म्यांमार में हुए नरसंहार पर आखिर क्यों चुप हैं सबसे ‘ताकतवर लोकतंत्र’ के पीएम नरेंद्र मोदी

दुनिया के सबसे पुरानी और ताकतवर लोकतंत्र  (powerful democracy)_कहे जाने वाले भारत के प्रधानमंत्री म्यांमार (Myanmar) में हुए नरसंहार की खिलाफ एक लफ्ज़ भी नहीं बोलते. इसे लेकर देशभर में चर्चाओं का बाजार गर्म है.   इस मुद्दे पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कोई बयान नहीं दिया है. मारे गए लोग कौन थे… वो कहां से आए थे…. 100 से ज्यादा की संख्या में लोकतंत्र की बहाली के लिए प्रदर्शन कर रहे लोगों की मौत हो जाती है और दुनिया का सबसे ताकतवर लोकतंत्र का प्रधानमंत्री एक शब्द भी नहीं बोलता.सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले पीएम मोदी के इस मुद्दे पर शांत रहने पर दूसरे देशों से भी प्रतिक्रियाएं आ रही है. यह बात इतनी सामान्य नहीं है जितनी सामान्य लग रही है. ऐसे दावे सोशल मीडिया में किये जा रहे हैं. बात अगर सोशल मीडिया की हो फिर भी ये सवाल तो मन में आता ही है कि पीएम मोदी चुप क्यों हैं…. क्या चुप्पी की वजह है अदानी ग्रुप म्यांमार में हुई मौतों पर प्रधानमंत्री की चुप्पी को सीधे तौर पर अदानी ग्रुप से साथ जोड़ा जा रहा है. इस मुद्दे में सोशल मीडिया पर तरह तरह के विचार भी व्यक्त किए जा… Continue reading म्यांमार में हुए नरसंहार पर आखिर क्यों चुप हैं सबसे ‘ताकतवर लोकतंत्र’ के पीएम नरेंद्र मोदी

एक सीएम और अज्ञानता प्रदर्शन!

मुख्यमंत्री बनने के बाद मोदी की तारीफ में कुछ ऐसा कहना था, जो किसी ने नहीं कहा हो। इसलिए उनकी तुलना भगवान राम से की।

विरोध का टुकड़े-टुकड़े अंदाज

देश में कोई टुकड़े-टुकड़े गैंग हो या नहीं, लेकिन एक बड़ा समूह ऐसा जरूर है, जो टुकड़े-टुकड़े में विरोध जताने से आगे नहीं बढ़ पाता। समस्या यह है कि वह सोशल मीडिया का एडिक्ट है और उसे इस पर कोई विवाद या बहस करने का मुद्दा चाहिए। इस लिहाज से तीरथ सिंह रावत का बयान जरूर माफिक था।

पहनावे पर दिए बयान में फंसे मुख्यमंत्री रावत

उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत महिलाओं के पहनावे पर दिए बयान में फंस गए हैं। महिलाओं के फटी जींस पहनने और घुटने दिखाने के उनके बयान की चौतरफा आलोचना हो रही है।

WhatsApp के ये नये फीचर्स अगर नहीं किये यूज तो जल्दी करें….

ये जानकर अच्छा लगेगा कि आप WhatsApp का उपयोग मल्टीपल डिवाइस में भी कर सकते हैं. लंबे समय से मांग चल रही…

गिरिराज के बयान से नीतीश नाराज

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने अपने बयान से एक बार फिर विवाद खड़ा कर दिया है। इस बार उनके बयान से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी नाराज हैं। नीतीश ने उनके बयान पर अपनी नाराजगी रविवार को सार्वजनिक भी कर दी।

राहुल पर हमला कर भाजपा असल मुद्दों से ध्यान भटका रही : कांग्रेस

केरल में मंगलवार को राहुल गांधी के बयान के बाद विवाद खड़ा हो गया, जिसके बाद कांग्रेस ने आज कहा कि भाजपा तेल की बढ़ती कीमतों, महंगाई, चीनी घुसपैठ और किसानों के विरोध

