दोमुंही शिक्षाः इंडिया और भारत

नई शिक्षा नीति बनाकर सरकार ने सराहनीय कार्य किया है लेकिन ऐसा करने में उसने छह साल क्यों लगा दिए ? उसके छह साल लग गए याने शिक्षा के मामले में उसका दिमाग बिल्कुल खाली था ? शून्य था ?

नई शिक्षा नीतिः कुछ नई शंकाएं

नई शिक्षा नीति में मातृभाषाओं को जो महत्व दिया गया है, कल मैंने उसकी तारीफ की थी लेकिन उसमें भी मुझे चार व्यावहारिक कठिनाइयां दिखाई पड़ रही हैं।

नई शिक्षा नीतिः कुछ प्रश्न

नई शिक्षा नीति का सबसे पहले तो इसलिए स्वागत है कि उसमें मानव-संसाधन मंत्रालय को शिक्षा मंत्रालय नाम दे दिया गया।

प्रदेश की स्कूली शिक्षा को बेहतर बनाने ठोस कदम उठाये जायेंगे:चौधरी

मध्यप्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में स्कूली शिक्षा को बेहतर बनाने के लिये प्रतिबद्ध है। शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण बनाने के लिये ठोस कदम उठाये जायेंगे।

और लोड करें