kishori-yojna
हम नहीं सुधरेंगे ! दिल्ली में कोरोना गाइडलाइन की अनदेखी करने पर 2 महीने में वसूला गया 51.7 करोड़ का जुर्माना

नई दिल्ली | Fine Collected in Delhi : देश में कोरोना की दूसरी लहर ने किस करह का उत्पाद मचाया था ये किसी से भी छिपा हुआ नहीं है. उन हालातों को देखने के बाद भी लोगों में अब भी जागरूकता का अभाव देखने को मिल रहा है. देश की राजधानी दिल्ली की बात करें तो लापरवाही को दिखाने वाले कुछ आंकडें डराने वाले हैं. पिछले 2 महीनों की बात करें तो सिर्फ दिल्ली में लापरवाही करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए अब तक 51.7 करोड़ का फाइन नसूला गया है. मतलब साफ है कि सरकार द्वारा दी जा रही छूटों के बाद अब लोग एक बार फिर से लापरवाह होते जा रहे हैं. यहीं हालात रहे तो एक बार फिर से देश कोरोना की तीसरी लहर के पास जा सकता है. सबसे बड़े आश्च्य की बात है कि इन परिस्थितियों में भी लोग सिर्फ पुलिस और प्रशासन की डर से मास्क पहनते हैं. बता दें कि ये आंकड़ा 23 अप्रैल से 7 जुलाई के बीच का है. सबसे ज्यादा लोगों पर मास्क के कारण लगा फाइन Fine Collected in Delhi : 51.7 करोड़ का जो आंकड़ा जारी किया गया है इसमें सबसे ज्यादा फाइन मास्क के बिना सड़कों… Continue reading हम नहीं सुधरेंगे ! दिल्ली में कोरोना गाइडलाइन की अनदेखी करने पर 2 महीने में वसूला गया 51.7 करोड़ का जुर्माना

President RamNath Kovind UP Visit : राष्ट्रपति के कारवां के कारण 45 मिनट तक जाम में फंसी रही महिला, मौत के बाद ट्रैफिक डीएसपी ने भी मांगी माफी

कानपुर | President’ RamNath Kovind UP Visit : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद उत्तर प्रदेश के दौरे पर हैं. राष्ट्रपति का गौरव सुर्खियों में रहा क्योंकि 15 सालों के बाद राष्ट्रपति ने ट्रेन यात्रा की है. लेकिन ताजा मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर से हो जहां ट्रैफिक जाम में फंसने के कारण एक महिला की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि महिला को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया जा रहा था लेकिन राष्ट्रपति के कारवां के चलते गाड़ियों को रोक दिया गया था. यहीं कारण है कि काफी देर तक जाम में फंसे होने के कारण महिला की तबीयत बिगड़ती चली गई. बाद में जब महिला को अस्पताल ले जाया गया तब डॉक्टरों ने महिला को नेता घोषित कर दिया. इस पूरी घटना पर कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण में माफी मांगी है. इसके साथ ही कहा है कि अगर किसी पुलिसकर्मी की इसमें लापरवाही का पता चला तो जरूर एक्शन लिया जाएगा.     45 मिनट तक जाम में फंसी रही थी President’ RamNath Kovind UP Visit : जाम में फंसने से अपनी जान गवाने वाली महिला का नाम वंदना मिश्रा बताया जा रहा है. जानकारी के अनुसार जब वंदना को आकस्मिक स्थिति में इलाज के लिए… Continue reading President RamNath Kovind UP Visit : राष्ट्रपति के कारवां के कारण 45 मिनट तक जाम में फंसी रही महिला, मौत के बाद ट्रैफिक डीएसपी ने भी मांगी माफी