भारत-चीनः अभी बहुत कुछ बाकी है

चीन के साथ लद्दाख में चल रहे सीमा-विवाद का अब हल होता नजर आ रहा है। बस, वह नजर आ रहा है। अभी हम यह नहीं कह सकते कि वह हल हो गया है। ऐसा मैं इसलिए कह रहा हूं कि पिछले साल मई में जब चीन के साथ हमारी मुठभेड़ हुई थी, तब टकराव पांच क्षेत्रों में हुआ था। दोनों देशों के बीच की जो वास्तविक नियंत्रण रेखा है, उसके आस-पास के वे चार इलाके ये हैं- (1) गोगरा पोस्ट का पेट्रोलिंग पांइट 17 ए (2) पीपी के पास हाॅट स्प्रिंग (3) गलवान घाटी (4) देपसांग प्लेस ! इन पर अभी समझौता होना बाकी है। इन इलाकों में चीनी सैनिकों ने घुसपैठ कर ली थी। भारतीय और चीनी सैनिकों की मुठभेड़ में हमारे 20 जवान शहीद हुए और यह समझा जाता है कि चीनियों के लगभग 50 जवान मारे गए। अब रक्षा मंत्री राजनाथसिंह का संसद में बयान आया है कि चीन ने भारतीय जमीन खाली करना शुरु कर दिया है। यदि राजनाथसिंह की यह बात ठीक है तो मानना पड़ेगा कि नरेंद्र मोदी का यह बयान बिल्कुल गलत था कि चीन के फौजियों ने हमारी एक इंच जमीन पर भी कब्जा नहीं किया है। यदि ऐसा है तो… Continue reading भारत-चीनः अभी बहुत कुछ बाकी है

भारत ने चीन को दे दी जमीन

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी एलएसी पर चीन के साथ पिछले नौ महीने से चल रहे गतिरोध के खत्म होने की घोषणा के एक दिन बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को कठघरे में खड़ा किया है।

लद्दाख में शांति बहाली!

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव के खत्म होने की खबरों के बीच गुरुवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह संसद में अपना बयान रख सकते हैं। खबरों में बताया जा रहा है

पवार का बयान, राहुल सोचे!

कांग्रेस की सहयोगी एनसीपी के नेता शरद पवार ने राहुल गांधी को लेकर ऐसे समय में बयान दिया, जब कांग्रेस फिर से राहुल को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की तैयारी में जुटी है।

राहुल नाराज पर कमलनाथ माफी नहीं मांगेंगे

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के एक बयान पर राहुल गांधी ने नाराजगी जताई है और कहा है कि वे इस तरह की भाषा पसंद नही करते हैं। इसके बावजूद कमलनाथ ने माफी मांगने से इनकार कर दिया है।

महिला मंत्री को ‘आइटम’ बोल कर फंसे कमलनाथ

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा भारतीय जनता पार्टी की नेता एवं मंत्री इमरती देवी को लेकर दिए गए अमर्यादित बयान को लेकर आज कहा

विशेष ट्रेनों में 97 मजदूर मरे थे

कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए अचानक लागू किए गए लॉकडाउन की अवधि में पलायन करने वाले प्रवासी मजदूरों की मौत का आंकड़ा नहीं रखने के लिए निशाने पर आई सरकार ने अब माना है कि विशेष ट्रेनों में 97 मजदूरों की मौत हुई थी।

भारत-चीनः सच्चाई क्या है ?

एक तरफ संसद में रक्षा मंत्री और गृहराज्य मंत्री के बयान और दूसरी तरफ चीनी विदेश मंत्रालय का बयान, इन सबको एक साथ रखकर आप पढ़ें तो आपको पल्ले ही नहीं पड़ेगा कि गलवान घाटी में हुआ क्या था

और लोड करें