अदनान सामी को पद्मश्री और भेड़िए

पाकिस्तानी मूल के जाने-माने कलाकार अदनान सामी को पद्मश्री मिला नहीं कि तब से सोशल मीडिया में लोगों ने सरकार के इस कदम की आलोचना करनी शुरू कर दी है। एक जाना-माना कलाकार होने के बावजूद उनके दिवंगत पिता के कारण आलोचक उन्हें अपना निशाना बना रहे हैं। उन्हें पाकिस्तानी होने के बावजूद भाजपा की मोदी सरकार द्वारा सम्मानित किए जाने की आलोचना है। उनके पिता वहां के वायुसेना में फाइटर विमान चालक थे। उन्होंने तीन राष्ट्रपतियो व चार प्रधानमंत्रियों के एडीसी के रूप में काम किया और वे  वहां की विदेश सेवा में शामिल होकर फिर राजनयिक बने। अदनान सामी भारत व पाकिस्तान के जाने-माने गायक, संगीतकार संगीत निर्देशक पियानो बजाने वाले कलाकार हैं। उन्होंने भारतीय फिल्मों में पाश्चात्य संगीत दिया हैं। उन्होंने पियानो व संतूर पर भारतीय शास्त्रीय संगीत बनाकर एक अलग स्थान प्राप्त किया। उनका जन्म 15 अगस्त 1971 को लंदन में हुआ था जहां उनके पिता अरशद सामी खान राजदूत थे व वो पहले पाक वायुसेना में रह चुके थे। उनकी मां नौरीन जम्मू कश्मीर की रहने वाली थी। उनके पिता ने पाकिस्तानी वायुसेना में ही काम किया था व भारत के खिलाफ 1965 के युद्ध में हिस्सा लिया था। बाद में वे वहां की सरकार… Continue reading अदनान सामी को पद्मश्री और भेड़िए

गायक अदनान सामी को नागरिकता देने पर मायावती ने उठाए सवाल

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने पाकिस्तान मूल के गायक अदनान सामी को भारत की नागरिकता देने पर मंगलवार को सवाल उठाए हैं। उन्होंने ट्वीट किया, “पाकिस्तानी मूल के गायक अदनान सामी को जब भाजपा सरकार नागरिकता व पद्मश्री से भी सम्मानित कर सकती है तो फिर जुल्म-ज्यादती के शिकार पाकिस्तानी मुसलमानों को वहां के हिन्दू, सिख, ईसाई आदि की तरह यहां सीएए के तहत पनाह क्यों नहीं दे सकती है? अत: केन्द्र सीएए पर पुनर्विचार करे तो बेहतर होगा। ज्ञात हो कि पाकिस्तानी मूल के गायक अदनान सामी को इस बार भारत सरकार की ओर से पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। अदनान सामी को कुछ साल पहले ही भारत की नागरिकता दी गई थी। अदनान सामी को पुरस्कार मिलने के बाद से विवाद खड़ा हो गया है। कांग्रेस ने इसे मोदी सरकार की चमचागिरी का फायदा तो राकांपा ने 130 करोड़ भारतीयों का अपमान बताया है। वहीं, भाजपा ने इस मामले में पलटवार करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की नागरिकता पर ही सवाल उठा दिया है। इसे भी पढ़ें : निर्भया: मुकेश की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट बुधवार को सुनाएगा फैसला सामी ने 2015 में भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन किया था और… Continue reading गायक अदनान सामी को नागरिकता देने पर मायावती ने उठाए सवाल

दो खास मुसलमानों को पद्मश्री

हर 26 जनवरी पर भारत सरकार पद्मश्री आदि पुरस्कार बांटती है। इन पुरस्कारों के लिए कई लोग दौड़-धूप करते हैं। नेताओं, अफसरों और पत्रकारों से सिफारिश करवाते हैं। उन्हें लालच भी देते हैं। लेकिन कई लोग ऐसे होते हैं, जिन्हें ये पुरस्कार देने पर सरकार खुद तुली रहती है। वे इन पुरस्कारों के लिए किसी के आगे अपनी नाक नहीं रगड़ते। जब उन्हें बताया जाता है तो ज्यादातर लोग इन पुरस्कारों को सहर्ष स्वीकार कर लेते हैं और अपने आप को भाग्यशाली समझते हैं लेकिन देश में ऐसे लोग भी हैं, जो इस तरह के पुरस्कारों को लेने से मना कर देते हैं। उनका तर्क यह भी होता है कि मैं तो पुरस्कार के योग्य हूं लेकिन पुरस्कार देनेवाले की योग्यता क्या है ? ऐसे पुरस्कारों की प्रामाणिकता या प्रतिष्ठा क्या है? खैर, इस बार दो खास मुसलमानों-अदनान सामी और रमजान खान को पद्मश्री पुरस्कार देने की घोषणा हुई। यों तो आजकल लोग इन सरकारी पुरस्कारों पर ज्यादा ध्यान नहीं देते लेकिन इन दोनों पुरस्कारों पर मेरा ध्यान भी गया। अदनान सामी अच्छे गायक हैं लेकिन उन्होंने इस पुरस्कार के लिए अपने आप को कतार में खड़ा किया होगा, इसमें मुझे शक है। यह उन्हें जान-बूझकर दिया गया होगा ?… Continue reading दो खास मुसलमानों को पद्मश्री

और लोड करें