कैसा होगा ‘मोदी मंत्रिमंडल’ का फेरबदल?

बीजेपी हर हालत में उत्तर प्रदेश का चुनाव दोबारा जीतना चाहेगी। लिहाज़ा उत्तर प्रदेश से कुछ चेहरों को ख़ास तवज्जो देते हुए मंत्री परिषद में शामिल किया जा सकता है। प्रधानमंत्री की यह कवायद ठीक 2016 की की तरह होगी उस समय भी 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मंत्रिमंडल में बड़ा फेरबदल और विस्तार किया गया था। इस बार भी ऐसा ही कुछ होने की उम्मीद लगती है। लेखक: यूसुफ़ अंसारी सत्ता के गलियारों से लेकर राजनीतिक हलक़ों में चर्चा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्द ही अपने मंत्रिमंडल में फेरबदल और उसका विस्तार करने वाले हैं। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के दो साल पूरे हो चुके हैं। अभी तक मंत्रिपरिषद में न तो कोई फेरबदल हुआ है और नही कोई विस्तार। इस संभावित पहले विस्तार को लेकर अटकलें लग रही हैं कि पीएम मोदी कॉसमेटिक सर्जरी से ही काम चलाएंगे या फिर बड़ी चीरफाड़ करके अपनी सरकार का चेहरा बदल कर इसे और प्रभावी दिखाने की कोशिश करेंगे। शुक्रवार को प्रधानमंत्री ने गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ इस बारे में देर तक चर्चा की बताते है। बताया जा रहा है कि पिछले दो दिन से पीएम मोदी ने कई मंत्रियों… Continue reading कैसा होगा ‘मोदी मंत्रिमंडल’ का फेरबदल?

फेरबदल या ध्यान भटकाना?

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में फेरबदल की चर्चा एक बार फिर शुरू हो गई है। प्रधानमंत्री मंत्रालयों की समीक्षा कर रहे हैं और उनके साथ पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद रह रहे हैं। इसका मतलब है कि प्रधानमंत्री और पार्टी अध्यक्ष दोनों मंत्रियों के कामकाज की रिपोर्ट ले रहे हैं ताकि उनके प्रदर्शन का आकलन करके सरकार में फेरबदल का फैसला हो। दूसरी ओर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सहयोगी दलों के नेताओं से मिल रहे हैं और उनकी मांगों पर विचार कर रहे हैं। मोदी के साथ शाह और नड्डा की बैठक से भी यह संकेत मिला कि सरकार में फेरबदल की तैयारी हो रही है। लेकिन क्या सचमुच इस बार मोदी सरकार का विस्तार होगा या इस बार की चर्चाएं भी फॉल्स अलार्म साबित होंगी? ध्यान रहे 30 मई 2019 को दूसरी बार शपथ लेने के बाद से ही सरकार में फेरबदल की चर्चा हो रही है। उसके बाद एक एक करके अनेक मंत्रियों के पद खाली हो गए। शिव सेना के अरविंद सावंत और अकाली दल की हरसिमरत कौर बादल सरकार से बाहर हो गए तो रामविलास पासवान और सुरेश अंगडी का निधन हो गया। एक दर्जन नेता एक या दो से ज्यादा मंत्रालयों के… Continue reading फेरबदल या ध्यान भटकाना?

आस लगाए बैठे हैं कई नेता

पता नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी सरकार का विस्तार कब करेंगे, तब तक कई नेता आस लगाए बैठे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया तो एक साल से ज्यादा समय से केंद्रीय मंत्री बनने की उम्मीद लगाए बैठे हैं। पिछले साल मार्च में उन्होंने कांग्रेस से दलबदल करा कर मध्य प्रदेश में भाजपा की सरकार बनवाई थी। उसके बाद से 14 महीने इंतजार में बीत गए। लंबे समय तक बीजू जनता दल में रहे बैजयंत जय पांडा भी दो बरस से ज्यादा समय से इंतजार कर रहे हैं। वे भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं और उनको भी उम्मीद है कि इस बार कैबिनेट विस्तार में मौका मिल सकता है। हालांकि वे अभी किसी सदन के सदस्य नहीं हैं। इसलिए उनको मंत्री बनाने के लिए कहीं से राज्यसभा सीट का इंतजाम भी करना होगा। बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को भी इंतजार करते हुए छह महीने हो गए। बिहार में जदयू और भाजपा की साझा सरकार बनी तो इस बार उनको उप मुख्यमंत्री नहीं बना कर राज्यसभा में भेजा गया। वे तब से मंत्री बनने का इंतजार कर रहे हैं। असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल भी राह देख रहे हैं। उनके पांच साल के कामकाज के नाम पर इस बार असम… Continue reading आस लगाए बैठे हैं कई नेता

चार धाम यात्रा तो सभी के लिए स्थगित है फिर भी उत्तराखंड सरकार के मंत्री और अन्य BJP नेता बद्रीनाथ कैसे पहुंचे??