SC पहुंचे योग गुरु बाबा रामदेव, दिल्ली में ट्रांसफर करना चाहते हैं सभी केस

नई दिल्ली । कोरोना काल के शुरू होने के बाद से योग गुरु बाबा रामदेव ( Yog Guru Baba Ramdev ) हमेशा से सुर्खियों में बने रहे हैं. बीते दिनों बाबा रामदेव द्वारा एलोपैथी पर दिया गया उनका विवादित बयान के बाद वे एक बार फिर से खबरों में आ गए थे. अब बाबा रामदेव ने देश भर के अलग-अलग राज्यों में दर्ज कराए गए केस के संबंध में सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की है. इस याचिका में बाबा रामदेव ने IMA पटना और रायपुर द्वारा प्राथमिकी पर रोक लगाने और सभी प्राथमिक क्यों को दिल्ली स्थानांतरित करने की मांग की है. बता दें कि बीते दिनों देश के अलग-अलग हिस्सों में बाबा रामदेव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी. इन प्राथमिकियों दर्द होने का कारण बाबा रामदेव का एलोपैथिक चिकित्सा पद्धति पर दिया गया विवादित बयान था. अलग-अलग राज्यों में दर्ज हुए हैं केस रायपुर के एसएसपी अजय यादव ने कहा था कि बाबा रामदेव पर सेक्शन 188 269 और 504 के तहत केस दर्ज किए गए हैं. इन सेक्शनों में महामारी को लेकर लापरवाही बरतना, अशांति फैलाने के इरादे से अपमान करना जैसे अपराध शामिल हैं. उनके साथ ही आईएमए की ओर से भी बाबा… Continue reading SC पहुंचे योग गुरु बाबा रामदेव, दिल्ली में ट्रांसफर करना चाहते हैं सभी केस

डॉक्टरों ने बेटे के शव को पैक कर दे दिया मां-बाप को, फिर मां ने रो-रो कर शव को हिलाते हुुए कहा वापस आ जाओ और लौट आया लाल …

बहादुरगढ़ | कई बार देखा जाता है कि डॉक्टरों की लापरवाही के कारण चमत्कार जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है. ऐसा ही एक मामला हरियाणा के बहादुरगढ़ से सामने आया है. बताया जा रहा है कि दिल्ली के एक अस्पताल में जिस बच्चे को मृत घोषित कर दिया गया था उसे जब वापस अपने गांव लेकर आया गया तो उसकी सांसे फिर से चलने लगी. ये देखकर परिवार वाले हड़बड़ा गए और अफरातफरी में रोहतक के एक अस्पताल में उसे भर्ती किया गया. सबसे बड़े आश्चर्य की बात यह है कि वह बच्चा कुछ दिनों तक इलाज चलने के बाद स्वस्थ होकर अपने घर भी लौट आया. परिवार वालों का कहना है कि वह दिल्ली के डॉक्टरों के खिलाफ मामला दर्ज करेंगे. टाइफाइड की हुई थी शिकायत यह पूरा मामला बहादुरगढ़ में रहने वाले कुणाल शर्मा का है. कुणाल को टाइफाइड की शिकायत हुई थी जिसके बाद उसे इलाज के लिए दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती किया गया था. लेकिन दिल्ली के अस्पताल डॉक्टरों ने कुणाल के शव को पैक कर मां बाप के हवाले कर दिया. अपने बच्चे के शव को लेने के बाद से मां का रो रो कर बुरा हाल हो गया. स्थिति यह थी कि… Continue reading डॉक्टरों ने बेटे के शव को पैक कर दे दिया मां-बाप को, फिर मां ने रो-रो कर शव को हिलाते हुुए कहा वापस आ जाओ और लौट आया लाल …

ऑन ड्यूटी चलाया मोबाइल तो होगी कार्रवाई, इस राज्य में जारी हुआ आदेश

पटना | आज के हालातों में मोबाइल के बिना जीवन की कल्पना करना मुश्किल है.कई बार देखा जाता है कि लोगों को अनावश्यक रूप से मोबाइल यूज़ करने की लत पड़ जाती है. मोबाइल के अनावश्यक प्रयोग के कारण लापरवाही और दुर्घटनाओं से संबंधित खबरें भी आती रहती है. खासकर ड्यूटी के दौरान बोर होने पर लोग मोबाइल का प्रयोग करने लगते हैं. लेकिन अब बिहार में एक नया नियम लगाया गया है. इस नए नियम के अनुसार अगर अब बिहार पुलिस के जवान या अधिकारी लंबे समय तक बेवजह मोबाइल चलाते नजर आए तो उन पर कार्रवाई की जाएगी. इस संबंध में बिहार पुलिस मुख्यालय से आदेश भी जारी कर दिया गया है. आदेश की प्रति पूरे बिहार के जिलों के एसपी को भेजी जा चुकी है. बेवजह मोबाइल चलाना पड़ सकता है महंगा आदेश में यह स्पष्ट किया गया है कि कुछ विशेष परिस्थितियों को छोड़कर यदि अनावश्यक रूप से पुलिसकर्मी मोबाइल या अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण प्रयोग करते हुए पाए गए तो उनके ऊपर कार्रवाई की जाएगी. हालांकि बिहार पुलिस के जवानों का कहना है कि यह नियम श्रेयस्कर नहीं है क्योंकि अक्सर हमें गुप्त सूचनाओं और अपने गुप्तचरों से बात करने के लिए मोबाइल का प्रयोग करना… Continue reading ऑन ड्यूटी चलाया मोबाइल तो होगी कार्रवाई, इस राज्य में जारी हुआ आदेश

Corona Negligence:  भाई की शादी में खुद को नहीं रोक पायी महिला अधिकारी और लगी नाचने…. वीडियो वायरल होने के बाह अब कार्रवाई की तैयारी

महिला तहसीलदार अभी छुट्टी पर हैं. जब वह ड्यूटी पर आएंगी, तो उनसे इस संबंध में स्पष्टीकरण मांगा जाएगा…

हम नहीं सुधरेंगे ! रिपोर्ट में हुआ खुलासा- 50 प्रतिशत लोग अब भी नहीं पहनते मास्क, इनमें भी 14 फीसदी ही सही तरह से करते हैं मास्क का प्रयोग

New Delhi: देश में कोरोना की दूसरी लहर के कारण अब भी हालात खतरे के निशान के पास है. कोरोना के मामलों में कुछ कमी जरूर आई है लेकिन इसके बाद भी मौतें कम होने का नाम नहीं ले रही है. कोरोना के इस कहर के बीच एक चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आयी है. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (MoHFW) के अनुसार अभी भी देश में लापरवाहों की कोई कमी नहीं है. रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में 50 फीसदी लोग मास्क नहीं पहनते हैं. इतना ही नहीं जो 50 फीसदी लोग मास्क पहनते हैं उनमें से मात्र 14 प्रतिशत लोग ही सही तरीके से मास्क पहनते हैं. मतलब साफ है कि देश की 86 फीसदी आबादी अभी कोरोना को निमंत्रण दे रही है. मंत्रयल के  संयुक्त सचिव द्वारा साझा किए गए एक रिपोर्ट के आधार पर इस बात का खुलासा हुआ है. कोरोना की रुटीन ब्रीफिंग करते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि देश में केवल 100 में सात लोग की सही तरीके से मास्क पहनते हैं. जबकि बाकी लोग मास्क को ठुड्डी और मुंह पर पहनते हैं. लोगों को परवाह नहीं का मौत के मामलों में हम है अव्वल स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने… Continue reading हम नहीं सुधरेंगे ! रिपोर्ट में हुआ खुलासा- 50 प्रतिशत लोग अब भी नहीं पहनते मास्क, इनमें भी 14 फीसदी ही सही तरह से करते हैं मास्क का प्रयोग

Corona Impact:अब संक्रमण के कारण निकालनी पड़ रही हैं आंखें, सूरत में मिले सबसे ज्यादा मरीज

Surat: देश में कोरोना की दूसरी लहर लगतार कहर बरसा रही है. इन परिस्थितियों में अब लोगों की उम्मीदें वैक्सीन से ही बंधी हुई हैं. लेकिन कोरोना के वायरस से अब अलग-अलग प्रभाव देखने को मिल रहे हैं. ताजा मामला गुजरात के सूरत से है. यहां एक के बाद एक बढ़ते संक्रमण के बीच अब हैरान करने वाली खबर सुनने को आ रही हैं. यहां के कुछ लोगों में कोरोना संक्रमण से मुक्त होने के बाद गंभीर बीमारियां पाई जा रही हैं. ये बीमारी इतनी बड़ी हैं कि यदि समय पर इसका इलाज नहीं किया जाए तो मरीज की आंखें तक निकालनी पड़ रही है. इसके साथ ही यदि इलाज में देरी हुई तो मरीज की मौत भी हो जा रही है, सामने आई इस नई परेशानी से लोगों और भी ज्यादा परेशान हैं. इस संबंंध में अब डॉक्टरों को भी कुछ नहीं समझ नहीं आ रहा है. 15 दिन में सामने आए तीन दर्जन से अधिक मामले  संक्रमण से दीर होने के बाद भी लोग अब गंभीर बीमारियों के शिकार हो रहे हैं. गुजरात के सूरत शहर में करीब पंद्रह दिनों में तीन दर्जन से अधिक ऐसे केस सामने आये हैं. इनमें आठ मरीजों की आंखें निकालनी पड़ी. इस… Continue reading Corona Impact:अब संक्रमण के कारण निकालनी पड़ रही हैं आंखें, सूरत में मिले सबसे ज्यादा मरीज

Corona Update: कोरोना से बिगड़ते हालातों को देखते हुए अब बिहार में 15 मई तक लॉकडाउन 

Patna: कोरोना के बढ़ते मामलों के देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आखिरकार बिहार में 15 मई तक के लिए लॉकडाउन लगाने का एलान कर दिया है. सीएम ने अपने ट्वीटर हैंडल पर यह एलान करते हुए लिखा है कि बिहार में 15 मई तक पूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है. लॉकडाउन की अधिसूचना शाम तक जारी हो सकती है. नीतीश ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि कल सहयोगी मंत्रीगण एवं पदाधिकारियों के साथ चर्चा के बाद बिहार में फिलहाल 15 मई, 2021 तक लॉकडाउन लागू करने का निर्णय लिया गया. इसके विस्तृत मार्गनिर्देशिका एवं अन्य गतिविधियों के संबंध में आज ही आपदा प्रबंधन समूह को कार्रवाई करने के लिए निर्देश दिया गया है. बिहार में बढ़ते जा रहे हैं कोरोना के मामले मालूम हो कि बिहार में कोरोना से हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. आइएमए जैसी संगठनों ने भी कारोना की चेन तोड़ने के लिए सरकार से लॉकडाउन लगाने की मांग की थी. जानकारी के अनुसार लॉकडाउन के तहत बिहार के सभी कार्यालय बंद रहेंगे, सिर्फ आवश्यक सेवाओं के कार्यालय खुलेंगे. आवश्यक खाद्य सामग्री फल, सब्जी, दूध, पीडीएस की दुकानें सुबह 7:00 बजे से 11:00 बजे तक ही खुलेंगे. सार्वजनिक स्थानों पर अनावश्यक पैदल चलना… Continue reading Corona Update: कोरोना से बिगड़ते हालातों को देखते हुए अब बिहार में 15 मई तक लॉकडाउन 

Right Or Wrong: समझाने के बाद भी बाहर घूम रहे थे संक्रमित, कलेक्टर ने 24 घंटे के लिए घर के बाहर लगवा दिया ताला

Niwari : देशभर में कोरोना की दूसरी लहर से हाहाकार मचा हुआ है. मध्यप्रदेश में हालात और भी ज्यादा खराब है. इन सबके बाद भी कुछ लोगों की लापरवाही प्रशासन के लिए भी सिरदर्द बनी हुई है. ताजा मामला मध्य प्रदेश के निवाड़ी जिले से है जहां कोरोना संक्रमितों के बार-बार घर के बाहर निकल कर घूमने की जानकारी प्रशासन को मिल रही थी. प्रशासन के कई बार समझाने के बाद भी संक्रमित नहीं मान रहे थे.  इसके बाद जिला कलेक्टर आशीष भार्गव जो किया उसे सही नहीं ठहराया जा सकता लेकिन इन परिस्थितियों में लोगों को भी थोड़ी जिम्मेवारी से काम लेना होगा. इसके पीछे का कारण भी है कि हम इस विपरीत परिस्थितियों में हर हालात का जिम्मेवार प्रशासन और सरकार को नहीं ठहरा सकते.  कुछ जिम्मेदारियां हमारी भी बनती हैं. क्या है मामला मध्य प्रदेश के निवाड़ी जिले में रहने वाले कुछ लोगों के बाहर घूमने की सूचना प्रशासन को मिल रही थी. जानकारी के अनुसार कुछ स्थानीय लोग इस विषय में प्रशासन के पास बार-बार मदद की गुहार लगा रहे थे.  जब कई बार समझाने के बाद भी संक्रमित नहीं माने तो जिला कलेक्टर ने संक्रमित मरीजों के घर के बाहर ताला लगवा दिया. 24 घंटो… Continue reading Right Or Wrong: समझाने के बाद भी बाहर घूम रहे थे संक्रमित, कलेक्टर ने 24 घंटे के लिए घर के बाहर लगवा दिया ताला

Viral Mask Video : तिहाड़ जेल की हवा खाकर बाहर आया मास्क पर पुलिस से उलझने वाला कपल, पति ने पत्नी को बताया दोषी 

New Delhi: देशभर में कोरोना की दूसरी लहर से हाहाकार मचा हुआ है. अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की किल्लत से लोगों की जान जा रही है. इसके बाद भी लोग लापरवाही करना नहीं बंद कर रहे हैं. हाल ही में दिल्ली के कपल का पुलिस के साथ बहस करते हुए वीडियो वायरल हो गया था.  सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद लोग कपल को गलत ठहरा रहे थे.  क्योंकि एक तो उन्होंने मास्क नहीं पहना था और दूसरा वे पुलिस के साथ बदतमीजी करते हुए नजर आ रहे थे. कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने और ऑन ड्यूटी पुलिसकर्मी के साथ बदतमीजी करने के आरोप में पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर तिहाड़ जेल भेज दिया था. कपल के वकील ने दो बार कोर्ट में बेल के लिए अर्जी दी थी लेकिन दोनों ही बार कोर्ट ने बेल की अर्जी को याचिका को खारिज कर दिया था. तीसरी बार में कोर्ट ने दिया बेल मास्क ना पहनने को लेकर शुरू हुई बहस में कपल ने पुलिसकर्मियों के साथ बदतमीजी करनी शुरू कर दी थी. पुलिस ने पति पंकज दत्ता और पत्नी आभा गुप्ता के खिलाफ आईपीसी की धारा 188, 34, 51बी, डीडीएम 353 और 186 के तहत केस… Continue reading Viral Mask Video : तिहाड़ जेल की हवा खाकर बाहर आया मास्क पर पुलिस से उलझने वाला कपल, पति ने पत्नी को बताया दोषी 

Hospitals नहीं आ रहे हैं आदतों से बाज,  मरीज की मौत के 4 दिन बाद तक ठगते रहे पैसे

Prayagraj: उत्तर प्रदेश से एक बार फिर बड़ी लापरवाही की खबर सामने आई है. जानकारी के अनुसार अस्पताल प्रबंधन कोरोना संक्रमित बुजुर्ग की मौत के बाद भी इलाज के नाम पर परिजनों से ठगी करता रहा.  यह मामला स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल का बताया जा रहा है. परिजनों का आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन ने मरीज के मौत की खबर 4 दिन तक छिपाए रखी.  इसके साथ ही अस्पताल वाले मरीज के परिजनों से जूस, खाने के पैसे और दवाओं के नाम पर ठगी करते रहे. परिजनों ने बताया कि अस्पताल ये कह कर अपने मरीज से मिलने के लिए रोकता रहा कि अभी मरीज में कोरोना  काफी बढ़ा हुआ है. ऐसे में यदि आप मरुज से मिलने जाते हैं तो आपको भी कोरोना का संक्रमण हो सकता है. ऐसे हुआ खुलासा परिजनों को इस बात का अंदाजा भी नहीं था कि उनके मरीज की मृत्यु हो गई है.  4 दिन बाद परिजनों को यह पता चला कि उनका मरीज जिस बेड पर भर्ती था उस बेड पर दूसरा मरीज को भर्ती कर लिया गया है.  इसके बाद अस्पताल प्रबंधन की इस लापरवाही का खुलासा हो गया.  सच्चाई के सामने आने के बाद परिजनों ने अस्पताल में काफी हंगामा किया .… Continue reading Hospitals नहीं आ रहे हैं आदतों से बाज,  मरीज की मौत के 4 दिन बाद तक ठगते रहे पैसे

कैसे मान लें कि आप भगवान हो ! कोरोना के टीके के जगह, कुत्ते के काटने पर दिये जाने वाला दे दिया इंजेक्शन

Hamirpur: कोरोना वैक्सीनेशन के नाम पर केंद्र और राज्य सरकार अपनी तारीफ करना बंद नही कर रही हैं. देश में जैसे-जैसे कोरोना का संक्रमण विक्राल होता जा रहा है वैसे-वैसे लापरवाही भी बढ़ती जा रही है. ताजा मामला योगी आद्त्यनाथ के राज्य यूपी के हमीरपूर से है. यहां एक बुजुर्ग जब कोरोना का टीका लगवाने गये तो डॉक्टर ने कोरोना की जगह कुत्ते काटने पर दिये जाने वाला टीका दे दिया. बता दें कि डॉकटर ने ऐसा गलती से नहीं किया बल्कि होशो आवाज में कोरोना की जगह कुत्ते के काटने पर दिया जाने वाला इंजेक्शन दे दिया.  बुजुर्ग को जब शक हुआ तो इस बाबत उसने डाक्टर से सवाल किये कि उसे कुत्ते ने नहीं काटा है और वो कोरोना का टीका लेने आया है इसके बाद भी डॉक्टर ने ये कह कहकर बुजुर्ग की बात को अनसुनी कर दी कि डॉक्टर तुम हो या मैं… पर्ची देख समझ आया मामला बुजुर्ग का कहना है कि पहले तो उसे भी समझ नहीं आया कि क्या हो रहा है. बाद में जह डॉक्टर ने उसे पर्ची दी तो उसे सारा मामला समझ आ गया. पर्ची में तीन तारीखें लिखी हुई थी. बुजुर्ग का कहना है कि पर्ची देखकर मुझे समझ… Continue reading कैसे मान लें कि आप भगवान हो ! कोरोना के टीके के जगह, कुत्ते के काटने पर दिये जाने वाला दे दिया इंजेक्शन

राजस्थान: कोरोना संक्रमित होने के बाद भी कर ली फ्लाइट में यात्रा, यात्री और एयरलाइंस पर FIR दर्ज

Jaipur: देश कोरोना की दूसरी लहर से परेशान है, लेकिन लोग अभी लापरवाही करने से बाज नहीं आ रहे हैं. राजस्थान की लेकसिटी उदयपुर राज्य में कोरोना का सबसे बड़ा हॉट स्पॉट बन गया है. झीलों की नगरी में कोरोना काफी तेजी से बढ़ रहा है. यहां बता दें कि उदयपुर राजस्थान का एकमात्र ऐसा शहर है जहां 12 घंटे का नाइट कर्फ्यू (Night curfew) लगा हुआ है. ऐसे में एक बार फिर से बड़ी लापरवाही सामने आई है. उदयपुर के डीसी चेतन देवड़ा ने बताया कि एयरपोर्ट पर जांच में पॉजिटिव पाए जाने के बाद भी यात्र करने का मामला सामने आया है. इसके बाद से इस संबंध में मामला दर्ज किया गया है. इसके साथ ही  एयरपोर्ट में हुई लापरवाही को स्वीकारते हुए कहा है कि ये गलत है और मरीज के पॉजिटिव पाए जाने के बाद भी यात्र करना स्थिति को गंभीर करने जैसा है. RTPCR  की निगेटिव रिपोर्ट है अनिवार्य कोरोना के मामले को देखते हुए  राज्य सरकार के गृह विभाग और जिला आपदा प्रबंधन ने अन्य राज्यों से आने वाले यात्रियों को RTPCR की निगेटिव रिपोर्ट लेकर आना अनिवार्य कर रखा है.  लेकिन तीन दिन पहले 10 अप्रेल को उदयपुर पहुंचने पर एयरपोर्ट पर जांच… Continue reading राजस्थान: कोरोना संक्रमित होने के बाद भी कर ली फ्लाइट में यात्रा, यात्री और एयरलाइंस पर FIR दर्ज

राजस्थानः राविवि में एलएलबी के छात्रों की कॉपियां हुईं गायब

कोरोना काल में एक तो पहले ही छात्रों के एग्ज़ाम नहीं हो रहे हैं.  छात्रों को प्रमोट कर दिया जा रहा है.  लेकिन आरयू में एग्ज़ाम हुए तो भी  छात्रों की कॉपियां ही गायब हो गई. राजस्थान यूनिवर्सिटी में एक बार फिर लापरवाही भरा कारनामा सामने आया है. आरयू से एलएलबी के छात्रों की कॉपिया गायब होने का मामला सामने आया है. दरअसल जनवरी में एलएलबी के छात्रों का रिज़ल्ट ज़ारी किया था. छात्रों ने कम अंक की शिकायत होने के कारण रिवेल के बाद कॉपियां देखने की मांग की तो राजस्थान विश्वविद्यालय के पास छात्रों की कॉपियों के पन्ने ही गायब हैं.  इस तरह का मामला पहले कभी राविवि प्रशासन के सामने नहीं आया है परीक्षा नियंत्रक वीसी गुप्ता का कहना है कि जिससे भी गलती हुई उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी. यह भी पढ़ें महाराष्ट्र में कल से लाॅकडाउन जैसी पाबंदियां लागू, सीएम उद्धव ठाकरे ने किया ऐलान कमेटी मामले की जांच कर कुलपति को रिपोर्ट सौंपेगी राजस्थान विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा छात्रों को बताया गया कि उनकी कॉपियों के बीच के पन्ने नहीं होने के चलते उनको कॉपियां नहीं दी जा सकती हैँ.  इसके बाद से ही ये छात्र राजस्थान विश्वविद्यालय के चक्कर काट रहे हैं. राजस्थान विश्वविद्यालय… Continue reading राजस्थानः राविवि में एलएलबी के छात्रों की कॉपियां हुईं गायब

और लोड करें