जामा मस्जिद के बाहर प्रदर्शन

शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सहित देश के लगभग हर हिस्से में नागरिकता कानून के समर्थन या विरोध में प्रदर्शन हुए। दिल्ली में सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्तों के बीच जामा मस्जिद सहित कई इलाकों में हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी जुटे।

मायावती के लिए नई चुनौती- चंद्रशेखर!

पिछले दिनों बसपा प्रमुख मायावती ने एक बयान जारी करके भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद पर बसपा को नुकसान पहुंचाने वाले दलों के हाथों में खेलने का आरोप लगाया। मालूम हो कि आजाद ने 12 दिसंबर को राजनीतिक दल बनाने का ऐलान किया जो कि दलित वोटों को अपना एकाधिकार समझने वाली मायावती के लिए एक बड़ी चुनौती मानी जा रही है। नागरिकता संशोधन कानून का जम कर विरोध करने के कारण वे फिर से सुर्खियों में आ गए हैं। मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश से होने के बावजूद वे चुनाव के पहले जामा मस्जिद पर प्रदर्शन करते हैं व उनके दल के नेता गरीब दलितों से पैसा एकत्र कर उनकी जमानत करवाते हैं। जब 12 दिसंबर को बसपा ने नागरिकता बिल पर मतदान के दौरान राज्यसभा से वाकआउट किया था तो आजाद ने कहा था कि जब संविधान की हत्या की जा रही थी तब बसपा के दो राज्यसभा सांसद भाजपा की मदद करने के लि वाकआउट कर रहे हैं। मैं बहुजन समाज को नया नेतृत्व दूंगा। मालूम हो कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सपा के साथ लड़ने के बावजूद हारने के कारण बसपा की हालत बहुत खराब है। महज 33 साल के चंदशेखर आजाद उर्फ… Continue reading मायावती के लिए नई चुनौती- चंद्रशेखर!

शाही इमाम ने नागरिकता कानून का बचाव किया

नई दिल्ली। दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम ने देश के मुसलमानों को भरोसा दिलाते हुए कहा है कि संशोधित नागरिकता कानून से उनका कोई लेना देना नहीं है। इस कानून के विरोध में देश भर में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच शाही इमाम का यह बयान बेहद अहम है। हालांकि उन्होंने लोगों के प्रदर्शन को उनका लोकतांत्रिक अधिकार बताया और उनसे कहा कि वे विरोध प्रदर्शन के दौरान संयम बनाए रखें। जामा मस्जिद के शाही इमाम ने कहा कि नागरिकता कानून का भारत में रह रहे मुस्लिमों से कोई लेना देना नहीं। उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि एनआरसी अभी कानून नहीं बना है। गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में देश की कई कॉलेजों में विरोध, प्रदर्शन हो रहा है। इस कानून के तहत पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आने वाले गैर मुस्लिम शरणार्थियों को नागरिकता दी जाएगी। इसका विरोध करने वाले और विपक्षी पार्टियों का कहना है कि यह कानून मुसलमानों से भेदभाव करता है और धर्म के आधार पर नागरिकता देना संविधान के खिलाफ है। बहरहाल, एक निजी न्यूज एजेंसी को दिए बयान के मुताबिक शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने कहा है- प्रदर्शन करना भारत के लोगों का लोकतांत्रिक अधिकार… Continue reading शाही इमाम ने नागरिकता कानून का बचाव किया

अयोध्या पर फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए : बुखारी

नई दिल्ली। जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी ने अयोध्या मामले पर शीर्ष अदालत के फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि वह ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड से सहमत नहीं हैं, जिसने कहा है कि वह फैसले पर समीक्षा याचिका दायर कर सकता है। शाही इमाम ने मीडिया से बात करते हुए कहा हम लगातार यह कहते रहे हैं कि हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले को स्वीकार करेंगे। मैं समीक्षा याचिका दायर करने पर सहमत नहीं हूं। मुझे लगता है और उम्मीद है कि देश विकास की दिशा में आगे बढ़ेगा। सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने भी कहा है कि वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर कोई समीक्षा या क्यूरेटिव याचिका दायर नहीं करेगा। सुन्नी वक्फ बोर्ड के चेयरमैन जफर फारूकी ने कहा कि वह उपासना अधिनियम-1991 के प्रावधानों को हलका करने के इलाहाबाद हाईकोर्ट के 2010 के फैसले को खारिज करने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आभारी हैं। इसे भी पढ़ें : भारत के लिए ऐतिहासिक दिन : उद्धव सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले में शनिवार को दिए अपने फैसले में हिंदू पक्ष को विवादित भूमि दी है। इसके अलावा अदालत ने अयोध्या में एक मस्जिद के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ वैकल्पिक… Continue reading अयोध्या पर फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए : बुखारी

और लोड करें