सस्ते तेल से कितना फायदा?

बेशक इसका प्रमुख कारण कोरोना वायरस का फैला आतंक है। मगर इसके पीछे रूस और सऊदी अरब में बढ़ा तनाव भी एक वजह है। भारत जैसे देश के लिए फिलहाल कच्चे तेल के भाव में गिरावट का फायदेमंद असर होगा, लेकिन इसके कई नकारात्मक प्रभाव भी हैं। दरअसल, अंतरराष्ट्रीय तेल बाजार में कच्चे तेल के दामों में जैसी गिरावट पिछले हफ्ते देखने को मिली, वैसी पिछले तीन दशक में नहीं देखी गई। इसके बीछे एक वजह यह है कि सऊदी अरब ने तेल की गिरी हुई खपत से नुकसान से उबरने के लिए तेल की आपूर्ति और घटाने का प्रस्ताव कर दिया। तेल का निर्यात करने वाले देशों के संगठन (ओपेक) में इस पर सहमति नहीं हुई। 2016 से सऊदी अरब और रूस ने मिलकर तेल की आपूर्ति में कटौती को 21 लाख बैरल प्रति दिन के स्तर पर बरकरार रखा था। सऊदी अरब अब चाह रहा है कि इसमें 15 लाख बैरल प्रति दिन की अतिरिक्त कटौती की जाए। लेकिन रूस राजी नहीं हुआ। अमेरिका विश्व का सबसे बड़ा तेल उत्पादक बन चुका है। रूस उसे बाजार पर और पकड़ बनाने से रोकना चाहता है। उसे लगता है कि ओपेक देश अगर आपूर्ति और गिराएंगे, तो अमेरिका को बाजार… Continue reading सस्ते तेल से कितना फायदा?

सउदी अरब में तख्ता-पलट ?

सउदी अरब के राज-परिवार में जबर्दस्त उथल-पुथल मची हुई है। बादशाह सलमान 84 साल के हो गए हैं। वे अस्वस्थ भी रहते हैं। राज-परिवार के कई शाहजादों में बादशाहत की होड़ लगी हुई है। इस समय जिन्हें युवराज बना रखा है, वे हैं, बादशाह सलमान के बेटे मोहम्मद ! ये मोहम्मद वही हैं जो सारी दुनिया में दो साल पहले बदनाम हो गए थे, तुर्की में प्रसिद्ध पत्रकार जमाल खाशोग्गी की हत्या करवाने के लिए। मोहम्मद काफी तेज-तर्रार युवराज हैं। उन्होंने सउदी अरब के पुराने ढर्रे की कई रुढ़ियों को उलट-पुलट दिया है। उन्होंने अनेक प्रगतिशील कदम भी उठाए हैं, जिनसे कई पोंगापंथी मुल्ला-मौलवी नाराज हैं और राजमहल के अन्य कई शहजादें उनसे पिंड छुड़ाने के लिए कमर कसे हुए हैं। अब उन्होंने राजमहल के तीन शाहजादों और उनके समर्थक कई अफसरों को गिरफ्तार और नजरबंद कर लिया है। उन्हें आजन्म कारावास या मौत की सजा, दोनों में से कुछ भी मिल सकता है। हमें यह घटना औरंगजेब और दाराशिकोह की याद दिला रही है। खुद मोहम्मद ने 2017 में अपने ताऊ के बेटे बड़े भाई और युवराज मोहम्मद बिन नाएफ को एक तख्ता-पलट में उलट दिया था और खुद युवराज बन बैठे थे। जब 2016 में बिन नएफ युवराज… Continue reading सउदी अरब में तख्ता-पलट ?

सऊदी अरब की यात्रा से लौटे मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिन की सऊदी अरब की यात्रा के बाद भारत लौट आए हैं। अपनी दो दिन की इस यात्रा में प्रधानमंत्री ने सऊदी अरब के शाह के साथ साथ जॉर्डन के किंग से भी मुलाकात की और एक अहम आर्थिक सम्मेलन को संबोधित किया।

मोदी ने कहा संयुक्त राष्ट्र में सुधार की जरुरत

धानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र में सुधार की जरुरत पर जोर दिया है। मोदी ने कहा कि कुछ देश संयुक्त राष्ट्र को विवाद सुलझाने की “संस्था” के रूप में इस्तेमाल करने की बजाय एक “औजार” की तरह इसका उपयोग कर रहे हैं।

भारत और सऊदी के बीच कई समझौते पर हस्ताक्षर

बहुचर्चित वैश्विक वित्तीय सम्मेलन (एफआईआई) में शामिल होने खाड़ी साम्राज्य के दो दिन के दौरे पर पहुंचे मोदी ने सऊदी अरब के शाह सलमान बिन अब्दुल अजीज से मुलाकात की और दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने पर करीब से काम करने को लेकर विचार साझा किए।

सऊदी अरब के शाह से मिले मोदी

एक अहम आर्थिक सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को यहां सऊदी अरब के किंग सलमान बिन अब्दुल अजीज अल सऊद से मुलाकात की।

और लोड करें