कोरोना गाइडलाइंस तो सभी पर लागू होती है फिर भले ही वो कोई नेता हो या सेलिब्रिटी या फिर कोई बड़ी हस्ती। कोई भी कोरोना नियमों का उल्लंघन नहीं कर सकता है। लेकिन 23 मई रविवार की सुबह उत्तराखंड के मंत्री और बीजेपी नेता बद्रीनाथ पहुंच गये। लगभग सभी राज्यों की सरकारों ने लॉकडाउन जैसा पाबंदियां लगा रखी है। उतराखंड सरकार ने लॉकडाउन सहित विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा (केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री, यमनोत्री) पर रोक लगा रखी है। मंदिर में पुजा-अर्चना करने के लिए पुजारियों को ही रहने की अनुमति है। लेकिन इसके बावजूद भी उत्तराखंड सरकार के मंत्री धन सिंह रावत और बीजेपी के अन्य नेता बद्रीनाथ धाम पहुंच गए। मंदिर के पुरोहितों ने मंत्री धन सिंह रावत की यात्रा पर ऐतराज जताते हुए इसे लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन बताया है। बता दें कि रावत और बीजेपी के कुछ अन्य नेता रविवार सुबह बंद्रीनाथ पहुंचे थे। सरकार ने स्पष्ठ निर्देश दिए है कि सभी को कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना होगा। और यदि किसी ने उल्लंघन किया तो उसके खिलाफ उचित कार्यवाही की जाएगी। कोरोना गाइडलाइन के तहत चारधाम यात्रा पर सभी के लिए स्थगित कर कखी है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने तीरथ सिंह रावत ने अगले आदेश तक… Continue reading चार धाम यात्रा तो सभी के लिए स्थगित है फिर भी उत्तराखंड सरकार के मंत्री और अन्य BJP नेता बद्रीनाथ कैसे पहुंचे??

Corona Crisis: जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने से यहां की सरकार को आया पसीना ,कहा- ऐसे हालातों में हड़ताल सही नहीं

Bhopal: देशभर में कोरोना अपना कहर बरसा रहा है. देश में कोरोना की दूसरी लहर से हर तरफ हाहकार मचा हुआ है. ऐसे हालातों में अब मध्य प्रदेश से डराने वाली खबर आई है. मध्य प्रदेश के जूनियर डॉक्टर अब हड़ताल पर चले गये हैं. कोरोना के प्रकोप के बीच जूनियर डॉक्टरों के इस फैसले ने राज्य सरकार की  परेशानियों को भी बढ़ा दिया है.  जूनियर डॉक्टरों की मुख्य मांग है कि उन्हें  बेहतर कोविड-19 उपचार एवं एक साल की फीस माफी मिले. इसके साथ ही जूनियर डॉक्टर और भी अपनी कई मांगों के साथ ही हड़ताल परप चले गये हैं. जानकारी के अनुसार फिलहाल मध्य प्रदेश के 6 सरकारी मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टर (जूडा) आज सुबह से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गये हैं. राज्य सरकार को करना पड़ सकता है परेशानियों का सामना कोरोना से बिगड़ते हालातों को देखते हए अचानक से जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल पर चले जाने से मध्य प्रदेश की सरकार को कईज्ञ तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. कोरोना वायरस संक्रमण के नये मामलों में आ रही तेजी के चलते इससे निपटने के लिए चिकित्सकों, चिकित्सीय ऑक्सीजन, रेमडेसिविर इंजेक्शनों एवं अन्य चीजों की सरकार को आवश्यक्ता है. ऐसे में से जूनियर… Continue reading Corona Crisis: जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने से यहां की सरकार को आया पसीना ,कहा- ऐसे हालातों में हड़ताल सही नहीं

