पश्चिमी देश अब क्या करेंगे?

ईरान ने अपने एक भूमिगत न्यूक्लियर प्लांट में यूरेनियम का संवर्धन तेज कर दिया है। ये कदम उसने बाकायदा एलान कर उठाया है। जाहिर है, ईरान ने 2015 में हुई परमाणु डील से दूर जाने होने की दिशा में बड़ा कदम उठा लिया है।