चाइनीज लाइट, भले सरकार चीन से करती रहे रिकार्ड आयात ( आंकड़ों पर बात)

लद्दाख में भारत ने बढ़ाई सेना

लद्दाख के कई इलाकों में वास्तविक नियंत्रण रेखा, एलएसी पर चीन को जवाब देने क लिए भारत ने सेना की तैनाती बढ़ाई है। चीन एक तरफ भारत के साथ सैन्य कमांडर स्तर की बातचीत कर रहा है

डोवाल व वांग यी ने निकाला फार्मूला?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सप्ताहांत में हुए लद्दाख के अग्रिम इलाकों के दौरे और लगातार बनाए जा रहे कूटनीतिक दबाव के चलते लगता है कि भारत-चीन सीमा गतिरोध का कोई समाधान निकल आया है।

मोदी का अचानक लद्दाख-दौरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक लद्दाख का दौरा कर डाला। अचानक इसलिए कि यह दौरा रक्षामंत्री राजनाथसिंह को करना था। इस दौरे को रद्द करके मोदी स्वयं लद्दाख पहुंच गए। विपक्षी दल इस दौरे पर विचित्र सवाल खड़े कर रहे हैं।

शेयर बाजार पर रहेगा भारत-चीन तनाव का असर

कोरोना के कहर के बावजूद लगातार दूसरे सप्ताह घरेलू शेयर बाजार में तेजी बनी रही, लेकिन आगामी कारोबारी सप्ताह के दौरान बाजार पर भारत-चीन सीमा विवाद

राहुल गांधी के बयान पर भाजपा-कांग्रेस में तकरार

भारत-चीन की सीमा पर चल रहे तनाव को लेकर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी द्वारा दिए गए बयान पर भाजपा और कांग्रेस के बीच तकरार हो रही है

ये कामयाबी फ़ौरी है

खबरों के मुताबिक अमेरिका और फ्रांस के एतराज के चलते संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में फिर से कश्मीर का मसला उठाने की कोशिश नाकाम हो गई। ऐसा स्थायी रूप से हुआ है या नहीं, यह नहीं मालूम। बहरहाल, चीन का फिर से इस मुद्दे को एजेंडे पर ले आना बताता है कि ये सवाल अब भी अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत के लिए मुश्किलें खड़ा कर सकता है। इस साल 5 अगस्त को भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया था। चीन ने 16 अगस्त को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में जम्मू-कश्मीर का मुद्दा उठाया था। अब पिछले 12 दिसंबर को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को पत्र लिख कर कश्मीर पर बढ़ते तनाव का जिक्र किया। चीन ने सुरक्षा परिषद के सदस्यों को लिखे पत्र में कहा कि स्थिति की गंभीरता को देखते हुए और तनाव बढ़ने की आशंका के बीच चीन पाकिस्तान के अनुरोध का समर्थन करता है और सुरक्षा परिषद में जम्मू-कश्मीर के हालात पर चर्चा कराने की मांग करता है। मगर गौरतलब है कि पिछली बैठक में भी ऐसा कोई बयान या फैसला नहीं लिया जा सका था, जिसे भारत के लिए असहज स्थिति पैदा होती। हालांकि सुरक्षा परिषद… Continue reading ये कामयाबी फ़ौरी है

यूएन में नहीं होगी कश्मीर मुद्दे पर चर्चा

संयुक्त राष्ट्र/नई दिल्ली। पाकिस्तान के मित्र चीन ने जम्मू कश्मीर मुद्दे पर 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद में मंगलवार को चर्चा कराए जाने का आह्वान किया था। कई सदस्यों के विरोध के बाद चीन ने कश्मीर के मुद्दे को लेकर यूएन में बहस कराने का अपना प्रस्ताव वापस ले लिया है। अन्य देशों ने भारत का समर्थन करते हुए कहा है कि यह द्विपक्षीय मामला है। मामले पर मंगलवार को दोपहर बाद बंद कमरे में परामर्श के दौरान ‘‘अन्य मामलों’’ के तहत सुरक्षा परिषद में चर्चा होने की पहले उम्मीद थी। हालांकि अब माना जाता है कि मंगलवार को चर्चा के लिए निर्धारित यह मामला बाद में हुए घटनाक्रमों के चलते अब आज चर्चा के लिए नहीं आएगा। फ्रांस के राजनयिक सूत्रों ने कहा कि कश्मीर पर सुरक्षा परिषद में मंगलवार को चर्चा नहीं होगी। इस संबंध में एक सूत्र ने कहा, ‘‘हमारी स्थिति बेहद स्पष्ट रही है। कश्मीर मुद्दे पर द्विपक्षीय चर्चा होनी चाहिए। हमने हाल में संयुक्त राष्ट्र सहित कई बार यह रेखांकित किया है।’’

और लोड करें