मायावती,अखिलेश ने जेएनयू घटना की न्यायिक जांच की मांग की

बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी ने दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में रविवार देर शाम नकाबपोश बदमाशों के जमकर उपद्रव में छात्र-छात्राओं के साथ शिक्षकों के भी घायल होने की घटना को शर्मनाक बताया है

शाह के संरक्षण में हुई जेएनयू में हिंसा : कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने गृह मंत्री अमित शाह पर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय(जेएनयू) में हमला करने वालों को संरक्षण देने का सोमवार को आरोप लगाया और कहा कि इस मामले की न्यायिक जांच होनी चाहिए। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘मोदी जी और अमित शाह जी ने छात्रों पर दमन चक्र चलाकर नाजी शासन की याद 90 साल बाद दिला दी। जिस तरह से छात्रों, छात्राओं और शिक्षकों पर हमला किया गया और जिस प्रकार पुलिस मूकदर्शक बनी रही, वह दिखाता है कि देश में प्रजातंत्र का शासन नहीं बचा है।’ उन्होंने कहा, ‘युवा प्रजातंत्र और संविधान पर हमले के खिलाफ आवाज उठाते हैं तो उनकी आवाज दबाई जाती है। जान लीजिए मोदी, युवाओं की आवाज नहीं दबने वाली है। सरकार प्रायोजित आतंकवाद और गुंडागर्दी नहीं चलने वाली है। ” सुरजेवाला ने कहा, ‘ऐसा लगता है कि मोदी और अमित शाह की सरकार के रूप में नाजी शासन आ गया है। इन गुंडों का ताल्लुक भाजपा और एबीवीपी से था। यह सब कुलपति की मूक सहमति से हो रहा था। यब सब अमित शाह के मौन समर्थन से हुआ। ‘ उन्होंने कहा, ‘ हम मोदी जी, अमित शाह जी, भाजपा और एबीवीपी की कड़ी निंदा करते… Continue reading शाह के संरक्षण में हुई जेएनयू में हिंसा : कांग्रेस

यूपी पुलिस की बर्बरता की न्यायिक जाँच: कांग्रेस

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात कर नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) का विरोध करने वाले प्रदर्शनकारियों पर पुलिस द्वारा की गई कथित क्रूरता की न्यायिक जांच की मांग की।

उप्र में हुये प्रदर्शन पर पुलिस भूमिका की हो न्यायिक जांच: कांग्रेस

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हुये प्रदर्शन को लेकर पुलिस की भूमिका की पूरी न्यायिक जांच की मांग की हैै।

सीएए पर हुयी हिंसा की हो न्यायिक जांच : चौधरी

राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में भड़की हिंसा की न्यायिक जांच कराये जाने की मांग की है।

हिंसा दुर्भाग्यपूर्ण, न्यायिक जांच कराए सरकार: मायावती

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने संशोधित नागरिकता अधिनियम के विरोध के दौरान हिंसा को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है और पूरे मामलों की न्यायिक जांच कराने की मांग की है।

और लोड करें