Recession

मंदी की बड़ी गहरी मार

दुनिया की आर्थिक हालत फिलहाल ऐसी हो गई है, जैसी पिछले कम से कम 30 साल में नहीं देखी गई। ज्यादा चिंताजनक बात यह है कि इस हाल से उबरने की अभी कोई सूरत भी नजर नहीं आ रही है।

यूएन ने भी कहा कि मंदी के हालात

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष, आईएमएफ के बाद अब संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी माना है कि दुनिया की अर्थव्यवस्था को इस साल मंदी झेलनी पड़ेगी। यूएनओ के मुताबिक कोरोना वायरस की वजह से बड़े आर्थिक नुकसान की...

दुनिया मंदी की चपेट में: आईएमएफ

वाशिंगटन। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष, आईएमएफ ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनिया विनाशकारी प्रभाव का सामना कर रही है और स्पष्ट रूप से आर्थिक मंदी की गिरफ्त में आ गई है। हालांकि, आईएमएफ ने अगले...

जीडीपी वृद्धि दर गिरने पर सोशल मीडिया पर सरकार आलोचना

भारत की जीडीपी विकास दर 2019-20 की दूसरी तिमाही में गिरकर 4.5 प्रतिशत हो गई है, जिसके बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने सरकार पर निशाना साधा है। वृद्धि दर को पुनर्जीवित करने के उद्देश्य से कई सरकारी उपायों के बावजूद, भारतीय अर्थव्यवस्था गिरती जा रही है।

अर्थव्यवस्था में गिरावट बेथाह

अर्थव्यवस्था की बिगड़ती हालत का शायद इससे अधिक गंभीर संकेत और क्या होगा? जब सरकारी विभाग अपने लिए तय लक्ष्यों को हासिल करने में असमर्थता जताने लगें, तो साफ हो जाता है कि आर्थिक गिरावट थमने का नाम नहीं ले रही। हैरतअंगेज यह है कि इन सब संकेतों के बावजूद केंद्र सरकार चिंतित नहीं दिखती।

किसानों को बोनस देने से छत्तीसगढ़ में मंदी का असर कम: भूपेश

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज कहा कि प्रदेश में किसानों को धान का बोनस देने से मंदी का असर कम हुआ जिससे दीपावली पर्व पर जमकर खरीदी हुई है। बघेल ने यहां कांग्रेस भवन में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि हमने गांव, गरीब, किसान और आदिवासियों की चिंता की है। किसानों को धान का बोनस दिया, यही वजह है कि इस वर्ष मंदी के बाद भी दीपावली पर्व पर प्रदेश में जमकर खरीदी हुई है।
- Advertisement -spot_img

Latest News

शुगर की दवा मेटफॉर्मिन करेगी कोरोना संक्रमितों की सहायता- शोध

delhi: कोरोना वायरस ने पिछले डेढ़ साल से आतंक मचा रखा है। एक शोध में कोरोना सबसे पहले फेफडों...
- Advertisement -spot_img