nayaindia assembly election result Telangana तेलंगाना से कांग्रेस को सांत्वना
Trending

तेलंगाना से कांग्रेस को सांत्वना

ByNI Desk,
Share

हैदराबाद। उत्तर भारत के तीन राज्यों में कांग्रेस भले हार गई लेकिन दक्षिण भारत के एक और राज्य में उसकी सरकार बनने का रास्ता साफ हो गया। तेलंगाना में कांग्रेस ने 10 साल से सरकार चला रही भारत राष्ट्र समिति को हरा कर कांग्रेस ने बहुमत हासिल कर लिया है।  राज्य की कुल 119 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस ने 64 सीटें जीती हैं। बहुमत का आंकड़ा 59 सीटों का है। सत्तारूढ़ बीआरएस को 39 सीटें मिली हैं। भारतीय जनता पार्टी ने उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन किया है। उसके उम्मीदवार आठ सीटों पर जीते हैं।

तेलंगाना में कांग्रेस को 39.47 फीसदी वोट मिले, जबकि बीआरएस को 37.40 फीसदी वोट मिले। भाजपा को लगभग 14 फीसदी वोट मिला है। राज्य की कामारेड्डी सीट पर भाजपा के उम्मीदवार के वेंकट रमना रेड्डी ने मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव और कांग्रेस के संभावित मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी दोनों को हराया। हालांकि भाजपा के तीनों सांसद चुनाव नहीं जीत सके। भाजपा ने अपने चार में से तीन सांसदों को चुनाव मैदान में उतारा था। असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम को सात सीटें मिली हैं। उसने नौ सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे। एक सीट पर सीपीआई का उम्मीदवार जीता है।

मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव दो सीटों से चुनाव लड़े थे। वे कामारेड्डी सीट पर हार गए लेकिन अपनी पारंपरिक गजवेल सीट पर जीत गए। इसी तरह कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रेवंत रेड्‌डी भी कामारेड्डी से हारे लेकिन कोडांगल सीट से चुनाव जीत गए हैं। भाजपा के तीनों सांसद विधानसभा का चुनाव हार गए हैं। करीमनगर के सांसद और भाजपा के पूर्व अध्यक्ष बंदी संजय कुमार करीमनगर विधानसभा सीट से हारे हैं तो कोरात्ला से निजामाबाद के सांसद धर्मपुरी अरविंद और बोथ से आदिलाबाद के सांसद सोयम बापू राव हार गए हैं। चुनाव से ठीक पहले पार्टी में वापसी करके चुनाव लड़े भाजपा के टी राजा सिंह गोशामहल सीट से जीत गए हैं।

बहरहाल, तेलंगाना में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रेवंत रेड्डी के घर पर जश्न मनाया जा रहा है। रुझान साफ होने के बाद ही तेलंगाना के पुलिस महानिदेशक अंजनी कुमार और कुछ अन्य पदाधिकारी रेवंत रेड्डी से मिलने उनके घर पहुंचे। माना जा रहा है कि रेड्डी ही राज्य के मुख्यमंत्री बनेंगे। तभी सरकारी अधिकारियों ने उनके घर पहुंचकर उन्हें बधाई दी है। हालांकि आचार संहिता के दौरान कांग्रेस नेता को गुलदस्ता देकर बधाई देने पर चुनाव आयोग ने पुलिस महानिदेशक को निलंबित कर दिया है।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें