प्रणब दा पंचतत्व में विलीन

पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का आज दोपहर पूरे राजकीय सम्मान के साथ लोधी रोड श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया।

प्रणब मुखर्जी का निधन!

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का दिल्ली में देहांत हो गया। प्रणब मुखर्जी का आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में इलाज चल रहा था। प्रणव मुखर्जी 84 साल के थे। प्रणब मुखर्जी

प्रणव के निधन पर राहुल ने जताया शोक

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।
गांधी ने कहा बहुत बहुत दुखद खबर है।

प्रणव मुखर्जी ने निधन पर कोविंद ,नायडू और मोदी ने किया शोक व्यक्त

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के निधन पर आज गहरा शोक व्यक्त किया।

प्रणब मुखर्जी की स्थिति और बिगड़ी: अस्पताल

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का स्वास्थ्य सोमवार को और खराब हो गया क्योंकि फेफड़े में संक्रमण की वजह से उन्हें सेप्टिक शॉक लगा है ।

प्रणव मुखर्जी गहरी बेहोशी की हालत में

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के स्वास्थ्य में बदलाव नहीं हुआ है और वह अभी भी बेहोशी की हालत में वेंटीलेटर पर हैं।

प्रणव मुखर्जी की हालत में बेहद मामूली सुधार

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के स्वास्थ्य में बेहद मामूली सुधार हुआ है हालाकि वह अभी भी बेहोशी की हालत में और वेंटीलेटर हैं।

प्रणब मुखर्जी गहरे कोमा में, वेंटिलेटर सपोर्ट जारी

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी गहरे कोमा में चले गए हैं। वह लगातार वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। आर्मी रिसर्च एंड रेफरल हॉस्पिटल (आर एंड आर) ने जारी मेडिकल बुलेटिन में

प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं: अस्पताल

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हुआ है और वह अभी वेंटिलेटर पर ही हैं। सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल ने रविवार को यह जानकारी दी।

प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में थोड़ा सुधार

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के स्वास्थ्य में हल्का सुधार हो रहा है। आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल ने आज यह जानकारी दी।

प्रणब मुखर्जी की हालत स्थिर : अस्पताल

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में आज कोई परिवर्तन नहीं हुआ और अब भी वह वेंटिलेटर पर हैं। मुखर्जी का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने यह जानकारी दी।

प्रणब मुखर्जी वेंटिलेटर सपोर्ट पर, हालत गंभीर

आर्मी रिसर्च एंड रेफरल हॉस्पिटल ने आज कहा कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ब्रेन सर्जरी के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट हैं और उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

हेमंत सोरेन पर विपक्ष का गोवर्धन!

हेमंत सोरेन ने शायद ही कभी सोचा होगा कि वे चुनाव जीत कर मुख्यमंत्री बनेंगे तो उनके कंधों पर उम्मीदों का इतना बड़ा पहाड़ लाद दिया जाएगा। चुनाव लड़ते हुए उन्होंने यह भी नहीं सोचा होगा कि उनकी जीत को नरेंद्र मोदी और अमित शाह की हार के रूप में प्रचारित किया जाएगा या इससे यह निष्कर्ष निकलेगा कि नागरिकता कानून सहित भाजपा के उठाए तमाम भावनात्मक मुद्दे बेअसर हो गए। वे तो बिल्कुल स्थानीय मुद्दों पर चुनाव लड़े थे पर उनकी जीत को सोशल मीडिया के सेकुलर रणबांकुरों ने पूरे देश में भाजपा की कथित विभाजनकारी नीतियों की हार का प्रतीक बना दिया। हकीकत यह है कि चुनाव के बाद झारखंड के नतीजों की जैसी बौद्धिक व्याख्याएं हुईं हैं और जितने निष्कर्ष निकाले गए हैं, उनमें से किसी निष्कर्ष के बारे में कम से कम चुनाव से पहले तो किसी ने नहीं सोचा था। चुनाव के बाद हेमंत सोरेन की जीत और उनकी शपथ को विपक्षी एकता का प्रतीक भी बना दिया गया है। इससे उनके ऊपर एक और बड़ी जिम्मेदारी आ गई है। इसकी वजह से उनके ऊपर वैचारिक रूप से झारखंड में ऐसी राजनीति करने का दबाव होगा, जो अनिवार्य रूप से भाजपा की राजनीति का विलोम… Continue reading हेमंत सोरेन पर विपक्ष का गोवर्धन!

हेमंत की शपथ में शक्ति प्रदर्शन

रांची। झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने रविवार को राज्य के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। वे राज्य के 11वें मुख्यमंत्री बने हैं। उन्होंने दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उनके शपथ ग्रहण समारोह में विपक्षी पार्टियों ने अपना शक्ति प्रदर्शन किया। तीन राज्यों के मुख्यमंत्री इस समारोह में शामिल हुए और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सहित लेफ्ट पार्टियों के नेताओं ने भी शपथ समारोह में शिरकत की। गौरतलब है कि झारखंड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस और राजद ने गठबंधन बना कर चुनाव लड़ा था। इन तीनो पार्टियों के प्रतिनिधि सरकार में शामिल हुए हैं। राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ तीन और मंत्रियों को शपथ दिलाई। तीन में से दो मंत्री कांग्रेस कोटे से हैं और एक राष्ट्रीय जनता दल से। हेमंत सोरेन ने अपनी पार्टी से अभी किसी को मंत्री नहीं बनाया है। कांग्रेस कोटे से कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने मंत्री पद की शपथ ली। राजद के इकलौते विधायक सत्यानंद भोक्ता भी मंत्री बने हैं। झारखंड में मुख्यमंत्री सहित 12 मंत्री हो सकते हैं। बाकी मंत्रियों की शपथ मकर संक्रांति के बाद होगी। हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण… Continue reading हेमंत की शपथ में शक्ति प्रदर्शन

विपक्षी एकता की पहल कौन करेगा?

डेढ़ साल पहले जिस तरह से कर्नाटक में सारे विपक्षी नेता जुटे थे, उस तरह का जमावड़ा झारखंड में होने जा रहा है। रविवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के शपथ समारोह में कांग्रेस और लेफ्ट सहित तमाम भाजपा विरोधी पार्टियों के नेता जुटेंगे। तमिलनाडु के एमके स्टालिन से लेकर कर्नाटक के एचडी देवगौड़ा और महाराष्ट्र में शरद पवार व उद्धव ठाकरे से लेकर पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी तक तो न्योता दिया गया है। ज्यादातर विपक्षी नेता शपथ समारोह में शामिल भी हो रहे हैं। कर्नाटक में भी ऐसा ही हुआ था। जब कांग्रेस और जेडीएस की साझा सरकार बनी थी तब राहुल गांधी से लेकर ममता बनर्जी और मुलायम सिंह तक सब शपथ समारोह में शामिल हुए थे। पर उस समय लोकसभा चुनाव को लेकर जोश और उम्मीदें थीं। तभी चंद्रबाबू नायडू से लेकर ममता बनर्जी तक कई नेता विपक्षी एकता की पहल कर रहे थे। पर अब बड़ा सवाल यह है कि विपक्ष की सभी पार्टियों का आपसी विवाद खत्म करा कर उनको एकजुट करने का प्रयास कौन करेगा? तमाम भाजपा विरोधी पार्टियों के नेता भले रांची में जुट रहे हैं पर उनके आपसी विवाद खत्म नहीं हुए हैं। सीपीएम के नेता सीताराम येचुरी ने दो टूक अंदाज… Continue reading विपक्षी एकता की पहल कौन करेगा?

और लोड करें