मतगणना से पहले राजद, कांग्रेस की तैयारी

मंगलवार को होने वाली मतगणना से पहले रविवार को राजद और कांग्रेस के विपक्षी गठबंधन ने हर स्थिति से निपटने की तैयारी की। एक्जिट पोल में स्पष्ट बहुमत मिलने की भविष्यवाणी से उत्साहित राष्ट्रीय जनता दल ने अपने समर्थकों से कहा कि वे नतीजों के दौरान शांति बनाए रखें।

एक्जिट पोल में तेजस्वी की सरकार!

बिहार विधानसभा के तीन चरण में हुए चुनाव के आखिरी चरण का मतदान खत्म होने के बाद शनिवार को आए एक्जिट पोल में तेजस्वी यादव के नेतृत्व वाले महागठबंधन की सरकार बनती दिख रही है

मध्य प्रदेश के नतीजों का बड़ा मतलब होगा

मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा चुनावों के नतीजे बहुत मतलब वाले होंगे। इसलिए नहीं कि राज्य की शिवराज सिंह चौहान सरकार को इस नतीजे से बहुमत हासिल करना है।

लगातार पांच जीत पूरी टीम के प्रयास का परिणाम है: राहुल

कोलकाता नाईट राइडर्स को आठ विकेट से हराने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान केएल राहुल ने कहा कि लगातार पांच जीत पूरी टीम के प्रयास का परिणाम है।

जेईई एडवांस के नतीजे घोषित, बॉम्बे जोन के छात्र ने किया टॉप

आज जेईई एडवांस के नतीजे घोषित कर दिए गए। 40,000 से अधिक छात्र-छात्राओं ने यह परीक्षा उत्तीर्ण की है।

सीबीएसई के दसवीं के नतीजे जारी

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के दसवीं बोर्ड के नतीजे कल घोषित किए जाएंगे।यह जानकारी आज यहां मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट कर दी।

दिल्ली का बड़ा फायदा नीतीश को

दिल्ली के चुनाव नतीजों से सबसे ज्यादा खुश और संतोष में कोई होगा तो बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार होंगे। भाजपा की सहयोगी जनता दल यू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार की पार्टी पिछले कुछ समय से भाजपा पर दबाव बनाने की रणनीति के तहत काम कर रही थी।

ईवीएम पर उठने वाले सवालों का क्या होगा

दिल्ली के चुनाव नतीजों के बाद सोशल मीडिया में भाजपा के समर्थक एक सवाल पूछे रहे हैं, जिसका जवाब निश्चित रूप से दिया जाना चाहिए। भाजपा समर्थक पूछ रहे हैं कि झारखंड और दिल्ली के चुनाव नतीजों के बाद क्या यह मान लिया जाना चाहिए

सिविल जज के पद की परीक्षा व परिणाम निरस्त

छत्तीसगढ़ लोकसेवा आयोग द्वारा मई—2019 में सिविल जज के 39 पदों पर भर्ती परीक्षा आयोजित की थी। इस परीक्षा में 70 से अधिक प्रश्ना में ग्रामर की गलती और लगभग 15 प्रश्न गलत होने का दावा किया गया था।

जनादेश तो भाजपा के विरूद्ध है!

महाराष्ट्र और हरियाणा दोनों राज्यों में भाजपा की सरकार बन जाएगी। पर हकीकत यह है कि जनादेश दोनों राज्यों की भाजपा की मौजूदा सरकारों के खिलाफ है। इन दोनों राज्यों के अलावा कोई डेढ़ दर्जन राज्यों में 50 के करीब विधानसभा और दो लोकसभा सीटों पर उपचुनाव भी हुए थे।

तमाम ब्रह्मास्त्रों के बावजूद

भारतीय जनता पार्टी के तमाम ब्रह्मास्त्र थे। माहौल, पैसा, नेतृत्व, मीडिया समर्थन सब कुछ उसके पास थे। और उसके ऊपर थी ओपन डोर पॉलिसी। यानी दूसरी पार्टियों के प्रभावशाली नेताओं को बिना किसी संकोच के अपने में मिलाने की नीति।

नतीजों के बाद कांग्रेस में झगड़ा बढ़ेगा!

महाराष्ट्र और हरियाणा के विधानसभा चुनावों के लिए मतदान के बाद एक्जिट पोल के जो अनुमान आए हैं, अगर असली नतीजे भी ऐसे ही आए तो कांग्रेस के लिए बड़ा संकट होगा।

और लोड करें