nayaindia ramlala janmabhoomi pran pratishtha अयोध्या में आज प्राण प्रतिष्ठा
Trending

अयोध्या में आज प्राण प्रतिष्ठा

ByNI Desk,
Share

अयोध्या। दुनिया भर के राम भक्त जिस घड़ी की प्रतीक्षा कर रही थी वह शुभ घड़ी आ गई है। सोमवार को अयोध्या में नए बने श्रीराम जन्मभूमि मंदिर में सोमवार को रामलला की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा होगी। अयोध्या इस भव्य कार्यक्रम के लिए पूरी तरह से तैयार है। मंदिर के साथ साथ पूरी अयोध्या नगरी को फूलों से सजाया गया है। मंगल ध्वनि के साथ सुबह 10 बजे से प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम शुरू हो जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्राण प्रतिष्ठा से जुड़े सभी धार्मिक अनुष्ठानों में सम्मिलित होंगे। इसके लिए वे सोमवार की सुबह अयोध्या पहुंचेंगे। प्रधानमंत्री पिछले 11 दिन से विशेष अनुष्ठान कर रहे हैं। प्राण प्रतिष्ठा के अगले दिन ही यह मंदिर आम लोगों के लिए खोल दिया जाएगा।

मंदिर के गर्भगृह में रामलला की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा का अनुष्ठान दोपहर 12 बज कर 20 मिनट पर शुरू होगा और एक बजे संपन्न हो जाएगा। इसके बाद आयोजन स्थल पर ही प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत संतों और कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे देश भर के प्रमुख लोगों को संबोधित करेंगे। प्राण प्रतिष्ठा के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए देश भर के करीब आठ हजार महत्वपूर्ण लोग पहुंच रहे है। इसमें राजनेताओं से लेकर कारोबार, फिल्म और खेल जगत की हस्तियां शामिल हैं।

प्राण प्रतिष्ठा समारोह का टेलीविजन और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स पर सीधा प्रसारण होगा, जिसके पूरी दुनिया में करोड़ों लोगों के देखने की उम्मीद है। इसे देखते हुए भाजपा शासित राज्यों के साथ साथ विपक्षी शासन वाले अनेक राज्यों में आधे दिन या पूरे दिन के अवकाश की घोषणा की है। केंद्र सरकार ने आधे दिन की छुट्टी का एलान किया है। सार्वजनिक व निजी क्षेत्र के बैंकों में भी आधे दिन की छुट्टी होगी और शेयर बाजार में भी कारोबार नहीं होगा। इस अवसर पर देश भर में शहरों, कस्बों और गांवों में विशेष आयोजन हो रहे हैं। दुनिया के अनेक देशों में प्रवासी भारतीयों ने विशेष उत्सव मनाने की तैयारी की है। वाशिंगटन से लेकर ब्रिटेन, फ्रांस और ऑस्ट्रेलिया तक दुनिया के विभिन्न हिस्सों में 22 जनवरी को कार्यक्रमों की घोषणा की गई है।

प्राण प्रतिष्ठा में आरएसएस से जुड़े अनिल मिश्र और उनकी पत्नी उषा मिश्र प्रधान यजमान हैं, जबकि देश के विभिन्न हिस्सों से 14 दंपती यजमान होंगे। इनमें हर जाति, समुदाय के लोग हैं। प्राण प्रतिष्ठा के लिए पूजा और अनुष्ठान 16 जनवरी को शुरू हुए थे। मैसूरु के मूर्तिकार अरुण योगीराज की बनाई रामलला की नई 51 इंच की मूर्ति को गुरुवार दोपहर को मंदिर के गर्भगृह में स्थापित किया गया। प्राण प्रतिष्ठा से एक दिन पहले रविवार को 114 कलशों में अलग अलग जगहों से लाए गए पवित्र व औषधियुक्त जल से रामलला को स्नान कराया गया। सोमवार को प्रधानमंत्री मोदी अनुष्ठान के बाद मूर्ति की आंख से कपड़ा हटाएंगे और रामलला को आईना दिखाएंगे। उसके बाद आमंत्रित विशिष्ठ अतिथि लोग रामलला के दर्शन करेंगे।

अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा से पहले करीब दो घंटे तक सुनाई देने वाली दिव्य ‘मंगल ध्वनि’ में देश भर के 50 पारंपरिक वाद्य यंत्रों का उपयोग किया जाएगा। अयोध्या के प्रसिद्ध कवि यतींद्र मिश्र द्वारा संचालित इस भव्य संगीतमय प्रस्तुति को नई दिल्ली की संगीत नाटक अकादमी से सहयोग प्राप्त है। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के अनुसार, यह संगीत प्रस्तुति सुबह 10 बजे शुरू होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

और पढ़ें

Naya India स्क्रॉल करें