जानें, क्यों 18+ उम्र के के लोगों  के लिए वैक्सीनेशन है मुश्किल

New Delhi: केंद्र सरकार (Central Government) ने ऐलान किया है कि 1 में से 18 साल से ज्यादा के उम्र के लोगों के लिए वैक्सीनेशन की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी. लेकिन गैर भाजपाई राज्यों (Non-BJP State) के मुख्यमंत्री ने इस वैक्सीनेशन प्रक्रिया पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं. राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा (Raghu Sharma) का कहना है कि भारत सरकार ने 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए वैक्सीन दिए जाने का तो एलान कर दिया है लेकिन इसे लेकर कोई तैयारी नहीं गई गई है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जब हमने सिरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (Siram Institute of India) से बात की तो उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने जितने आर्डर दिए हैं उन्हें पूरा करने में कम से कम 15 मई तक का समय लगेगा. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि  ऐसे में कंपनी से 15 मई के पहले ज्यादा वैक्सीन की उम्मीद करना गलत होगा. झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री ने उत्पादन हाईजैक करने का लगाया आरोप बता दें कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Of Jharkhand Hemant Soren) ने भी ऐलान किया है कि वह अपने प्रदेश के लोगों को फ्री में कोरोना वैक्सीन देंगे. लेकिन जेएमएम के… Continue reading जानें, क्यों 18+ उम्र के के लोगों  के लिए वैक्सीनेशन है मुश्किल

महाराष्ट्र के मंत्री का इस्तीफा

महाराष्ट्र की जानी-मानी टिकटॉक स्टार रही 23 साल की महिला के आत्महत्या के मामले में राज्य सरकार के वन मंत्री संजय राठौड़ को आखिरकार इस्तीफा देना पड़ा।

अपने ही आदेश से उलझी बिहार सरकार

बिहार की नीतीश कुमार सरकार अपने ही एक आदेश के जरिए विवादों में फंस गई है। सरकार की ओर से एक आदेश जारी करके कहा गया है कि सोशल मीडिया में मुख्यमंत्री, मंत्रियों या अधिकारियों के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट लिखने वालों की गिरफ्तारी होगी।

किसानों और केंद्र सरकार के बीच नौवें दौर की वार्ता शुरू

दिल्ली के विज्ञान भवन में किसानों के प्रतिनिधियों और सरकार के मंत्रियों के बीच नौवें दौर की बातचीत शुरू हो गई है। बातचीत में 41 किसान प्रतिनिधि शामिल हैं। केंद्र सरकार की ओर से तीन मंत्री

राम माधव का प्रचार शुरू!

भारतीय जनता पार्टी के महासचिव राम माधव भाजपा के कश्मीर मामलों के प्रभारी और विशेषज्ञ हैं। वे पूर्वोत्तर के मामलों के भी प्रभारी और विशेषज्ञ हैं।

मप्र के मंत्री सिलावट ने दिया इस्तीफा

मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार के मंत्री तुलसी राम सिलावट ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है, क्योंकि संवैधानिक व्यवस्था के चलते कोई भी व्यक्ति छह माह की अवधि तक बिना विधायक रहे मंत्री नहीं रह सकता है।

उपचुनाव से सिंधिया के मंत्री बनने का रास्ता

मध्य प्रदेश में उपचुनाव के लिए भाजपा और कांग्रेस दोनों के उम्मीदवारों की सूची जारी हो गई है। भाजपा ने कांग्रेस और विधानसभा से इस्तीफा देने वाले सभी 25 पूर्व विधायकों को टिकट दे दी है।

कर्नाटक के पर्यटन मंत्री सीटी रवि ने दिया इस्तीफा

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता एवं कर्नाटक के पर्यटन मंत्री सीटी रवि ने पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव नियुक्त होने के परिप्रेक्ष्य में मंत्रीपद से इस्तीफा दे दिया है।

मंत्री की मौत से उठे सवाल

पिछले दिनों उत्तर प्रदेश विधानमंडल के संक्षिप्त सत्र के दौरान समाजवादी पार्टी के विधायक सुनील सिंह साजन ने विधानसभा परिषद में यह कहकर सबको चौंका दिया कि कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान न सिर्फ अस्पताल की बदहाली के शिकार हुए, बल्कि उनके साथ डॉक्टरों और अस्पताल कर्मियों ने बहुत ही अपमानजनक व्यवहार किया।

योगी सरकार की मंत्री का निधन

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का संक्रमण बेहद तेजी से फैल रहा है और आम लोगों के साथ साथ खास लोग भी इसकी चपेट में आ रहे हैं।

और लोड करें