‘भारत बंद’ पर विपक्ष के समर्थन पर बोले केंद्रीय मंत्री नकवी, कहा- बंजर जमीन पर खेती का हो रहा प्रयास…

कृषि कानून के विरोध में आज आंदोलनकारी किसानों ने भारत बंद का आह्वान किया था. भारत बंद को लगभग सभी विपक्षी पार्टियों ने भी अपना समर्थन….

भारत बंद का मिलाजुला असर

हरियाणा, पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अलावाकेरल, बिहार, झारखंड, बंगाल और ओडिशा में व्यापक असर।

Delhi : सड़क पर लगी गाड़ियों की कतारें, जाम से परेशान हुए लोग… (Watch Video )

किसान आंदोलन के कारण दिल्ली की सीमाओं के पहले से भीड़ और जाम की स्थिति बनी रहती थी. आज हालात ऐसे हो गए कि दिल्ली से यूपी…

Bharat Bandh: संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से आज ’भारत बंद’, विपक्षी पार्टियों ने भी किया समर्थन, दिल्ली की सीमाएं सील

किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ने आंदोलन के 10 महीने पूरे होने पर देश से भारत बंद को सफल बनाने की अपील की है।

आज किसानों का भारत बंद

चालीस किसान संगठनों के संगठन संयुक्‍त किसान मोर्चा ने लोगों से बंद में शामिल होने की अपील की।

बंद में शामिल हो कार्यकर्ता: कांग्रेस

कांग्रेस महासचिव (संगठन) के सी वेणुगोपाल ने कहा कि कांग्रेस और उसके कार्यकर्ता सोमवार को किसान यूनियन द्वारा आहूत किये गए शांतिपूर्ण ‘भारत बंद’ को अपना पूरा समर्थन देंगे।

27 सितंबर को ‘Bharat Bandh’ को मिला कई संगठनों का समर्थन, तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने की घोषणा

27 सितंबर को आहूत ’भारत बंद’ को अखिल भारतीय बैंक अधिकारी परिसंघ (एआईबीओसी) ने अपना समर्थन देने की घोषणा की है।

किसान महापंचायत में ऐलान, मोदी सरकार के खिलाफ 27 सितंबर को भारत बंद! टिकैत बोले- बन जाए कब्रिस्तान, पीछे नहीं हटेंगे

महीनों से दिल्ली की सीमा पर चल रहे किसानों के आंदोलन में किसाना नेता सरकार के तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अडिंग है। इसे लेकर सरकार 12 दौर की बातचीत भी कर चुकी है…

भारत बंद : जानें, राजस्थान में बंद का कहां और कितना दिखा असर

Jaipur: नये कृषि कानूनों के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा (kisan morcha) के आह्वान पर आयाेजित भारत बंद का राजस्थान (rajasthan) में मिला-जुला असर देखने को मिला. हालांकि श्रीगंगानगर ( shri ganganagar)  एवं बीकानेर (Bikaner) जिले में बंद का काफी असर देखने को मिला.  श्रीगंगानजर जिले के रायसिंहनगर कस्बे के बाजार बंद नबर आए.  इसके अलावा किसानों ने राज्य के कई प्रमुख  मार्गों को पर  चक्का जाम कर रखा . इनमें ट्रक यूनियन , 11 टीके फाटक, समेजा, बाजूवाला, मुकलावा में भी चक्का जाम चल रहा . इस दौरान किसान नये कृषि कानूनों (Agricultural laws) को वापस लेने की मांग करते हुए केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते नजर आए. सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए मौके पर प्रशासन भी सचेत नजर आया. सड़कों पर प्रशासन की भारी तैनाती की गयी. जयपुर में दिखा बंद का दिखा मिला-जुला असर राजधानी जयपुर में बंद का मामूली असर दिखा. जयपुर शहर में धीरे धीरे दुकानें खुल गई. लोग भी आम दिनों की ही तरह अपने कामों में जाते दिखे. हालांकि अहले सुबह लोगों में बंद को लेकर थोड़ी असमंजस की स्थिति जरूर थी. लेकिन दिन के चढ़ने के साथ ही लोग अपने कामों में जाते दिखाई दिये.  बाजारों की स्थिति… Continue reading भारत बंद : जानें, राजस्थान में बंद का कहां और कितना दिखा असर

कारोबारियों ने किया भारत बंद

ओडिशा में दुकानें और अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे क्योंकि ओडिशा ट्रेडर्स एसोसिएशन ने आज भारत बंद को समर्थन दिया। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स

चार घंटे चक्का जाम रहा

केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठनों की ओर से बुलाए गए भारत बंद के दौरान मंगलवार को चार घंटे तक किसानों ने चक्का जाम किया

अखिलेश और प्रियंका ने केंद्र पर बोला हमला

कृषि कानून के खिलाफ किसानों के भारत बंद में राजनीतिक दलों ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। इस दौरान समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने सरकार अपनी नाराजगी जाहिर की है।

भारत बंद के समर्थन में दिल्ली कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन, रोका ट्रैफिक

तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसानों द्वारा किए गए ‘भारत बंद’ के समर्थन में दिल्ली कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकतार्ओं ने आज राष्ट्रीय राजधानी में आयकर कार्यालय (आईटीओ) चौक के पास यातायात को रोक दिया।

आंध्र प्रदेश में वामपंथी, कांग्रेस भारत बंद में शामिल

केंद्र द्वारा पारित किए गए तीन नए कृषि कानूनों के विरोध के मद्देनजर आज किसानों द्वारा बुलाए गए भारत बंद में आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में कांग्रेस और वामपंथी दल भी शामिल हुए हैं।

महाराष्ट्र में ‘भारत बंद’ को मिलीजुली प्रतिक्रिया, हालात शांतिपूर्ण

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के ‘भारत बंद’ को लेकर महाराष्ट्र में आज सुबह मिली जुली प्रतिक्रिया देखने को मिली, विशेषकर शहरी केंद्रों में, साथ ही किसी भी हिंसा की कोई रिपोर्ट नहीं है।

और लोड करें