nayaindia Shamita Shetty खतरनाक बीमारी एंडोमेट्रियोसिस से जूझ रही शमिता शेट्टी
BOLLYWOOD

खतरनाक बीमारी एंडोमेट्रियोसिस से जूझ रही शमिता शेट्टी

Share
Shamita Shetty Is Struggling With Dangerous Disease Endometriosis

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस शमिता शेट्टी (Shamita Shetty) एंडोमेट्रियोसिस नामक गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं। बीमारी का पता चलते के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया और उनकी सर्जरी भी की गई। शमिता ने इंस्टाग्राम पोस्ट पर एक वीडियो शेयर किया। इसमें वह एंडोमेट्रियोसिस (Endometriosis) के बारे में बात करती नजर आ रही हैं। आपको बता दें कि एंडोमेट्रियोसिस एक ऐसा चिकित्सकीय विकार है, जिसमें यूट्रस के अंदर पाए जाने वाले टिश्यू एंडोमेट्रियोसिस टिश्यू की तरह ही बढ़ते हैं और ये टिश्यू गर्भाशय के बाहर बढ़ने लगते हैं। जिससे ज्यादा पीरियड होने के साथ-साथ फर्टिलिटी संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। बहन शिल्पा शेट्टी द्वारा कैप्चर किए गए वीडियो में शमिता अस्पताल के बिस्तर पर हैं और वह कहती हैं, “क्या व्यू है वाह… क्या हुआ है।

Shamita Shetty

शमिता (Shamita) ने जवाब दिया मुझे एंडोमेट्रियोसिस है, मुझे तो पता भी नहीं था कि यह क्या होता है। कृपया सभी महिलाएं गूगल पर एंडोमेट्रियोसिस (Endometriosis) के बारे में जरूर सर्च करें। आपका यह जानना जरूरी है कि आखिर यह समस्या क्या है। शिल्पा फिर पूछती हैं आखिर क्यों सभी महिलाओं को इस बारे में क्यों पता होना चाहिए? इस पर शमिता जवाब देती हैं क्योंकि इसके होने का पता भी नहीं चलता है और यह काफी पेनफुल है। यह अनकंफर्टेबल है। शिल्पा उन्हें सर्जरी से पहले कुछ बोलने के लिए कहती हैं। इस पर शमिता कहती है कि शरीर में दर्द किसी न किसी कारण से होता है। आप अपने शरीर की बात सुनिए। इसके बाद शिल्पा ‘स्वस्थ रहो, मस्त रहो’ कहकर वीडियो खत्म कर देती है।

इस वीडियो को शेयर करते हुए शमिता ने कैप्शन में लिखा क्या आप जानते हैं कि लगभग 40 प्रतिशत महिलाएं एंडोमेट्रियोसिस (Endometriosis) से पीड़ित हैं.. और हममें से ज्यादातर लोग इस बीमारी से अनजान हैं!!! उन्होंने आगे लिखा मैं अपने दोनों डॉक्टरों — डॉ. नीता वार्टी और डॉ. सुनीता बनर्जी को धन्यवाद देना चाहती हूं कि वे तब तक नहीं रुके जब तक उन्हें मेरे दर्द का मूल कारण पता नहीं चल गया!

यह भी पढ़ें:

सुशील मोदी के दुखद निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ: ममता

हेमंत सोरेन को नहीं मिली राहत

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें